ऑक्सीजन के मुद्दे पर सरकार को घेरने की तैयारी में कांग्रेस, सदन में लाएगी विशेषाधिकार प्रस्ताव

संसद मेंं गुरुवार का दिन हंगामेदार हो सकता है (फाइल फोटो)

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने बुधवार को कहा कि केंद्र सरकार का जवाब राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से मिले आंकड़ों के आधार पर था, क्योंकि स्वास्थ्य राज्यों का मामला है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कांग्रेस के राज्यसभा सांसद केसी वेणुगोपाल गुरुवार को सदन में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर केंद्र के “झूठ” के खिलाफ सुबह लगभग 10 बजे विशेषाधिकार प्रस्ताव लाने के लिए तैयार हैं. ऐसे में संसद की गुरुवार का सत्र हंगामेदार हो सकता है. वेणुगोपाल ने कहा, "सरकार ने ऑक्सीजन की कमी के कारण कोविड से हुई मौतों के बारे में झूठ बोला है." सरकार ने मंगलवार को राज्यसभा को बताया था कि राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा विशेष रूप से दूसरी कोविड -19 लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी के कारण कोई मौत नहीं हुई थी. सरकार के इस बयान की विपक्षी नेताओं की तीखी आलोचना की है.

    अप्रैल-मई में कोरोना दूसरी लहर के चरम के दौरान कई राज्यों से मेडिकल ऑक्सीजन की कमी के कारण अस्पतालों में मरीजों की मौत की सूचना मिली थी. उस दौरान मेडिकल ऑक्सीजन की मांग बढ़ गई थी. भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने बुधवार को कहा कि केंद्र सरकार का जवाब राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से मिले आंकड़ों के आधार पर था, क्योंकि स्वास्थ्य राज्यों का मामला है.

    विपक्ष ने क्या कहा-
    कांग्रेस- राहुल गांधी ने कहा कि, सच यह है कि कोविड की दूसरी लहर के दौरान भारत सरकार के गलत फैसलों के चलते हमारे 50 लाख भाई, बहनों, माता-पिताओं की जान गई. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने मंगलवार को भी सरकार को आड़े हाथों लिया था. जिस पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने उन्हें बददिमाग कहा था.

    संबित पात्रा द्वारा विपक्ष के हमलों का जवाब देने के बाद, कपिल सिब्बल ने कहा कि सरकार ने अपनी आंखें बंद कर ली हैं. उन्होंने कहा कि "वे वास्तविकता देखना और सुनना नहीं चाहते."

    छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र के जवाब को हास्यास्पद करार दिया था.

    समाजवादी पार्टी- सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने सरकार पर लोगों को अनाथ करने का आरोप लगाया. यादव ने कहा कि "लोग ऑक्सीजन के लिए संघर्ष कर रहे थे. भाजपा इसे न मुहैया करा पाने के लिए जिम्मेदार है. भाजपा झूठ बोल रही है. सरकार ने अपने लोगों को अनाथ कर दिया."

    आम आदमी पार्टी- दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि शहर की सरकार के पास कोविड -19 की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी के कारण होने वाली मौतों के आंकड़े नहीं हैं क्योंकि केंद्र ने इस तरह की मौतों की जांच के लिए अपने पैनल को मंजूरी नहीं दी है.

    वहीं दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी से न सिर्फ दिल्ली में मौतें हुई हैं बल्कि अन्य राज्यों में भी हुई हैं. जैन ने सरकार के जवाब को जले पर नमक छिड़कने जैसा बताया.

    शिवसेना: महाराष्ट्र में एनसीपी और कांग्रेस के साथ सत्ता में शामिल शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा कि जिन लोगों के रिश्तेदारों की ऑक्सीजन की कमी के कारण मृत्यु हो गई, उन्हें "केंद्र सरकार को अदालत में ले जाना चाहिए."

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.