Home /News /nation /

corbevax gets dcgi nod as a covid 19 booster dose announces biological e limited

18+ के लिए 'कोर्बेवैक्स' वैक्सीन को मंजूरी, बूस्टर डोज के तौर पर किया जा सकेगा इस्तेमाल 

18+ के लिए कोर्बेवैक्स वैक्सीन को मंजूरी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

18+ के लिए कोर्बेवैक्स वैक्सीन को मंजूरी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Corbevax Vaccine: बायोलॉजिकल ई ने बताया कि कोर्बेवैक्स (Corbevax) वैक्सीन को 18 साल और उससे अधिक आयु वाले लोगों के बूस्टर डोज के लिए मंजूरी दे दी गई है. कोर्बेवैक्स टीका इंट्रामस्क्युलर यानी मांसपेशियों के रास्ते लगाया जाता है. इसकी दो खुराक 28 दिनों के अंतराल पर दी जाती है. इससे पहले ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने अप्रैल के आखिरी में 5 से 12 साल के बच्चों के लिए कोर्बेवैक्स की इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए अनुमति दी थी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: कोविड-19 वैक्सीन कोर्बेवैक्स (Corbevax) को 18 साल और उससे अधिक आयु वाले लोगों के बूस्टर डोज के लिए मंजूरी दे दी गई है. वैक्सीन का निर्माण करने वाली बायोलॉजिकल ई ने इसकी जानकारी दी. इससे पहले ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने अप्रैल के आखिरी में 5 से 12 साल के बच्चों के लिए कोर्बेवैक्स की इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए अनुमति दी थी.

इस साल मार्च में जब भारत में 12 से 14 वर्ष के आयु के बच्चों के वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई थी, उस समय कोर्बेवैक्स वैक्सीन का उपयोग किया गया था. सरकार के टीकाकरण कार्यक्रम के तहत इसकी कीमत 145 रुपए तय की गई.

बायोलॉजिकल ई ने कोर्बेवैक्स के निर्माण में टेक्सास चिल्ड्रन हॉस्पिटल और बायलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन के साथ गठबंधन किया था. बायोलॉजिकल इवांस ने कहा, तीसरे चरण के मानव परीक्षणों में कोर्बेवैक्स ने कोरोना के डेल्टा संस्करण के खिलाफ कोविशील्ड की तुलना में बेहतर प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया का प्रदर्शन किया. कोरोना के डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ इसका असर 80 प्रतिशत से अधिक पाया गया.

कोर्बेवैक्स: 12 से 14 साल के बच्चों के लिए भारत की पहली RBD प्रोटीन कोरोना वैक्सीन; जानें अहम बातें

कोर्बेवैक्स टीका इंट्रामस्क्युलर यानी मांसपेशियों के रास्ते लगाया जाता है. इसकी दो खुराक 28 दिनों के अंतराल पर दी जाती है. कोर्बेवैक्स 0.5 मिलीलीटर (एकल खुराक) और 5 मिलीलीटर (दस खुराक) की शीशी में उपलब्ध है. इसे 2 से 8 डिग्री सेल्सियस पर संरक्षित किया जाता है.

बता दें कि ओमिक्रॉन वेरिएंट के सब वेरिएंट्स BA.4 और BA.5 के कारण देश के कुछ इलाकों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं. इसकी रोकथाम के लिए हेल्थ एक्सपर्ट्स ने कोविड वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने और बूस्टर डोज लेने की सलाह दी है. ताकि कोरोना के नए वेरिएंट्स के खिलाफ ज्यादा बेहतर इम्युनिटी मिल सके.

Tags: Corona vaccination, Corona vaccine

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर