इन वजहों से राष्ट्रीय पल्स पोलियो कार्यक्रम को किया गया रद्द

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

कहा जा रहा है कि राष्ट्रीय पल्स पोलियो कार्यक्रम को रद्द करने के पीछे कई वजह हैं. कुछ महीने पहले बच्चों को पोलियो न हो, इसके लिए दी जाने वाली वैक्सीन में पी-2 वायरस पाया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2019, 9:36 PM IST
  • Share this:
(अनिरुद्ध घोषाल)

सरकार ने 3 फरवरी को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय पल्स पोलियो कार्यक्रम को रद्द कर दिया है. ऐसा इसलिए किया गया है कि क्योंकि कुछ महीने पहले पोलियो वैक्सीन में पोलियो वायरस मिलने का मामला सामने आया था.

राष्ट्रीय पल्स पोलियो कार्यक्रम को रद्द करने को लेकर राज्यों को एक चट्ठी लिखी गई है, जिसमें कहा गया है-  '3 फरवरी को होने वाले इस कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है और जल्द ही नए कार्यक्रम की घोषणा की जाएगी'.



कहा जा रहा है कि राष्ट्रीय पल्स पोलियो कार्यक्रम को रद्द करने के पीछे कई वजह हैं. कुछ महीने पहले बच्चों को पोलियो न हो, इसके लिए दी जाने वाली वैक्सीन में पी-2 वायरस पाया गया था. इसके बाद कड़े जांच मापदंडों के चलते वैक्सीन की सप्लाई में कमी आ गई. सूत्रों के मुताबिक, कीमतों में भी भारी इज़ाफा हो गया. इसके बाद सरकार ने 'गावी' का रुख किया. ये वो अंतरराष्ट्रीय संस्था है जो पोलियो से लड़ने के लिए गरीब देशों की मदद करती है.
भारत को मार्च 2014 में पोलियो मुक्त घोषित कर दिया गया था. पोलियो का आखिरी मामला 13 जनवरी 2011 में मिला था. इसके बाद लगातार तीनों तरह के पोलियो वायरस पर नज़र रखी जा रही थी. सरकार के लिए यह काफी चिंताजनक बात है, क्योंकि भारत को पोलियोमुक्त राष्ट्र घोषित किया जा चुका है.

ये भी पढ़ें:

हम बैलट पेपर की तरफ लौट नहीं सकते, जारी रहेगा EVM का इस्तेमाल: चुनाव आयोग

CBI विवादः नागेश्वर राव के खिलाफ सुनवाई से CJI के बाद जस्टिस सीकरी भी हुए अलग

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज