• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के लिए क्‍या होंगे गुजरात नतीजों के मायने?

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के लिए क्‍या होंगे गुजरात नतीजों के मायने?

Gujarat election results 2017: राहुल गांधी

Gujarat election results 2017: राहुल गांधी

ये विधानसभा चुनाव किसी भी अन्‍य वजह के बजाय इस कारण से ज्‍यादा प्रासंगिक हैं कि हाल ही में कांग्रेस के नए अध्‍यक्ष ने शपथ ली है. राहुल गांधी के हाथ में पार्टी की बागडोर पहुंचने के बाद ये परिणाम निश्चित ही सुख देने वाले हैं.

  • Share this:
गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 के परिणाम में जीत भले ही बीजेपी के हिस्‍से में गई है. लेकिन आखिरी दम तक लड़े योद्दा की तरह कांग्रेस ने भी कांटे की टक्‍कर दी है. ख़ास बात है कि पिछले विधानसभा चुनावों के मुकाबले कांग्रेस का प्रदर्शन काफी बेहतर हुआ है और जीत के आंकड़े के अासपास रहा है.

ये विधानसभा चुनाव किसी भी अन्‍य वजह के बजाए इस कारण से ज्‍यादा प्रासंगिक है कि हाल ही में कांग्रेस के नए अध्‍यक्ष ने शपथ ली है. राहुल गांधी के हाथ में पार्टी की बागडोर पहुंचने के बाद ये परिणाम निश्चित ही सुख देने वाले हैं. साथ ही राहुल गांधी को निकट भविष्य में अन्‍य विधानसभा चुनावों में जनता के और भी करीब पहुंचने का संबल देने वाले हैं. हालांकि राजनीतिक विश्‍लेषकों का मानना है कि राहुल के लिए ये चुनाव 50-50 साबित होंगे.

वरिष्‍ठ राजनीतिक संपादक निर्मल पाठक का कहना है कि गुजरात में कांग्रेस के हिस्‍से में आई सीटें राहुल गांधी के लिए मील का पत्‍थर साबित नहीं होने जा रहीं, लेकिन उन्‍हें कई फ्रंट पर इसका फायदा मिलेगा. अगर राहुल गांधी अध्‍यक्ष बनने के बाद गुजरात चुनाव जीत जाते तो ये निश्चित ही बेहद बड़ी उपलब्धि होती. लेकिन अभी के प्रदर्शन से उनकी प्रस्‍तुति अच्‍छी हुई है.

bjp ruled states in india, congress rule state of india,Gujarat Elections 2017, Congress, BJP, PM Narendra Modi, rahul Gandhi,बीजेपी, amit shah, Gujarat assembly-election-result-2017-live, नरेंद्र मोदी, कांग्रेस मुक्त भारत, Congress-free India campaign
राहुल गांधी की मेहनत का ही नतीजा है कि पीएम मोदी के गढ़ में इतनी सीटें कांग्रेस को मिल रही हैं.


इस बार राहुल गांधी ने सोशल मीडिया का भी काफी उपयोग किया है. चूंकि राहुल गांधी के सामने नरेंद्र मोदी खड़े हैं, ऐसे में केंद्र की सत्‍ता तक पहुंचने का रास्‍ता अभी कठिन है.

गुजरात विधानसभा चुनाव 2012 में कुल 182 सीटों में से भारतीय जनता पार्टी को 116 सीटें मिली थीं, वहीं इंडियन नेशनल कांग्रेस ने 60 सीटों पर जीत दर्ज़ की थी.


निजी आलोचनाओं और हमलों से मिलेगी राहत 

bjp ruled states in india, congress rule state of india,Gujarat Elections 2017, Congress, BJP, PM Narendra Modi, rahul Gandhi,बीजेपी, amit shah, Gujarat assembly-election-result-2017-live, नरेंद्र मोदी, कांग्रेस मुक्त भारत, Congress-free India campaign
राहुल गांधी की मंदिर यात्रा से कांग्रेस की छवि में सुधार आया है


राजनीतिक विश्‍लेषकों का मानना है कि कांग्रेस के अध्‍यक्ष बनने के बाद पीएम मोदी के गढ़ में जिस प्रकार कांग्रेस ने प्रदर्शन किया है, उससे कहीं न कहीं राहुल गांधी की छवि पर असर पड़ेगा. अभी तक राहुल पर तंज कस रहे लोग इस परिणाम के बाद उनकी योग्‍यता और परिपक्‍वता पर सवाल नहीं उठाएंगे. ये चुनाव राहुल पर निजी हमलों को रोकने में बहुत हद तक कारगर साबित होगा.

gujarat assembly election 2017, गुजरात विधानसबा चुनाव 2017, gujarat election 2017, गुजरात चुनाव 2017, rahul gandhi, राहुल गांधी, rahul gandhi temple run, राहुल गांधी टेंपल रन, bjp, बीजेपी, pm modi, पीएम मोदी, narendra modi, नरेंद्र मोदी, modi rally, गुजरात में मोदी रैली, gujarat vote, गुजरात वोट
गुजरात के कच्छ में रैली को संबोधित करने से पहले राहुल गांधी खेड़ा के डकोर स्थित श्री रणछोड़दास जी मंदिर में दर्शन करने गए . file photo


जिस प्रकार निकाय चुनावों और अन्‍य कई राज्‍यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का प्रदर्शन कुछ ढीला पड़ा था, तो गुजरात का चुनाव राहुल गांधी को एक गंभीर नेता के रूप में स्‍थापित करेगा.

मुश्किलें नहीं होंगी कम, कर्नाटक में बनानी होगी रणनीति 

वरिष्‍ठ राजनीतिक संपादक निर्मल पाठक का मानना है कि राहुल गांधी को इन परिणामों से राहत ज़रूर मिलेगी, लेकिन उनकी मुश्किलें कम नहीं हाेंगी. क्‍योंकि कांग्रेस ने गुजरात जीता नहीं है, सिर्फ प्रदर्शन अच्‍छा हुआ है. ऐसे में अभी भी विजेता पार्टी बीजेपी ही है. लिहाजा आने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को बीजेपी के लिए नए मुद्दे ढूंढने होंगे.

राहुल गांधी और सोनिया गांधी की फाइल फोटो


अभी तक जीएसटी और नोटबंदी को खराब बताकर वोट मांग रही कांग्रेस को आने वाले कर्नाटक चुनाव में ये बताना मुश्किल होगा कि नोटबंदी और जीएसटी से लाेगों को नुक़सान हुआ. क्‍योंकि गुजरात चुनाव के नतीजे ऐसा बयां नहीं करते.

चुनाव ने सुधारी छवि

गुजरात चुनाव ने राहुल गांधी को एक लोकप्रिय नेता बताने के साथ ही कांग्रेस के मुस्लिम तुष्‍टिकरण कार्ड वाली से कुछ हद तक दूर किया है.

राहुल गांधी (फाइल फोटो-PTI)


मां सोनिया गांधी की अनुपस्थिति के बावजूद भी शानदार तरीके से चुनाव प्रबंधन करने से एक ज़िम्‍मेदार पार्टी अध्‍यक्ष होने का संदेश भी जनता में पहुंचा है. इससे भी ज्‍यादा गुजरात के मंदिरों में लगातार जाने से हिन्‍दू वोट भी उनके पक्ष में उतर आया.

राहुल गांधी ने इस चुनाव में कई प्रयोग भी किए हैं. जो आने वाले समय में उनके लिए अनुभव के रूप में काम आएंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज