अपना शहर चुनें

States

महाराष्ट्र : कांग्रेस ने NCP पर साधा निशाना, कहा- बागियों को शामिल कर कायम की दुर्भाग्यपूर्ण मिसाल

कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा, कांग्रेस (Congress) ने बागियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है. इतना ही नहीं पार्टी ने दल बदल कानून के तहत अधिकारियों के सामने इन्हें अयोग्य ठहराने के लिए याचिका दायर की है.
कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा, कांग्रेस (Congress) ने बागियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है. इतना ही नहीं पार्टी ने दल बदल कानून के तहत अधिकारियों के सामने इन्हें अयोग्य ठहराने के लिए याचिका दायर की है.

कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा, 'कांग्रेस (Congress) ने बागियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है. इतना ही नहीं पार्टी ने दल बदल कानून के तहत अधिकारियों के सामने इन्हें अयोग्य ठहराने के लिए याचिका दायर की है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 25, 2020, 8:01 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई में बीएमसी के चुनाव (BMC Election) को लेकर सियासी गहमागहमी तेज हो गई है. 18 कांग्रेस कार्पोरेटर्स के एनसीपी (NCP) में शामिल होने के बाद कांग्रेस (Congress) खासी नाराज नजर आ रही है. कांग्रेस ने गुरुवार को एनसीपी पर जमकर निशाना साधा है. खास बात है कि कांग्रेस के बागी पार्षदों ने बुधवार को एनसीपी का हाथ थाम लिया था. एनसीपी के पास भिवंडी-निजामपुर में एक भी पार्षद नहीं था.

कांग्रेस ने कहा कि महाविकास अघाड़ी (Mahavikas Aghadi) की सदस्य पार्टी के विद्रोहियों को शामिल कर एनसीपी ने दुर्भाग्यपूर्ण मिसाल कायम की है. कांग्रेस प्रवक्ता और पार्टी महासचिव सचिन सावंत (Sachin Sawant) ने कहा, 'राज्य कांग्रेस अध्यक्ष बलासाहब थोराट ने एनसीपी नेतृत्व के प्रति नाराजगी जताई है.' बुधवार को कांग्रेस के पार्षद डिप्टी सीएम अजीत पवार, राज्य के एनसीपी प्रमुख जयंत पाटिल और मंत्री जितेंद्र अव्हाड की मौजूदगी में राकंपा में शामिल हो गए थे.





यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र : सिविल कोर्ट ने मनसे को दिए आदेश- अमेजन के कारोबार में बाधा न डालें
अंग्रेजी वेबसाइट मिड डे से बातचीत में सावंत ने कहा कि दल बदलने वालों ने मेयर चुनाव के समय कांग्रेस में बगावत की थी. इन बागी नेताओं के चलते 90 सदस्यीय कॉर्पोरेशन में 47 सीटों के साथ भी कांग्रेस अपना मेयर नहीं चुन पाई थी. उन्होंने कहा, 'कांग्रेस ने बागियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है. इतना ही नहीं पार्टी ने दल बदल कानून के तहत अधिकारियों के सामने इन्हें अयोग्य ठहराने के लिए याचिका दायर की है.'

उन्होंने बताया, 'डिवीजनल कमिश्नर के सामने सुनवाई लंबित है. ये बागी तकनीकी रूप से अभी भी कांग्रेस का हिस्सा हैं. पार्टी मामले को आगे बढ़ा रही है.' उन्होंने बताया, 'गठबंधन के साथी ने कांग्रेस के आदेश, विचारधारा और नीतियों का अपमान करने वाले बागियों को शामिल कर एक दुर्भाग्यपूर्ण मिसाल कायम की है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज