कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक कल, अध्‍यक्ष समेत कई बड़े फैसलों की उम्मीद

कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक कल, अध्‍यक्ष समेत कई बड़े फैसलों की उम्मीद
कल होनी है सीडब्‍ल्‍यूसी की बैठक.

एक तरफ जहां राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की वापसी की मांग लगातार की जा रही है. वहीं दूसरी तरफ वरिष्ठ नेताओं ने सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को पत्र लिखकर अंतरिम व्यवस्था को खत्म करने की बात कही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2020, 7:34 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कांग्रेस वर्किंग कमिटी (CWC) की बैठक से पहले टकराव की स्थिति पूरी तरह बनती दिख रही है. सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) का कांग्रेस (Congress) का अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर कार्यकाल खत्म हो चुका है. ऐसे में एक तरफ जहां राहुल गांधी की वापसी की मांग लगातार उठाई जा रही है. वहीं दूसरी तरफ सूत्रों की माने तो वरिष्ठ नेताओं ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर अंतरिम व्यवस्था को खत्म करने की बात कही है. इन सभी चर्चाओं के बीच 24 अगस्त कांग्रेस CWC की बैठक में बड़े फैसले की उम्मीद की जा रही है.

पिछले कुछ हफ्तों के दौरान कांग्रेस के कई नेता खुलकर यह मांग कर चुके हैं कि एक बार फिर राहुल गांधी को कांग्रेस की कमान सौंपी जाए. हाल ही में कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि कांग्रेस के 100 फीसदी कार्यकर्ताओं की यह भावना है कि राहुल गांधी फिर से पार्टी का नेतृत्व करें. वर्किंग कमिटी की बैठक में किन बातों की संभावनाएं रहेंगी, आइये जानते हैं...





हमेशा की तरह राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग
2019 लोकसभा चुनाव में हार की राहुल गांधी ने CWC की बैठक में इस्तीफे की पेशकश कर दी थी. जिसके बाद युवा नेताओं की तरफ से कई तरह के प्रदर्शन, कई नेताओं ने विरोध में इस्तीफा, AICC मुख्यालय में सत्याग्रह सब किया लेकिन राहुल गांधी ने अपना फैसला नहीं बदला. इसके बाद सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया, लेकिन पिछले एक साल में कई फोरम पर युवा नेताओं ने अपनी मांग बार-बार दोहराई. ऐसी ही स्थिति वर्किंग कमिटी की बैठक में फिर देखी जा सकती है.

बड़े नेताओं के लिखे पत्र पर फैसला
सूत्रों की मानें तो कई वरिष्ठ नेताओ सहित सभी पूर्व केन्द्रीय मंत्रियों ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर अंतरिम व्यवस्था खत्म कर संगठन के लिए बड़े फैसले लें. इसमें पूर्णकालिक राष्ट्रीय अध्यक्ष और CWC में भी बदलाव है.

अगर राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद संभालने से मना किया तो...
पिछले एक साल में राहुल गांधी ने संसद से लेकर कांग्रेस मुख्यालय में कई बार मीडिया में इस बात को दोहराया है कि वो कांग्रेस अध्यक्ष नहीं बनना चाहते. एक सांसद और कार्यकर्ता की तरह वो पार्टी द्वारा दिए काम को करते रहेंगे. अगर कल की बैठक में राहुल फिर अध्यक्ष पद को ठुकराते हैं तो उम्मीद जताई जा रही है कि अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर सोनिया गांधी के ही कार्यकाल को बढ़ा दिया जाएगा. हालांकि बड़े नेताओं के पत्र से इस बात की संभावना कम है. इस हालात में गैर गांधी अध्यक्ष पर भी विचार करते हुए नए राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए चुनाव कराया जाए.

प्रियंका गांधी ने भी गैर गांधी राष्ट्रीय अध्यक्ष की मांग का समर्थन किया है
प्रियंका गांधी वाड्रा ने पार्टी की कमान किसी गैर गांधी शख्स को सौंपे जाने की वकालत की थी. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपने बड़े भाई और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की उस बात का समर्थन किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि गांधी परिवार के बाहर के व्यक्ति को कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त किया जाना चाहिए. प्रियंका ने कहा कि शायद (इस्तीफा) पत्र में तो नहीं लेकिन कहीं और उन्होंने कहा कि हममें से कोई भी पार्टी का अध्यक्ष नहीं होना चाहिए और मैं उनके साथ पूर्ण सहमत हूं. मुझे लगता है कि पार्टी को अपना रास्ता भी खोजना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज