परीक्षाएं रद्द करने पर कांग्रेस ने की सरकार की तारीफ, कहा- वेल डन मोदी जी

पीएम नरेंद्र मोदी ने बैठक के दौरान कहा 'छात्रों की भलाई सरकार के लिए प्राथमिकता होनी चाहिए.' (फाइल फोटो)

पीएम नरेंद्र मोदी ने बैठक के दौरान कहा 'छात्रों की भलाई सरकार के लिए प्राथमिकता होनी चाहिए.' (फाइल फोटो)

CBSE Board Exam 2021: पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बैठक के दौरान कहा 'छात्रों की भलाई सरकार के लिए प्राथमिकता होनी चाहिए.' मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्होंने यह भी कहाकि केंद्र को छात्रों का हित को ध्यान में रखना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 12:57 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) प्रकोप के बीच केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) के 10वीं की परीक्षाएं कैंसिल कर दी गई हैं. वहीं, 12वीं की परीक्षाओं को फिलहाल टाल दिया गया है. सरकार के इस फैसले पर विपक्षी दल कांग्रेस (Congress) ने खुशी जाहिर की है. पार्टी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की बात मानने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद किया है. लंबे समय से परीक्षाएं रद्द करने की मांग की जा रही थी.

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' और शीर्ष अधिकारियों से चर्चा के बाद पीएम मोदी ने यह फैसला लिया है. इसपर कांग्रेस ने ट्वीट किया 'वेल डन मोदी जी. राहुल गांधी, प्रियंका गांधी की सलाह सुनकर और कांग्रेस पार्टी राष्ट्र के सुधार के लिए और आगे जाएगी. हमारे लोगों की भलाई के लिए मिलकर काम करना हमारा लोकतांत्रिक कर्तव्य है.' कांग्रेस ने लिखा 'बीजेपी ने आखिरकार अहंकार से आगे देश को रखा, यह देखकर अच्छा लगा.'

यह भी पढ़ें: CBSE Board Exams 2021: बिना परीक्षा ऐसे पास होंगे सीबीएसई बोर्ड के 10वीं के स्टूडेंट्स, जानें फॉर्मूला

Youtube Video

पीएम मोदी ने बैठक के दौरान कहा 'छात्रों की भलाई सरकार के लिए प्राथमिकता होनी चाहिए.' मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्होंने यह भी कहाकि केंद्र को छात्रों का हित को ध्यान में रखना चाहिए. साथ ही यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके शिक्षा के हित का नुकसान हुए बगैर स्वास्थ्य का ध्यान रखा जा रहा है. राहुल और प्रियंका बोर्ड की परीक्षाओं को रद्द कराने की मांग कर रहे थे.



सरकार के इस फैसले के बाद प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर 12वीं की परीक्षाएं भी रद्द करने की मांग की हैं. उन्होंने कहा 'देखकर खुशी हुई कि सरकार ने 10 की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं. हालांकि, अंतिम फैसला 12वीं क्लास के लिए भी लिया जाना चाहिए.' उन्होंने लिखा 'छात्रों को जून तक दबाव में रखने का कोई मतलब नहीं था. यह गलत है. मैं सरकार से फैसला लेने की अपील करती हूं.' दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी सरकार के फैसले का स्वागत किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज