खतरनाक हुआ कोरोना: भर्ती होने के 7 से 12 घंटे में 20% मरीजों की हो रही मौत

देश में कोरोना से होने वाली मौत का आंकड़ा हर दिन बढ़ता जा रहा है. 
 (पीटीआई फाइल फोटो)

देश में कोरोना से होने वाली मौत का आंकड़ा हर दिन बढ़ता जा रहा है. (पीटीआई फाइल फोटो)

पिछले एक दिन में देश में कोरोना (Corona) के चलते 2104 मरीजों ने दम तोड़ा (Corona Death) है. कोरोना के आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो हर एक मिनट में कोरोना से एक से अधिक मरीज की मौत हो रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2021, 8:47 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना संक्रमण की स्थिति भयानक रूप लेती जा रही है. हर दिन कोरोना (Corona) संक्रमित मरीजों की संख्‍या बढ़ती जा रही है. अस्‍पतालों में बेड पूरी तरह से भर चुके हैं और ज्‍यादातर राज्‍यों में ऑक्‍सीजन (Oxygen) की किल्‍लत महसूस की जाने लगी है. कोरोना की खतरनाक स्थिति का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 5 से 6 फीसदी मरीज ऐसे हैं जो अस्‍पताल (Hospital) पहुंचने से पहले ही दम तोड़ रहे हैं.

वहीं जिन मरीजों को अस्‍पताल में जगह भी मिल रही है उनमें से 20 प्रतिशत की मौत 7 से 12 घंटे के अंदर हो जा रही है. पिछले एक दिन में देश में कोरोना के चलते 2104 मरीजों ने दम तोड़ा है. कोरोना के आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो हर एक मिनट में कोरोना से एक से अधिक मरीज की मौत हो रही है.



ये हालात पिछले 15 दिनों से देश के अलग अलग राज्‍यों में देखने को मिल रहे हैं. दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, अहमदाबाद, कोच्चि, लखनऊ, चंडीगढ़, रायपुर भोपाल, इंदौर सहित कई शहरों में ऑक्सीजन की मांग 40 फीसदी तक बढ़ गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधीन नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी ) की रिपोर्ट के मुताबिक 12 से 21 अप्रैल के बीच कोरोना का कहर टूटा है. हालात ये हैं कि अस्‍पताल में जगह मिलने के बाद भी हर पांचवां व्‍यक्ति 12 घंटे में अपना दम तोड़ रहा है. जबकि इससे पहले के सप्ताहों में स्थिति यह थी कि 25 से 30 फीसदी मौतें मरीजों के अस्‍पताल में भर्ती होने के 48 घंटे में हो रही थीं.
इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र: विरार के कोविड अस्पताल में लगी आग, ICU में 13 मरीजों की जलकर मौत

ऑक्सीजन की कमी मौत की बड़ी वजह

रिपोर्ट के मुताबिक ऑक्‍सीजन की कमी के चलते कोरोना संक्रमित मरीजों की स्थिति तेजी से खराब हो रही है. अस्पतालों में मृत हालत में पहुंचने वाले मरीजों की संख्‍या तेजी से बढ़ी है. एनसीडीसी की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 40 फीसदी मौतें अस्पताल में भर्ती होने के 72 घंटे में हो रही हैं. वहीं हर चार में से एक मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घंटे में हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज