होम /न्यूज /राष्ट्र /

Parliament Budget Session: विपक्ष को एकजुट करके अहम मुद्दों पर मोदी सरकार को संसद में घेरेगी कांग्रेस

Parliament Budget Session: विपक्ष को एकजुट करके अहम मुद्दों पर मोदी सरकार को संसद में घेरेगी कांग्रेस

अहम मुद्दों पर मोदी सरकार को संसद में घेरेगी कांग्रेस (ANI)

अहम मुद्दों पर मोदी सरकार को संसद में घेरेगी कांग्रेस (ANI)

Parliament Budget Session: कांग्रेस संसदीय रणनीति समूह की पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर हुई एक बैठक में फैसला लिया गया कि समान विचारधारा वाले सभी विपक्षी दलों को एकजुट करके संसद में पीएम नरेंद्र की सरकार को अहम मुद्दों पर घेरा जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने रविवार को संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण के लिए पार्टी की रणनीति पर चर्चा की और समान विचारधारा वाली पार्टियों के साथ मिलकर जनहित से जुड़े अहम मुद्दों को उठाने का फैसला किया. कांग्रेस संसदीय रणनीति समूह की बैठक पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर हुई. पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी इस बैठक में शामिल नहीं थे. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी खराब सेहत के चलते में बैठक में शिरकत नहीं कर सके.

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि ‘हमने सोमवार से शुरू हो रहे संसद के बजट सत्र में उठाए जाने वाले मुद्दों पर चर्चा की. हम बजट सत्र के दौरान जनहित से जुड़े अहम मुद्दों को उठाने के लिए समान विचारधारा वाली पार्टियों के साथ समन्वय में काम करेंगे.’ उन्होंने कहा कि ‘यू्क्रेन से भारतीय छात्रों की सुरक्षित निकासी, महंगाई, बेरोजगारी, कामगारों का मुद्दा, किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य का मुद्दा आदि उन मुद्दों में शामिल हैं, जिन्हें इस सत्र में उठाया जाएगा.’

इस बैठक में आनंद शर्मा, जयराम रमेश, के सुरेश, मणिकम टैगोर और मनीष तिवारी आदि नेता शामिल हुए. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एके एंटनी और लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी भी इसमें मौजूद नहीं थे. संसद के हर सत्र से पहले कांग्रेस संसदीय रणनीति समूह की बैठक होती है. बजट सत्र का दूसरा हिस्सा सोमवार से शुरू हो रहा है और यह आठ अप्रैल तक चलेगा.

गौरतलब है कि हाल ही में पांच राज्यों में हुए विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस का भारी पराजय का सामना करना पड़ा है. उत्तराखंड और गोवा में सत्ता की वापसी करने की कांग्रेस की उम्मीदें जहां एक बार फिर खत्म हो गईं, वहीं उसे पंजाब की सत्ता से भी हाथ धोना पड़ा है. उत्तर प्रदेश में भी प्रियंका गांधी से कांग्रेस को बहुत उम्मीदें थीं, लेकिन वे भी यूपी में कांग्रेस को नए सिरे खड़ा करने में सफल साबित नहीं हो सकीं. इसे देखते हुए कांग्रेस में बगावत के सुर भी उठने लगे हैं.

Tags: Congress, Congress Committee, Mallikarjun kharge, MSP, MSP of crops, Parliament

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर