अपना शहर चुनें

States

कांग्रेस ने BJP पर साधा निशाना, कहा- किसानों पर लाठियां भांजना और बौछार मारना तानाशाही

किसानों का प्रदर्शन, किसानों को दिल्‍ली की सीमा में घुसने से रोकने के लिए पुलिस ने पहली बार तीन नए तरीके अपनाए हैं
किसानों का प्रदर्शन, किसानों को दिल्‍ली की सीमा में घुसने से रोकने के लिए पुलिस ने पहली बार तीन नए तरीके अपनाए हैं

Farmer's Agitation: रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने आरोप लगाया, ‘भीषण ठंड के बीच अपनी जायज मांगों को लेकर गांधीवादी तरीके से दिल्ली आ रहे किसानों को जबरन रोकना और पानी की तेज बौछार मारना मोदी-खट्टर सरकार की तानाशाही का जीवंत प्रमाण है.’

  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस ने किसानों के ‘दिल्ली चलो मार्च’ का समर्थन करते हुए गुरुवार को आरोप लगाया कि केंद्र की भाजपा सरकार (BJP Government) किसानों की आवाज सुनने के बजाय उन पर सर्दियों में पानी की बौछार और लाठियां मार रही है जो उसके तानाशाही होने का प्रमाण है. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह सवाल भी किया कि आखिर ‘दिल्ली दरबार’ के लिए किसान कब से खतरा हो गए?

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने किसानों पर पानी की बौछार मारे जाने का एक वीडियो साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘किसानों से समर्थन मूल्य छीनने वाले कानून का विरोध का रहे किसान की आवाज सुनने की बजाय भाजपा सरकार उन पर भारी ठंड में पानी की बौछार मारती है. किसानों से सबकुछ छीना जा रहा है और पूंजीपतियों को थाल में सजा कर बैंक, कर्जमाफी, एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन बांटे जा रहे हैं.’

सुरजेवाला ने आरोप लगाया, ‘भीषण ठंड के बीच अपनी जायज मांगों को लेकर गांधीवादी तरीके से दिल्ली आ रहे किसानों को जबरन रोकना और पानी की तेज बौछार मारना मोदी-खट्टर सरकार की तानाशाही का जीवंत प्रमाण है.’ उन्होंने कहा, ‘खेती बिलों के विरोध को लेकर हमारा पूर्ण समर्थन किसानों के साथ है.’



कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता ने ट्वीट किया, ‘आज देश का मजदूर हड़ताल पर है, आज देश के बैंक कर्मी हड़ताल पर हैं, आज देश का अन्नदाता किसान हड़ताल पर है, आज देश का बेरोजगार युवा हड़ताल पर है, पर..क्या मोदी सरकार को देशवासियों की परवाह है? क्या ये राष्ट्रसेवा है या राष्ट्र हितों का विरोध? देश फैसला करे!’

उन्होंने सवाल किया, ‘मोदी जी, दिल्ली दरबार को देश के अन्नदाताओं से खतरा कब से हो गया? किसानों को रोकने के लिए उन्हीं के बेटे, यानी सेना के जवान खड़े कर दिए. काश, इतनी चौकसी चीन सीमा पर की होती तो चीन देश की सरजमीं पर घुसपैठ करने का दुस्साहस नही करता. आपकी प्राथमिकताएं सदा गलत ही क्यों होती हैं?’ उल्लेखनीय है कि पंजाब के बहुत सारे किसान केन्द्र के कृषि संबंधी कानूनों के खिलाफ ‘दिल्ली चलो मार्च’ के तहत राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने की कोशिश में हैं. इसको देखते हुए हरियाणा ने पंजाब से लगी अपनी सभी सीमाओं को पूरी तरह सील कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज