Assembly Banner 2021

भाजपा को फेसबुक की मदद मिलने के आरोपों को लेकर कांग्रेस ने जुकरबर्ग को फिर लिखी चिट्ठी

कांग्रेस के आरोपों पर फेसबुक और भाजपा की तरफ से फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. (सांकेतिक तस्वीर)

कांग्रेस के आरोपों पर फेसबुक और भाजपा की तरफ से फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. (सांकेतिक तस्वीर)

अमेरिकी अखबार ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’(Wall Street Journal) में भी पिछले दिनों एक खबर प्रकाशित हुई थी जिसके बाद कांग्रेस (Congress) ने फेसबुक (Facebook) की भारतीय इकाई और भाजपा (BJP) के बीच साठगांठ का आरोप लगाया था.

  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) ने फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग (Facebook CEO Mark Zukerberg) को शनिवार को दोबारा पत्र लिखा और सवाल किया कि इस सोशल नेटवर्किंग कंपनी (Social Networking Company) की भारतीय इकाई की ओर से सत्तारूढ़ भाजपा (BJP) की मदद किए जाने के आरोपों के संदर्भ में क्या कदम उठाए गए हैं? मुख्य विपक्षी दल ने यह भी कहा है कि फेसबुक (Facebook) के कुछ कर्मचारियों और भाजपा के बीच कथित ‘साठगांठ’ के मामले में संयुक्त संसदीय समिति (Joint Parliamentary Committee) से जांच होनी चाहिए.

पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल (KC Venugopal) ने अमेरिका (America) की मशहूर पत्रिका ‘टाइम’ (Time Magazine) की एक खबर का हवाला देते हुए जुकरबर्ग को पत्र लिखा है. उनका दावा है कि इस पत्रिका की खबर से भाजपा एवं फेसबुक इंडिया के ‘एक दूसरे को फायदा पहुंचाने और पक्षपात के सबूत’ तथा दूसरी जानकारियां सामने आई हैं. कांग्रेस के आरोपों पर फेसबुक और भाजपा की तरफ से फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

अमेरिकी अखबार ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ (Wall Street Journal) में भी पिछले दिनों इसी तरह की एक खबर प्रकाशित हुई थी जिसके बाद कांग्रेस ने फेसबुक की भारतीय इकाई और भाजपा के बीच साठगांठ का आरोप लगाया था और जुकरबर्ग को पत्र लिखकर इस मामले की विस्तृत जांच कराने की मांग की थी.



राहुल गांधी ने ट्वीट कर किया ये दावा
‘टाइम’ की खबर शेयर करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ट्वीट कर दावा किया कि इससे ‘वाट्सऐप और भाजपा की साठगांठ’ का खुलासा हो गया है. उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘भारत में वाट्सऐप का 40 करोड़ लोग इस्तेमाल करते हैं. वाट्सऐप को पैसे के लेनदेन की सेवा आरंभ करने के लिए मोदी सरकार की अनुमति की जरूरत है. ऐसे में वाट्सऐप भाजपा की गिरफ्त में है.’’



उल्लेखनीय है कि वाट्सऐप का स्वामित्व फेसबुक के पास है.

वेणुगोपाल ने गत 17 अगस्त के लिखे अपने पत्र का हवाला दिया और जुकरबर्ग से सवाल किया कि कांग्रेस के पहले जो मुद्दे उठाए थे उन पर फेसबुक की तरफ से क्या कदम उठाए गए हैं?

ये भी पढ़ें :- सोनिया गांधी का केंद्र सरकार पर निशाना- देश विरोधी ताकतें देश में घोल रहीं नफरत का जहर

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा (Pawan Khera) और पार्टी के डाटा विश्लेषण विभाग के प्रमुख प्रवीण चक्रवर्ती ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा और फेसबुक इंडिया के लोगों के बीच कथित संबंध के मामले की जांच जेपीसी से होनी चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि फेसबुक की तरफ से अपनी भारतीय शाखा की जिस जांच का आदेश दिया गया उसकी रिपोर्ट सार्वजनिक की जानी चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज