होम /न्यूज /राष्ट्र /

'कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनी तो राहुल गांधी होंगे पीएम पद के एकमात्र दावेदार'

'कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनी तो राहुल गांधी होंगे पीएम पद के एकमात्र दावेदार'

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी.

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी.

पार्टी प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने साफ कर दिया कि कांग्रेस के 200 से ज्‍यादा सीटें जीतने पर राहुल गांधी ही प्रधानमंत्री पद का चेहरा होंगे.

    कांग्रेस ने रविवार को साफ कर दिया कि 2019 का चुनाव राहुल गांधी के नेतृत्‍व में लड़ा जाएगा. अगर पार्टी को 200 से ज्‍यादा सीटें मिल जाती है तो सरकार कांग्रेस के नेतृत्‍व में बनेगी और पार्टी अध्‍यक्ष ही उसका चेहरा होंगे. पार्टी प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने कांग्रेस वर्किंग कमिटी(सीडब्‍ल्‍यूसी) की बैठक के बाद पत्रकारों को बताया, 'हमें उम्मीद है कि हम 2004 से बेहतर फरफॉर्म करेंगे. लोग तय करेंगे. यदि पार्टी 200 से अधिक सीटों के साथ सिंगल लार्जेस्ट पार्टी बन जाती है, तो जो भी पार्टी हमारे साथ हाथ मिलाकर चलना चाहेगी हम उन्हें साथ लेकर चलेंगे. ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष प्रधानमंत्री पद के एकमात्र दावेदार होंगे. कांग्रेस राहुल गांधी के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी.'

    सुरजेवाला ने साफ कर दिया कि कांग्रेस के 200 से ज्‍यादा सीटें जीतने पर राहुल गांधी ही प्रधानमंत्री पद का चेहरा होंगे. रविवार को हुई मीटिंग के साथ ही कांग्रेस ने 2019 के लोकसभा चुनाव का बिगुल बजा दिया है.

    इस बैठक में कांग्रेस के सीनियर नेताओं ने राहुल गांधी को बाकी पार्टियों के साथ गठबंधन के लिए अधिकृत किया है. सीडब्‍ल्‍यूसी के ज्‍यादातर सदस्‍यों ने जोर दिया कि कांग्रेस को संयुक्‍त विपक्ष का नेतृत्‍व करना चाहिए क्‍योंकि उसकी सबसे ज्‍यादा राज्‍यों में पहुंच है.



    अंबिका सोनी और मल्लिकार्जुन खड़गे जैसे सीनियर कांग्रेस नेताओं ने CNN-News18 को बताया कि सीडब्‍ल्‍यूसी ने गठबंधन और 2019 की रणनीति बनाने के लिए राहुल गांधी को जिम्‍मेदारी सौंपी है.

    खड़गे ने बताया, 'सीडब्‍ल्‍यूसी ने गठबंधन के मामलों पर विचार किया. अलग-अलग राज्‍यों में गठबंधन को लेकर एक रणनीति बनाई जाएगी.' गठबंधन की संभावनाओं के लिए राहुल गांधी ने एक ग्रुप भी बनाया है. हालांकि पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदम्‍बरम ने कहा कि जिन राज्‍यों में कांग्रेस मजबूत है वहां उसे अकेले जाना चाहिए और जरूरत पड़ने पर वहां गठबंधन करना चाहिए.

    Tags: Congress, General Election 2019, Rahul gandhi

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर