जिसने जन्म के बाद राहुल गांधी को सबसे पहले गोद में उठाया था, अब पूरी हुई उनकी यह खास मुराद

वायनाड निवासी राजम्मा ने उस वक्त राहुल से मिलने की इच्छा जाहिर की थी जब वह संसदीय क्षेत्र में नामांकन भरने गए थे.

News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 1:28 PM IST
जिसने जन्म के बाद राहुल गांधी को सबसे पहले गोद में उठाया था, अब पूरी हुई उनकी यह खास मुराद
तस्वीर- वायनाड के सांसद राहुल गाँधी के ट्विटर अकाउंट से
News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 1:28 PM IST
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों केरल की लोकसभा सीट वायनाड के दौरे पर हैं. 23 मई को संपन्न हुए चुनाव में उन्होंने वायनाड सीट से जीत दर्ज की है. अपने तीन दिवसीय दौरे में राहुल ने कांग्रेस की स्थानीय इकाई के नेताओं के साथ मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने रोड शो कर जनता का आभार व्यक्त किया.

रविवार को राहुल के वायनाड दौरे का आखिरी दिन था. रविवार को राहुल ने  राजम्मा वावथिल  से मुलाकात की. राजम्मा वही नर्स हैं जो राहुल के जन्म के समय फैमिलि हॉस्पिटल में मौजूद थीं. वायनाड निवासी राजम्मा ने उस वक्त राहुल से मिलने की इच्छा जाहिर की थी, जब वह संसदीय क्षेत्र में नामांकन भरने गए थे.

लोकसभा चुनाव के दौरान जब राहुल के नागरिकता पर सवाल उठे थे उस वक्त राजम्मा ने कहा था कि ' उन्हें आज भी वह दिन अच्छे से याद जिस दिन राहुल का जन्म हुआ.' राजम्मा ने उस दिन को याद करते हुए बताया कि 'जब सोनिया गांधी को प्रसव के लिए ले जाया जा रहा था, तब राहुल के पिता राजीव गांधी और चाचा संजय गांधी, बाहर इंतजार कर रहे थे.' राजम्मा अपने परिजनों को अक्सर यह कहानी सुनाती हैं.

यह भी पढ़ें:  हार के बाद पहली बार राहुल ने साधा पीएम मोदी पर निशाना, कहा- नफरत फैलाकर जीता चुनाव



राजम्मा ने बताया था- 

72 वर्षीय राजम्मा ने बताया था कि 'मैं खुशनसीब थीं, क्योंकि राहुल को गोद में उठाने वाली मैं पहली शख्स थी. राहुल के जन्म की मैं गवाह थी. मैं बहुत उत्साहित थी. इंदिरा गांधी के पोते को देख कर हम सभी उत्साहित थे.'
Loading...

यह भी पढ़ें:   कांग्रेस में हो सकते हैं 2 अध्यक्ष, इन 3 नामों पर हो रहा विचार, गांधी परिवार से कोई नहीं: सूत्र

राजम्मा के मुताबिक, जब राहुल का जन्म हुआ, तब वह नर्स की ट्रेनिंग ले रही थीं. उन्होंने कहा था कि वह उन लोगों में शामिल थीं, जिन्होंने राहुल को गोद में उठाया था.

मिलने की जताई थी इच्छा

भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी की शिकायत पर राजम्मा ने कहा था कि इससे उन्हें दुख है. उन्होंने कहा था कि बतौर भारतीय नागरिक कोई भी राहुल की पहचान पर सवाल नहीं कर सकता है. स्वामी की शिकायत आधारहीन है.

राजम्मा ने दावा किया था कि राहुल के जन्म से संबंधित सभी रिकॉर्ड अस्पताल में मौजूद होंगे. फैमिली अस्पताल से ट्रेनिंग पूरी कर भारतीय सेना में नर्स के तौर पर शामिल होने वाली राजम्मा ने उम्मीद जताई थी कि अगली बार राहुल गांधी, वायनाड आएंगे तो वह उनसे मिल सकेंगी.

यह भी पढ़ें:  अलीगढ़: मासूम की हत्या से उबल रहा देश, प्रियंका गांधी बोलीं- कैसा समाज बना रहे हम?

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 9, 2019, 11:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...