लाइव टीवी

महाबलीपुरम बीच पर PM मोदी के ‘प्लॉगिंग’ को लेकर कांग्रेस ने उठाए सवाल

भाषा
Updated: October 13, 2019, 4:37 PM IST
महाबलीपुरम बीच पर PM मोदी के ‘प्लॉगिंग’ को लेकर कांग्रेस ने उठाए सवाल
महाबलीपुरम में समुद्र तट पर ‘प्लॉगिंग’ करते पीएम मोदी

टीएनसीसी के अध्यक्ष के. एस. अलागिरी ने कहा, ‘महाबलीपुरम बीच पर कचरा होने का कोई मतलब ही नहीं बनता. फिर कैसे पीएम मोदी (PM Narendra Modi) की सुबह की सैर के दौरान अचानक कचरा आ गया?’

  • Share this:
चेन्नई. कांग्रेस (Congress) ने शनिवार को महाबलीपुरम में समुद्र तट पर ‘प्लॉगिंग’ को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर निशाना साधा है. कांग्रेस की तमिलनाडु इकाई ने रविवार को पूछा कि यहां उनके दौरे से पहले पूरे इलाके को साफ कर दिया गया था तो क्या यह ‘नाटक’ था?

पीएम मोदी (PM Narendra Modi)  शुक्रवार और शनिवार को चीन के राष्ट्रपति शी चिनपिंग (xi jinping) के साथ अपनी दूसरी अनौपचारिक शिखर वार्ता के लिए चेन्नई से करीब 50 किलोमीटर दूर तटीय शहर महाबलीपुरम आए थे. ‘प्लॉगिंग’ का मतलब जॉगिंग करते या दौड़ते वक्त प्लास्टिक की उपयोग की हुई बोतल जैसा कूड़ा-कचरा उठाना होता है.

शनिवार को वार्ता के दूसरे दिन प्रधानमंत्री को उनकी सुबह की सैर के दौरान समुद्र तट से प्लास्टिक एवं अन्य तरह का कूड़ा बीनते देखा गया था. प्रधानमंत्री ने शनिवार को समुद्र तट पर प्लॉगिंग का अपना तीन मिनट का एक वीडियो जारी किया जिसमें वह कूड़ा उठाते और लोगों से सार्वजनिक स्थानों को साफ एवं स्वच्छ रखने की अपील कर रहे हैं.

अलागिरी ने पीएम मोदी के वीडियो का किया जिक्र

टीएनसीसी के अध्यक्ष के. एस. अलागिरी ने रविवार को मामल्लापुरम में दोनों नेताओं की बैठक और यूनेस्को विरासत स्थलों का दौरा करने का स्वागत करते हुए कहा कि यह तमिलनाडु का गौरव दर्शाता है. पीएम मोदी के तीन मिनट के वीडियो का जिक्र करते हुए अलागिरी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने ऐसा करके स्वच्छ भारत अभियान में अपनी उत्सुकता जाहिर की. साथ ही उन्होंने कहा कि चूंकि मोदी का दौरा पहले से तय था तो समुद्र तट के साथ ही जहां वह ठहरे हुए थे उस होटल जोन में वातावरण संरक्षण कर्मियों ने मशीनों का इस्तेमाल कर साफ-सफाई के सभी काम पूरे कर लिए थे.

पीएम मोदी का कचरा उठाना क्या ‘नाटक’ था?
अलागिरी ने एक बयान में कहा, ‘‘इन सबके बाद इलाके में कचरा होने का कोई मतलब ही नहीं बनता. फिर कैसे उनकी सुबह की सैर के दौरान अचानक कचरा आ जाता है?’’ उन्होंने कहा कि अगर वहां कूड़ा था तो क्या यह राज्य सरकार की कोताही नहीं दिखाता. उन्होंने पूछा, ‘क्या प्रधानमंत्री मोदी के कूड़ा बीनने का नाटक रचने के लिए वहां कचरा फेंका गया?’
Loading...

गौरतलब है कि इस साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मोदी ने देश को एकल उपयोग प्लास्टिक से मुक्त बनाने के अभियान की घोषणा की थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 4:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...