चिदंबरम की टिप्पणी पर बोले अमित शाह- कांग्रेस को 'अनुच्छेद 370' पर अपना रुख साफ करना चाहिए

गृहमंत्री अमित शाह ने चिराग पासवान को लेकर बड़ा बयान दिया है.
गृहमंत्री अमित शाह ने चिराग पासवान को लेकर बड़ा बयान दिया है.

अमित शाह (Amit Shah) ने Network18 ग्रुप के एडिटर-इन-चीफ राहुल जोशी के साथ एक खास इंटरव्यू (Exclusive Interview) में कहा, "मुझे लगता है कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को इस बयान का आधिकारिक तौर पर समर्थन करना चाहिए ताकि भारत की जनता को पता चले कि वे कहां खड़े हैं... उनकी पार्टी के अध्यक्ष को इस पर सफाई देनी चाहिए."

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 10:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (Congress leader P Chidambaram) की शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में अनुच्छेद 370 (Article 370) को फिर से लागू किए जाने का समर्थन करने पर की गई टिप्पणी पर जोरदार प्रतिक्रिया देते हुए अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को इस मुद्दे पर अपना पक्ष स्पष्ट करना चाहिए. शाह ने यह भी कहा कि केंद्रशासित प्रदेश (Union Territory) का राज्य का विशेष दर्जा (Special Status) वापस करने के वादे का "कोई सवाल नहीं" उठता.

शाह ने Network18 ग्रुप के एडिटर-इन-चीफ राहुल जोशी के साथ एक खास इंटरव्यू (Exclusive Interview) में कहा, "मुझे लगता है कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को इस बयान का आधिकारिक तौर पर समर्थन करना चाहिए ताकि भारत की जनता को पता चले कि वे कहां खड़े हैं... उनकी पार्टी के अध्यक्ष को इस पर सफाई देनी चाहिए." उन्होंने कहा कि यद्यपि कांग्रेस (Congress) ने संसद में स्पष्ट रूप से अनुच्छेद 370 (Article 370) को हटाये के खिलाफ होने का अपना रुख दिखाया था, लेकिन पार्टी नेतृत्व को इस मुद्दे पर स्पष्ट रूप से सामने आना आवश्यक है.

चिदंबरम ने विशेष राज्य के दर्जे की बहाली को लेकर किये कई ट्वीट
चिदंबरम ने कई ट्वीट कर कहा कि उनकी पार्टी "संकल्पबद्ध" होकर जम्मू और कश्मीर के राज्य के दर्जे और लोगों के अधिकारों की बहाली के लिए खड़ी है और यह कि मोदी सरकार के "मनमाने और असंवैधानिक" 5 अगस्त, 2019 के फैसले को वापस लिया जाना चाहिए. उनकी टिप्पणी कश्मीर की विशेष स्थिति को बहाल किये जाने के लिए लड़ने को लेकर हुई 'गुपकर घोषणा' (और केंद्रशासित प्रदेश में क्षेत्रीय दलों के गठबंधन) की एक संयुक्त घोषणा के तुरंत बाद आई.
यह भी पढ़ें: चीन की युद्ध तैयारी पर गृहमंत्री अमित शाह बोले-सेना हमेशा जवाब देने को तैयार



भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी चिदंबरम के बयानों को शर्मनाक और 'भारत को विभाजित करने' का प्रयास बताया. अमित शाह ने यह भी कहा कि हालांकि कोविड-19 ने कश्मीर में विकास कार्यों और प्रगति को धीमा किया, लेकिन केंद्रशासित प्रदेश के नए प्रशासनिक प्रमुख, लेफ्टिनेंट गवर्नर मनोज सिन्हा के आगमन ने विकास में तेजी लाई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज