• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • चरणजीत चन्नी को सीएम बनाकर कांग्रेस ने सबको चौंकाया, लेकिन कैप्टन तो सिद्धू ही रहेंगे!

चरणजीत चन्नी को सीएम बनाकर कांग्रेस ने सबको चौंकाया, लेकिन कैप्टन तो सिद्धू ही रहेंगे!

रविवार को विधायक दल की बैठक में चन्नी के नाम पर मुहर लगी.

रविवार को विधायक दल की बैठक में चन्नी के नाम पर मुहर लगी.

सिद्धू के करीबी नेता ने News18 को बताया, ‘अब ये स्पष्ट है कि बॉस कौन होगा. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि सीएम कौन है. पूर्व क्रिकेटर सिद्धू को ही मैन ऑफ द मैच के तौर में पेश किया जाएगा.’

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस ने चरणजीत सिंह चन्नी को सीएम पद का उम्मीदवार बनाकर सबको चौंका दिया. कैप्टन अमरिंदर सिंह के पद से इस्तीफा देने के बाद अटकलें लगाई जा रही थीं कि नवजोत सिंह सिद्धू को यह पद मिल सकता है. दो दिन से चल रहे मंथन गांधी परिवार से नजदकियों के बावजूद नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) का प्रदेश का नया मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री बनना मुश्किल लग रहा था.

दो दिवसीय मैराथन बैठकों के बाद रविवार शाम को पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने चन्नी को राज्य का मुख्यमंत्री बनाए जाने की घोषणा की. शनिवार शाम को अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद रविवार तक बातचीत होने से यह स्पष्ट हो गया था कि गांधी परिवार से निकटता के बावजूद सिद्धू को मुख्यमंत्री पद के लिए न्योता नहीं दिया जाएगा.

हालांकि, कांग्रेस के एक नेता ने अमरिंदर के उत्तराधिकारी के लिए सिद्धू को चुने जाने की संभावना को खारिज करने को लेकर आगाह किया था. News18 से बात करते हुए कांग्रेस के एक नेता ने नाम न छापने की शर्त पर कहा था कि अगर सिद्धू तुरंत सीएम नहीं बनते हैं, तो वो अगले साल होने वाले चुनाव से पहले प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के प्रमुख के रूप में काम करना जारी रखेंगे.

ये भी पढ़ें- Charanjit Singh Channi: कौन हैं चरणजीत सिंह चन्‍नी, जो होंगे पंजाब के नए सीएम?

सिद्धू के करीबी नेता ने News18 को बताया, ‘अब ये स्पष्ट है कि बॉस कौन होगा. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि सीएम कौन है. पूर्व क्रिकेटर सिद्धू को ही मैन ऑफ द मैच के तौर में पेश किया जाएगा.’

सिद्धू पर गांधी परिवार का भरोसा
राहुल और प्रियंका गांधी के लिए सिद्धू स्वाभाविक पसंद हैं. इन दोनों की नज़र में सिद्धू एक ऐसे नेता हैं, जो 2022 के चुनाव से पहले पार्टी में मचे घमासान को शांत कर सकते हैं. उनका बिंदास अंदाज ही उन्हें सबसे पहले आकर्षित करता है. ऐसे समय में जब अमरिंदर को अकालियों के प्रति बहुत नरम माना जाता था, सिद्धू के बादल और बिक्रम सिंह मजीठिया पर कथित ड्रग रैकेट पर तीखे हमले ने कांग्रेस का जोश बढ़ा दिया है.


संभावना है कि कैप्टन के चले जाने से कांग्रेस सरकार अकालियों और मजीठिया के खिलाफ ड्रग्स धंधे के मामले में और अधिक आक्रामक तरीके से कार्रवाई कर सकती है. सूत्रों का कहना है कि नई सरकार खुद को अमरिंदर सरकार से अलग दिखाने के लिए शुरुआत में बड़ी गिरफ्तारियां भी कर सकती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज