लाइव टीवी

कांग्रेस नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ भड़का रही है हिंसा: अमित शाह

भाषा
Updated: December 14, 2019, 8:50 PM IST
कांग्रेस नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ भड़का रही है हिंसा: अमित शाह
अमित शाह ने कहा है कि कांग्रेस नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसा भड़का रही है (फाइल फोटो)

केंद्रीय गृह मंत्री (Union Home Minister) ने कहा, ‘‘हम नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAB) लेकर आए हैं और कांग्रेस (Congress) को पेट दर्द होने लगा है. वह उसके खिलाफ हिंसा भड़का रही है.’

  • Share this:
गिरिडीह/बाघमारा (झारखंड). केंद्रीय गृह मंत्री (Union Home Minister) अमित शाह (Amit Shah) ने शनिवार को कांग्रेस पर नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAB) के खिलाफ हिंसा भड़काने (Stoking Violence) का आरोप लगाया.

अमित शाह (Amit Shah) ने गिरिडीह और बाघमारा विधानसभा क्षेत्र (Giridih and Baghmara Assembly Constituency) में चुनावी जनसभाओं में कहा कि नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAB) के पारित होने से विपक्षी दल को पेट दर्द होने लगा है.

'जबसे लेकर आए हैं नागरिकता संशोधन अधिनियम, कांग्रेस के पेट में होने लगा दर्द'
केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, ‘‘हम नागरिकता संशोधन अधिनियम लेकर आए हैं और कांग्रेस (Congress) को पेट दर्द होने लगा है. वह उसके खिलाफ हिंसा भड़का रही है.’’ शाह ने पूर्वोत्तर के लोगों को आश्वासन दिया कि इस अधिनियम से उनकी संस्कृति, भाषा, सामाजिक पहचान और राजनीतिक अधिकार प्रभावित नहीं होंगे.

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ मैं असम और पूर्वोत्तर (North-East) के अन्य राज्यों के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि उनकी संस्कृति, सामाजिक पहचान, भाषा, राजनीतिक अधिकारों को नहीं छुआ जाएगा तथा नरेंद्र मोदी सरकार उनकी रक्षा करेगी.’’

'मेघालय के लिए रचात्मक तरीके से ढूंढ सकते हैं समाधान, किसी को डरने की जरूरत नहीं'
शाह ने कहा कि मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा (Conrad Sangma) और उनकी सरकार के मंत्रियों ने इस मुद्दे पर चर्चा को लेकर शुक्रवार को उनसे मुलाकात की है.गृहमंत्री ने कहा, ‘‘ उन्होंने कहा कि मेघालय (Meghalaya) में समस्या है. मैंने उन्हें समझाने का प्रयास किया कि कोई मुद्दा नहीं है. उसके बाद भी उन्होंने मुझसे (कानून में) कुछ बदलाव करने को कहा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने संगमा जी को क्रिसमस (Christmas) के बाद समय मिलने पर मेरे पास आने को कहा. हम मेघालय के वास्ते रचनात्मक तरीके से समाधान ढूंढने के लिए सोच सकते हैं. किसी को डरने की जरूरत नहीं है.’’

'राहुल गांधी बस शोर मचा रहे, उन्हें भारत के इतिहास की जानकारी नहीं'
राहुल गांधी पर प्रहार करते हुए शाह ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष बस शोर मचा रहे हैं और उन्हें भारत के इतिहास की जानकारी नहीं है और उन्होंने अपनी आंखों पर ‘इतालवी चश्मा’ लगा रखा है. उन्होंने कहा, ‘‘ हमारी पार्टी की युवा ईकाई का एक जिलाध्यक्ष भी यह बता सकता है कि झारखंड (Jharkhand) में पांच साल के भाजपा शासन में क्या-क्या विकास कार्य हुए और राहुल गांधी की कांग्रेस ने 55 साल के अपने शासन दौरान क्या कार्य किये.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और हेमंत सोरेन कहते हैं कि कश्मीर मुद्दा झारखंड चुनाव में क्यों महत्वपूर्ण है?.... इस राज्य के युवा देश की सीमा को सुरक्षित रख रहे हैं. लेकिन राहुल गांधी इतिहास नहीं जानते, क्योंकि उन्होंने आंखों पर इतालवी चश्मे लगा लिये हैं.’’

शाह ने कांग्रेस पर नक्सलवाद को बढ़ावा देने और कश्मीर आतंकियों को सौंपने के लगाए आरोप
शाह ने कांग्रेस पर नक्सलवाद को बढ़ावा देने, कश्मीर को आतंकवादियों के हाथों में सौंप देने और अयोध्या मुद्दे को सालों तक लटकाने का भी आरोप लगाया. शाह ने कहा कि कांग्रेस भाजपा पर मुसलमानविरोधी होने का आरोप लगाती है लेकिन यही राजग सरकार है जो तीन तलाक कानून (Triple Talaq Act) लायी.

उन्होंने कहा कि झारखंड में भाजपा नीत सरकार के दौरान लोगों को बिजली मिली, एलपीजी सिलेंडर (LPG Cylinder) मिले और मकान भी मिले. गिरिडीह और बाघमारा में चौथे चरण में 16 दिसंबर को मतदान होना है.

यह भी पढ़ें: सेना ने नॉर्थ-ईस्ट प्रदर्शकारियों पर कार्रवाई की ‘फर्जी खबरों’ से किया सावधान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2019, 8:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर