लाइव टीवी

प्रवासी मजदूरों पर राजनीति न हो, बस चलाने की अनुमति दे योगी सरकार: प्रियंका गांधी

News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 4:58 PM IST
प्रवासी मजदूरों पर राजनीति न हो, बस चलाने की अनुमति दे योगी सरकार: प्रियंका गांधी
प्रियंका गांधी ने मांगी प्रवासी मजदूरों के लिए बस चलाने की अनुमति. Pic- Twitter

प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) के लिए बसें चलाने को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka gandhi) ने बुधवार को बीजेपी (BJP) और यूपी की योगी सरकार (Yogi Adityanath) पर हमला बोला.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) के लिए बसें चलाने को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka gandhi) ने बुधवार को बीजेपी (BJP) और यूपी की योगी सरकार (Yogi Adityanath) पर हमला बोला. उन्‍होंने कहा कि BJP चाहे तो बसों पर अपने झंडे लगा ले, लेकिन योगी सरकार प्रवासी मजदूरों के लिए बसों की अनुमति दे दे. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि ये समय लोगों की मदद करने का है. ये समय राजनीति का नहीं है. मजदूर भारत की रीढ़ की हड्डी है. देश उनके खून-पसीने से चलता है. प्रवासी मजदूरों पर राजनीति न की जाए. योगी सरकार बस चलाने की अनुमति दे दे.

'आप इसका क्रेडिट ले लें लेकिन बसें चलने दें'
प्रियंका गांधी ने कहा, 'हमारी बसें 4 बजे तक खड़ी हैं, अगर आपको इस्‍तेमाल करनी हैं तो अनुमति दे दीजिये. अगर नहीं करनी हैं तो हमारी बसें वापस चली जाएंगी. अगर आप चाहते हैं कि उनमें बीजेपी के झंडे और स्‍टीकर लगाकर उन्‍हें चलाएं तो ऐसा ही करिये. अगर आप ये कहना चाहते हैं कि ये बसें आप चला रहे हैं, तो यही कीजिये. लेकिन बसों को चलने दीजिये.'

 






'बसों के कुछ नंबर गलत हैं तो हम नई लिस्‍ट दे देंगे'
प्रियंका गांधी ने कहा कि सबको मजदूरों के लिए जिम्‍मेदारी समझनी पड़ेगी. उन्‍होंने कहा कि 500 बसें गाजियाबाद बॉर्डर पर खड़ी की थीं. राजस्‍थान बॉर्डर पर भी बसें उपलब्‍ध कराई गई थीं. लेकिन उनके संचालन की अनुमति यूपी सरकार ने नहीं दी. अगर ये बसें चल जाती तो 36000 लोग घर रवाना हो जाते. अगर बसों के कुछ नंबर गलत हैं तो हम नई लिस्‍ट दे देंगे.

प्रियंका के मुताबिक, लॉकडाउन की घोषणा के बाद कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के हर जिले में स्वयंसेवियों के समूह बनाए और लोगों तक ज्यादा से ज्यादा मदद पहुंचाने की कोशिश की. इन समूहों ने अब तक करीब 67 लाख लोगों की मदद की है. उन्होंने कहा, 'हमारी भावना सकारात्मक रही है और हमारा हमेशा से सेवा भाव रहा है.'

मुख्‍यमंत्री को लिखा पत्र
उत्तर प्रदेश सरकार के साथ हुए संवाद का सिलसिलेवार ब्यौरा देते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा, 'कुछ समय से हम कह रहे थे कि यूपी रोडवेज की बसें प्रवासी श्रमिकों के लिए उपलब्ध करा दीजिए. जब कई हादसे हुए और हमने देखा कि यूपी रोडवेज की बसें नहीं चलाई जा रही हैं तो हमने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखी कि हम एक हजार बसें चला सकते हैं.'

गौरतलब है कि बसों को लेकर पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस और उत्तर प्रदेश सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप चल रहा है. दोनों तरफ से एक दूसरे को कई पत्र लिखे गए हैं. उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि कांग्रेस ने 1000 से अधिक बसों का जो विवरण मुहैया कराया है, उनमें कुछ दोपहिया वाहन, एंबुलेस और कार के नंबर भी हैं.

इस पर कांग्रेस ने कहा कि उसकी ओर से मुहैया कराई गई सूची में, उत्तर प्रदेश सरकार ने खुद 879 बसों के सही होने की पुष्टि की है और उसे अब इन बसों को चलाने की अनुमति प्रदान कर देनी चाहिए.

यह भी पढ़ें:  Ola कर्मियों के लिए बुरी खबर! 1400 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है कंपनी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 20, 2020, 3:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading