बीजेपी को बयानों में उलझाते नेता, खंडन करती पार्टी

बीजेपी को बयानों में उलझाते नेता, खंडन करती पार्टी
सरधना से बीजेपी विधायक संगीत सोम के ताजमहल पर दिए गए विवादित बयान से पार्टी बैकफुट पर है.

सरधना से बीजेपी विधायक संगीत सोम के ताजमहल पर दिए गए विवादित बयान से पार्टी बैकफुट पर है.

  • Last Updated: October 19, 2017, 1:41 PM IST
  • Share this:
सरधना (यूपी) से बीजेपी विधायक संगीत सोम के ताजमहल पर दिए गए विवादित बयान से पार्टी बैकफुट पर है. प्रधानमंत्री मोदी ने इशारों-इशारों में उन्हें नसीहत दी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद को विधायक के इस बयान से अलग कर लिया है.

ऐसा पहली बार नहीं है, जब किसी बीजेपी विधायक, सांसद और मंत्री ने विवादित बयान दिया है. पहले भी नेताओं ने अमर्यादित और विवादित बयान दिए हैं. हालांकि हर बार ऐसे बयानों के बाद पार्टी ने अपना स्टैंड स्पष्ट करते हुए खुद को उससे अलग किया है. लेकिन कार्रवाई कुछ ही लोगों पर हुई है. आईए बीजेपी नेताओं के कुछ बड़े विवादित बयानों पर नजर डालते हैं.

'ताजमहल भारतीय संस्कृति पर धब्बा है'
पार्टी विधायक संगीत सोम ने एक कार्यक्रम में कहा कि "ताजमहल भारतीय संस्कृति पर धब्बा है. उत्तर प्रदेश में ऐसी एक निशानी, जिसे नहीं कहना चाहिए. बहुत लोगों को बड़ा दर्द हुआ कि आगरा का ताज महल ऐतिहासिक स्थलों में से निकाल दिया गया. कैसा इतिहास, कहां का इतिहास, कौन सा इतिहास?"



"क्या वह इतिहास कि ताज महल बनाने वाले ने अपने बाप को कैद किया था? क्या वह इतिहास कि ताज महल बनाने वाले ने उत्तर प्रदेश और हिंदुस्तान से सभी हिंदुओं का सर्वनाश करने का काम किया था? ऐसे लोगों का नाम अगर आज भी इतिहास में होगा, तो यह दुर्भाग्य की बात है और मैं गारंटी के साथ कह सकता हूं कि इतिहास बदला जाएगा."



Taj Mahal‬, ‪Bharatiya Janata Party‬, ‪Sangeet Som‬, ‪Uttar Pradesh‬, ‪Culture of India‬‬, Yanni, Greek American music composer Yanni, Azam Khan, agra news, Parliament, Rashtrapati Bhavan, Red Fort, facebook, mark zuckerberg, us president bill clinton, princes diana, tom cruise, vladimir putin, israel, yogi adityanath, world heritage sites in india, tourism, Shah Jahan, Mumtaz Mahal, ताजमहल, भारतीय जनता पार्टी, संगीत सोम, उत्तर प्रदेश, भारत की संस्कृति, आज़म खान, लाल किला, फेसबुक, मार्क ज़करबर्ग, बिल क्लिंटन, डायना, टॉम क्रूज़, व्लादिमिर पुतिन, इज़राइल, योगी आदित्यनाथ, पर्यटन, शाहजहां, मुमताज महल               सियासत का शिकार ताजमहल

पार्टी ने क्या किया?
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि सभी को अपनी विरासत पर गर्व करना चाहिए, इससे मुंह मोड़ना ठीक नहीं है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संगीत सोम से खफा हो गए हैं. जानकारी के अनुसार, सीएम योगी ने संगीत सोम से बात कर उनसे इस बयान को लेकर सफाई मांगी है. यही नहीं, सीएम योगी अब ताज का दीदार करने जा रहे हैं. बीजेपी की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा है कि ताजमहल सबसे बड़ा पर्यटन केंद्र है, सरकार इसे विशेष सम्मान देती है.

'रामजादों' की सरकार चाहते हैं या 'हरामजादों' की
वर्ष 2014 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान एक सभा में केंद्रीय राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने असंसदीय भाषा का इस्तेमाल किया. उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोग यह निर्णय कर लें कि वे 'रामजादों' (राम के अनुयायी) की सरकार चाहते हैं या हरामजादों की? इस बयान की खूब आलोचना हुई.

यहां तक कि संसद में हंगामा हुआ. इसके बाद साध्वी ने अपने बयान को लेकर कहा कि "यदि मेरे शब्दों से किसी की भावना को ठेस पहुंची है तो मैं खेद व्यक्त करती हूं. यदि सदस्य चाहते हैं तो मैं माफी मांगने के लिए भी तैयार हूं." संसद में जारी तनाव को दूर करने की कोशिश करते हुए लोकसभा में कहा था कि "मेरा गलत उद्देश्य नहीं था. लेकिन जो शब्द भी मैंने बोले, उस पर मैं खेद जताती हूं और जो कहा उसे स्वीकार करती हूं."

controversial statements, BJP leader, Taj Mahal, Sadhvi Niranjan Jyoti, sangeet som, Giriraj Singh, Dayashankar Singh, BSP chief Mayawati, Swati Singh, narendra modi, amit shah, keshav prasad maurya, Sakshi Maharaj, yogi adityanath, culture of india, भाजपा नेताओं के विवादास्पद बयान, ताजमहल, साध्वी निरंजन ज्योति, संगीत सोम, गिरिराज सिंह, दयाशंकर सिंह, बसपा प्रमुख मायावती, स्वाती सिंह, नरेंद्र मोदी, अमित शाह, केशव प्रसाद मौर्य, साक्षी महाराज, योगी आदित्यनाथ, भारत की संस्कृति, Hate Speech              साध्वी निरंजन ज्योति (PTI)

पार्टी ने क्या किया?
केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंत्री की टिप्पणी से सरकार को अलग करते हुए इस बयान के लिए खेद जताया. लेकिन साध्वी की कुर्सी का कुछ नहीं बिगड़ा. बल्कि इस बयान के बाद वह और सुर्खियों में आ गईं.

'यदि राजीव गांधी ने किसी नाइजीरियाई महिला से शादी की होती'
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के विषय में नस्लीय टिप्पणी कर विवाद खड़ा कर दिया था. गिरिराज ने कहा था कि अपने गोरे रंग के कारण सोनिया गांधी कांग्रेस की अध्यक्ष बनी हैं. गिरिराज सिंह ने अप्रैल 2015 में हाजीपुर में कहा कि 'अगर राजीव गांधी किसी नाइजीरियाई महिला से शादी किए होते, जो गोरी चमड़ी वाली नहीं होती... तो क्या कांग्रेस पार्टी उनका नेतृत्व स्वीकार करती?' हालांकि विवाद बढ़ने के बाद गिरिराज सिंह ने संसद में माफी मांग ली थी.

controversial statements, BJP leader, Taj Mahal, Sadhvi Niranjan Jyoti, sangeet som, Giriraj Singh, Dayashankar Singh, BSP chief Mayawati, Swati Singh, narendra modi, amit shah, keshav prasad maurya, Sakshi Maharaj, yogi adityanath, culture of india, भाजपा नेताओं के विवादास्पद बयान, ताजमहल, साध्वी निरंजन ज्योति, संगीत सोम, गिरिराज सिंह, दयाशंकर सिंह, बसपा प्रमुख मायावती, स्वाती सिंह, नरेंद्र मोदी, अमित शाह, केशव प्रसाद मौर्य, साक्षी महाराज, योगी आदित्यनाथ, भारत की संस्कृति, Hate Speech           केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह

कार्रवाई क्या हुई?

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गिरिराज सिंह से बातचीत की. उन्हें ऐसे बयानों से बचने की वार्निंग दी. लेकिन उन्हें पद से हटाए जाने की मांग को खारिज कर दिया. हालांकि दिल्ली में नाइजीरिया के उच्चायोग ने इस टिप्पणी पर कड़ी आपत्ति जताई थी.

'हर हिंदू महिला को कम से कम चार बच्चे पैदा करने चाहिए'
जनवरी 2015 में यूपी के उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज ने लव जिहाद का मुद्दा उठाते हुए कहा था कि मदरसे इस देश में आतंकवादी बना रहे हैं. उनके छात्र हिंदू लड़कियों से शादी कर रहे हैं. ताकि वह इस देश में मुसलमानों की जनसंख्या बढ़ा सकें. इसलिए ''हिंदुत्व की रक्षा के लिए हर हिंदू महिला को कम से कम चार बच्चे पैदा करने चाहिए.'' इसके बाद उन्होंने इस साल जनवरी में मेरठ के एक मंदिर परिसर में आयोजित धार्मिक कार्यक्रम के दौरान कहा, "चार बीवी और 40 बच्चे हमारे देश को स्वीकार नहीं है."

controversial statements, BJP leader, Taj Mahal, Sadhvi Niranjan Jyoti, sangeet som, Giriraj Singh, Dayashankar Singh, BSP chief Mayawati, Swati Singh, narendra modi, amit shah, keshav prasad maurya, Sakshi Maharaj, yogi adityanath, culture of india, भाजपा नेताओं के विवादास्पद बयान, ताजमहल, साध्वी निरंजन ज्योति, संगीत सोम, गिरिराज सिंह, दयाशंकर सिंह, बसपा प्रमुख मायावती, स्वाती सिंह, नरेंद्र मोदी, अमित शाह, केशव प्रसाद मौर्य, साक्षी महाराज, योगी आदित्यनाथ, भारत की संस्कृति, Hate Speech           विवादित बयानों से सुर्खियों में रहने वाले साक्षी महाराज

पार्टी ने क्या किया?
सांसद के विवादित बयान पर बीजेपी ने किनारा कर लिया था. केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा था कि "इस तरह की सोच न तो बीजेपी की है न ही सरकार की. ये साक्षी महाराज की निजी राय है."

दयाशंकर सिंह ने मायावती पर की थी अभद्र टिप्पणी
वर्ष 2016 में भारतीय जनता पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के तत्कालीन उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने बसपा प्रमुख मायावती पर अभद्र टिप्पणी की थी. उनका बयान पार्टी के लिए गले की हड्डी बन गया था. इसके बाद न सिर्फ बसपा ने आंदोलन शुरू कर दिया था बल्कि यह मुद्दा राज्य राज्यसभा में जमकर गूंजा. दयाशंकर सिंह की गिरफ्तारी की मांग की गई.

भाजपा ने क्या किया?
खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह के निर्देश पर भाजपा ने तत्काल दयाशंकर को पद से हटा दिया. उन्हें 6 साल के लिए पार्टी से निलंबित किया गया. तब यूपी के अध्यक्ष रहे केशव प्रसाद मौर्य ने दावा किया कि अब कोई ऐसा बयान नहीं देगा.

लेकिन जब बसपा नेताओं ने उनकी बेटी पर अभद्र टिप्पणी की तो दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाती सिंह ने मोर्चा संभाला. उन्हें बीजेपी महिला मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया. टिकट दी गई. वह चुनाव जीत गईं और अब उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री हैं.  बाद में दयाशंकर सिंह का निलंबन रद्द कर दिया गया.

controversial statements, BJP leader, Taj Mahal, Sadhvi Niranjan Jyoti, sangeet som, Giriraj Singh, Dayashankar Singh, BSP chief Mayawati, Swati Singh, narendra modi, amit shah, keshav prasad maurya, Sakshi Maharaj, yogi adityanath, culture of india, भाजपा नेताओं के विवादास्पद बयान, ताजमहल, साध्वी निरंजन ज्योति, संगीत सोम, गिरिराज सिंह, दयाशंकर सिंह, बसपा प्रमुख मायावती, स्वाती सिंह, नरेंद्र मोदी, अमित शाह, केशव प्रसाद मौर्य, साक्षी महाराज, योगी आदित्यनाथ, भारत की संस्कृति, Hate Speech                स्वाती सिंह और दयाशंकर सिंह

'बीजेपी को हराना यहां पाकिस्तान बनाने के बराबर है'
वर्ष 2016 के यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान मेरठ की एक रैली में बीजेपी विधायक संगीत सोम ने कहा कि "यूपी का अगला चुनाव हिन्दुस्तान और पाकिस्तान के बीच जंग की तरह है. इसमें बीजेपी को हराना यहां पाकिस्तान बनाने के बराबर है." संगीत सोम ने कहा कि "यहां लड़ाई हिन्दुस्तान और पाकिस्तान की है, ये ध्यान रखिए. एक तरफ पाकिस्तान है, एक तरफ हिंदुस्तान है. तुम्हें क्या करना है ये सोच लो. क्या करना है? एकतरफा कर लो मामला."

पार्टी ने क्या किया?
बीजेपी ने संगीत सोम के इस बयान से खुद को अलग किया. यूपी बीजेपी के तत्कालीन अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा था कि ये भाजपा नहीं कह रही है और न हम इस बात का समर्थन करते हैं, लेकिन हम इस बयान की समीक्षा करेंगे. उसके बाद ही कोई निर्णय लेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading