पटरी पर लौट रहे संबंध, भारत की मदद से नेपाल बनाएगा सीमा चौकी

नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने कुछ समय पहले भारत को लेकर कड़वे बोल कहे थे. (Photo: AP)
नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने कुछ समय पहले भारत को लेकर कड़वे बोल कहे थे. (Photo: AP)

नेपाल में भारतीय दूतावास (Indian Embassy) ने एक बयान में कहा कि भारत सीमा के दोनों ओर इस चौकी का निर्माण कर रहा है ताकि एक ही जगह सीमा शुल्क और आव्रजन सुविधाओं को लाकर दोनों देशों के बीच मालवाहक ट्रकों की आवाजाही को व्यवस्थित किया जा सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2020, 12:02 AM IST
  • Share this:
काठमांडू. भारत के वित्तपोषण से पश्चिमी नेपाल (West Nepal) के नेपालगंज में एकीकृत सीमा चौकी का निर्माण कार्य बृहस्पतिवार को भूमि पूजन के साथ ही शुरू हो गया. भारत के वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) और नेपाल के शहरी विकास मंत्री कृष्ण गोपाल श्रेष्ठ कार्यक्रम के गवाह बने. चौकी के निर्माण का उद्देश्य द्विपक्षीय व्यापार बढ़ाना और दोनों देशों की जनता के स्तर पर संपर्क को बढ़ावा देना है.

डिजिटल माध्यम से आयोजित समारोह में काठमांडू से, नेपाल में भारत के राजदूत विनय मोहन क्वात्रा, नेपाल के शहरी विकास राज्य मंत्री रामवीर मननधर और शहरी विकास मंत्रालय के सचिव राम प्रसाद सिंह ने भी शिरकत की.

मालवाहक ट्रकों की आवाजाही की व्यवस्था को व्यवस्थित करने की कोशिश
नेपाल में भारतीय दूतावास ने एक बयान में कहा कि भारत सीमा के दोनों ओर इस चौकी का निर्माण कर रहा है ताकि एक ही जगह सीमा शुल्क और आव्रजन सुविधाओं को लाकर दोनों देशों के बीच मालवाहक ट्रकों की आवाजाही को व्यवस्थित किया जा सके.
परियोजना पर 147.12 करोड़ रुपये खर्च होंगे


इस परियोजना पर 147.12 करोड़ रुपये खर्च होंगे. चौकी का निर्माण नेपाल सरकार द्वारा नेपालगंज की जानकी ग्रामीण नगपालिका में चिन्हित की गई लगभग 61.5 हेक्टेयर भूमि पर किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज