Assembly Banner 2021

किसानों के हक़ की लड़ाई का दावा करने वाली पार्टी क्यों नहीं चुन पा रही है किसान कांग्रेस का नया अध्यक्ष?

दिल्लीवासियों को कोविड वैक्सीन निःशुल्कमुहैया कराए.

दिल्लीवासियों को कोविड वैक्सीन निःशुल्कमुहैया कराए.

Congress: नाना पटोले अब तक किसान मोर्चे के अध्यक्ष हैं जबकि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद से ही उनके पास विधानसभा अध्यक्ष जैसा व्यस्तता वाला पद था. बाद में उनको जब महाराष्ट्र कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया तब भी पार्टी ने ये नहीं सोचा कि वो कैसे एक साथ दो बड़े पद संभालेंगे?

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2021, 4:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. किसानों के हक की लड़ाई लड़ने की बात करने वाली कांग्रेस अपने किसान सेल के लिए नया अध्यक्ष ही नहीं चुन पा रही है. मौजूदा अध्यक्ष नाना पटोले बस नाम के अध्यक्ष रह गए हैं, क्योंकि लगभग सवा साल पहले 2019 में हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव जीतकर वह न सिर्फ विधायक बने बल्कि पार्टी ने महाराष्ट्र में सरकार गठन के बाद उन्हें विधानसभा का अध्यक्ष भी बना दिया.

नाना पटोले के विधानसभा अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष का पद संभाले भी कई दिन हो गए लेकिन अब तक कांग्रेस पार्टी किसान सेल का अध्यक्ष नहीं चुन पाई है. ऑल इंडिया किसान कांग्रेस ने शुक्रवार को दिल्ली में कृषि कानूनों के खिलाफ कृषि मंत्री के घर के घेराव का कार्यक्रम किया. दिलचस्प ये है कि ये कार्यक्रम ऑल इंडिया किसान कांग्रेस के अध्यक्ष के बिना हुआ.

दो बड़े पद कैसे संभालेंगे नाना पटोले
नाना पटोले अब तक किसान मोर्चा का अध्यक्ष हैं जबकि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद से ही उनके पास विधानसभा अध्यक्ष जैसा व्यस्तता वाला पद था. बाद में उनको जब महाराष्ट्र कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया तब भी पार्टी ने ये नहीं सोचा कि वो कैसे एक साथ दो बड़े पद संभालेंगे?
कई राजनेताओं को मिले दो बड़े पद


दरअसल, पार्टी में कई सेल और विभाग ऐसे हैं जिनके अध्यक्ष के पदों पर नियुक्ति नहीं हो पा रही है किसान कांग्रेस उनमें से एक है. कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन रणदीप सिंह सुरजेवाला को महासचिव और कर्नाटक का प्रभारी बना दिया गया है. उन्होंने सोनिया गांधी से मुलाकात कर मीडिया विभाग के अध्यक्ष पद से मुक्त किए जाने की रिक्वेस्ट भी कर ली, लेकिन अब तक मीडिया विभाग जैसे प्रमुख विभाग के नए अध्यक्ष की नियुक्ति नहीं हो सकी है.

फिलहाल रणदीप सिंह सुरजेवाला ही मीडिया विभाग के अध्यक्ष का पद संभाल रहे हैं .पांच राज्यों के चुनाव के चलते कुछ नियुक्तियां रुकी हुई है, लेकिन बड़ा सवाल यह है कि 2024 में सरकार बनाने का सपना देख रही कांग्रेस अगर छोटे-छोटे फैसले नहीं ले पाएगी तो बड़े फैसले कैसी लेगी?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज