Assembly Banner 2021

बंगाल के कूचबिहार में मिला भाजपा कार्यकर्ता का शव, विजयवर्गीय बोले- ये मतदाताओं को डराने की कोशिश

कूचबिहार में मिला भाजपा कार्यकर्ता का शव (Photo-ANI)

कूचबिहार में मिला भाजपा कार्यकर्ता का शव (Photo-ANI)

West Bengal Assembly Elections: भाजपा के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने मंडल अध्यक्ष का शव मिलने पर कहा कि यह दीदी- भाइपो खेला है. वह पश्चिम बंगाल के पहले चरण के चुनाव से पहले मतदाताओं को डराना चाहते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2021, 4:06 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कूचबिहार में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) के मंडल अध्यक्ष का शव मिला है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक भाजपा मंडल अध्यक्ष का शव बुधवार को दिनहाटा में पार्टी दफ्तर के पास मिला. भाजपा कार्यकर्ता ने कहा है कि यह पूर्व नियोजित हत्या है. तृणमूल कांग्रेस चाहती है कि हम भाजपा कार्यकर्ता डर कर घर पर बैठ जाएं लेकिन हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे. वहीं भाजपा के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि यह दीदी- भाइपो खेला है. वह पश्चिम बंगाल के पहले चरण के चुनाव से पहले मतदाताओं को डराना चाहते हैं. लेकिन हम सोनार बांग्ला बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

इससे पहले 16 मार्च को भी भाजपा के एक कार्यकर्ता का शव बरामद हुआ था. बीरभूम के इलमबाजार इलाके में एक नदी के पास से भाजपा के 24 वर्षीय बूथ स्तरीय कार्यकर्ता का शव बरामद हुआ था. पार्टी ने इस संबंध में चुनाव से शिकायत की थी. बापी अंकुर का शव नडास गांव की शाल नदी के पास से बरामद हुआ. पार्टी और अंकुर के परिवार ने आरोप लगाया है कि उसकी गला घोंट कर हत्या की गई है. बता दें भारतीय जनता पार्टी विधानसभा चुनावों में राजनीतिक हत्याओं के मुद्दे को जोर-शोर से उठा रही है. भाजपा का दावा है कि पिछले कुछ सालों में उसके सैकड़ों कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है.

ये भी पढ़ें- कोरोना की नई लहर, वैक्‍सीन के असर पर शक: जानिये ब्रिटेन के कोविड स्‍ट्रेन के बारे में सबकुछ



बंगाल ने भारत को वंदे मातरम की भावना में बांधा
वहीं इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बंगाल ने पूरे भारत को ‘वंदे मातरम’ की भावना में बांधा है और उसी बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी लोगों को ‘‘बोहिरागोतो’’ (बाहरी) बता रही हैं. उन्होंने ऐलान किया कि अगर भाजपा सत्ता में आयी तो राज्य का मुख्यमंत्री बंगाल की धरती के बेटे को ही बनाया जाएगा.

पूर्व मेदिनीपुर जिले के कांठी में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि बंगाल बंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय, रबींद्रनाथ टैगोर और सुभाष चंद्र बोस जैसे नायकों की भूमि है और इस धरती पर कोई भारतीय बाहरी नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘बंगाल ने पूरे भारत को ‘वंदे मातरम’ की भावना में बांधा है और उस बंगाल में ममता दीदी ‘‘बोहिरागोतो’’ (बाहरी होने) की बात कर रही हैं. कोई भारतीय यहां बाहरी नहीं है, वे भारत माता के बच्चे हैं.’’

मोदी ने कहा, ‘‘हमें ‘पर्यटक’ कहा जा रहा है, हमारा मजाक उड़ाया जा रहा है, हमारा अपमान किया जा रहा है. दीदी, रबींद्रनाथ के बंगाल के लोग किसी को भी बाहरी नहीं मानते.’’ उन्होंने रैली में कहा कि जब बंगाल में भाजपा सरकार बनाएगी तो मुख्यमंत्री इसी धरती का कोई बेटा होगा.

दरअसल, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भाजपा और प्रधानमंत्री का जिक्र करते हुए अक्सर अपने भाषणों में कहती हैं कि वह दिल्ली या गुजरात से आए ‘‘बाहरी’’ लोगों को बंगाल में शासन करने नहीं देंगी. उनके इस बयान पर छिड़ी ‘‘स्थानीय बनाम बाहरी’’ की बहस के बीच मोदी की यह टिप्पणियां आई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज