CWC बैठक में चुनावी हार पर मंथन जारी, सोनिया गांधी बोलीं- कांग्रेस में बदलाव हो गया जरूरी

सोनिया गांधी और राहुल गांधी. (पीटीआई फाइल फोटो)

सोनिया गांधी और राहुल गांधी. (पीटीआई फाइल फोटो)

हालिया विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के बेहद खराब प्रदर्शन पर मंथन के लिए कांग्रेस कार्यसमिति की यह बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, गुलाम नबी आजाद, पी चिदंबरम, आनंद शर्मा समेत CWC के बाकी सदस्य शामिल हुए.

  • Share this:

नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) की शीर्ष नीति निर्धारक इकाई कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की राजधानी दिल्ली में हुई बैठक में कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनियां गांधी (Sonia Gandhi) ने हाल में हुए 5 राज्‍यों के विधानसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन पर चिंता जताई. सोनिया गांधी ने कहा, चुनाव के नतीजों को देखने के बाद साफ है कि पार्टी में बदलाव की जरूरत है. उन्‍होंने कहा, हमें इन गंभीर झटकों पर संज्ञान लेने की जरूरत है. सोनिया गांधी ने कहा चुनाव परिणाम को देखने के बाद मुझे लगता है कि अब हर पहलू पर गौर करने की जरूरत है.

सोनियां गांधी ने बैठक में कहा कि मोदी सरकार कोरोना पर नियंत्रण करने में नाकाम साबित हुई है. ऐसे नाजुक समय में उन्‍होंने एक बार फिर सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग दोहराई. कोरोना को अप्रत्याशित स्वास्थ्य संकट बताते हुए सोनिया गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वह लोगों की हर संभव मदद करने के लिए आगे आएं. सोनिया गांधी ने हाल के चुनावों में कांग्रेस की नाकामी की समीक्षा के लिए एक समिति बनाने की बात कही है. असम और केरल की हार और पश्चिम बंगाल में ज़ीरो सीट को अत्यंत निराशाजनक बताया. कांग्रेस अध्यक्ष के जून अंत के चुनाव की प्रक्रिया पूरी करने के लिए शेड्यूल तैयार किए जाने की जानकारी दी. इस बैठक में सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, गुलाम नबी आजाद, पी चिदंबरम, आनंद शर्मा समेत CWC के बाकी सदस्य शामिल हुए.

कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने शुक्रवार को कांग्रेस संसदीय दल (सीपीपी) की बैठक में इस तरह की बैठक आयोजित करने की घोषणा की थी. असम और केरल में सत्ता में वापसी का प्रयास कर रही कांग्रेस को हार झेलनी पड़ी. वहीं, पश्चिम बंगाल में उसका खाता भी नहीं खुल सका. पुडुचेरी में उसे करारी हार का सामना करना पड़ा जहां कुछ महीने पहले तक वह सत्ता में थी. तमिलनाडु में उसके लिए राहत की बात रही कि द्रमुक की अगुवाई वाले उसके गठबंधन को जीत मिली.


इससे पहले, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने चार राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश के हालिया विधानसभा चुनावों में पार्टी के प्रदर्शन को ‘निराशाजनक’ करार देते हुए कहा था कि इस हार से सबक लेने की जरूरत है. उन्होंने कांग्रेस की चुनावी हार का उल्लेख करते हुए कहा, सबसे दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि सभी राज्यों में हमारा प्रदर्शनक निराशाजनक रहा है और मैं यह कह सकती हूं कि यह अप्रत्याशित है.

इसे भी पढ़ें :- कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की सरकार से मांग- कोविड की स्थिति पर बुलाएं सर्वदलीय बैठक

सोनिया ने कहा, 'चुनाव नतीजों की समीक्षा के लिए जल्द सीडब्ल्यूसी की बैठक होगी, लेकिन यह कहना होगा कि एक पार्टी के तौर पर सामूहिक रूप से हमें पूरी विनम्रता एवं ईमानदारी के साथ इस झटके से उचित सीख लेनी होगी.'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज