Corona Vaccine: वैक्सीन खरीदने के लिए कर्नाटक कांग्रेस का 100 करोड़ का प्लान, यहां से आएगा पैसा

पार्टी ने कहा कि भारत में टीके खरीदने के मौजूदा नियमों के अनुसार, केवल राज्य सरकार, अस्पताल और कम्पनियां सीधे टीके खरीद सकती हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

Corona Vaccine Purchase: पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'सरकार लोगों की रक्षा करने और उन्हें टीके लगवाने में बुरी तरह असफल रही है. इसलिए, राज्य के कांग्रेस के सांसद, विधायक और पार्षदों, जो कुल 95 हैं, ने टीके खरीदने के लिए एक-एक करोड़ रुपये दान देने का फैसला किया है.'

  • Share this:
    बेंगलुरु. कांग्रेस की कर्नाटक इकाई ने शुक्रवार को घोषणा की कि उसके सांसद, विधायक और पार्षद कोविड-19 रोधी टीके (Covid-19 Vaccine) खरीदने के लिए अपने स्थानीय क्षेत्र विकास निधि (एलएडी) से 100 करोड़ रुपये देंगे.

    पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'सरकार लोगों की रक्षा करने और उन्हें टीके लगवाने में बुरी तरह असफल रही है. इसलिए, राज्य के कांग्रेस के सांसद, विधायक और पार्षदों, जो कुल 95 हैं, ने टीके खरीदने के लिए एक-एक करोड़ रुपये दान देने का फैसला किया है.' कांग्रेस विधायक दल के नेता के अनुसार, कर्नाटक में कांग्रेस के नेता इसके लिए कुल 100 करोड़ रुपये देंगे.

    कर्नाटक में प्रदेश कांग्रेस के मुख्यालय में उन्होंने पत्रकारों से कहा, कर्नाटक के इतिहास में यह एक अभूतपूर्व निर्णय है. सिद्धरमैया के साथ मौजूद कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने कहा कि कांग्रेस के सांसद और विधायक अपने इलाकों में विकास कार्य रोकने को तैयार हैं.

    लोगों की जान बचाना हमारा कर्तव्य
    उन्होंने कहा, 'हम अपने इलाकों में सभी विकास कार्य रोकने को तैयार हैं. विकास कार्य करने की बजाय लोगों की जान बचाना हमारा परम कर्तव्य है.' उन्होंने कहा कि पार्टी मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को पत्र लिखकर उनके द्वारा दी राशि का इस्तेमाल टीके खरीदने के लिए करने को कहेगी.

    इसके बाद राज्य की कांग्रेस इकाई ने एक बयान में कहा कि एलएडी के कोष का इस्तेमाल करने के लिए उन्हें केन्द्र सरकार और राज्य सरकार से अनुमति लेनी होगी. बयान में शिवकुमार के हवाले से कहा गया, 'मेरा भाजपा से अनुरोध है कि राजनीति को बीच में ना लाएं और आत्मनिर्भर भारत के तहत कांग्रेस को प्रत्यक्ष रूप से टीके खरीदने और लगाने की अनुमति दे.'

    पार्टी ने कहा कि भारत में टीके खरीदने के मौजूदा नियमों के अनुसार, केवल राज्य सरकार, अस्पताल और कम्पनियां सीधे टीके खरीद सकती हैं.

    (Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)