अपना शहर चुनें

States

COVID-19: कर्नाटक में फिर कोरोना ब्‍लास्‍ट, एक ही कॉलेज के 40 छात्र कोरोना पॉजिटिव

बेंगलुरु के ही एसएनएल राज लेकव्‍यू अपार्टमेंट के 103 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं.. (प्रतिकात्मक तस्वीर)
बेंगलुरु के ही एसएनएल राज लेकव्‍यू अपार्टमेंट के 103 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं.. (प्रतिकात्मक तस्वीर)

बेंगलुरु (Bengaluru) के मंजूश्री कॉलेज ऑफ नर्सिंग के 210 छात्रों में से 40 छात्र कोरोना (Corona) संक्रमित पाए गए हैं. कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) छात्रों में से 18 को विक्‍टोरिया अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है जबकि अन्‍य को हॉस्‍टल में ही क्‍वारंटाइन किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 17, 2021, 11:51 AM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. कोरोना (Corona) को लेकर जिस बात का डर था वहीं हुआ. तेजी से कम होते कोरोना ग्राफ ने एक बार फिर तेजी पकड़ना शुरू कर दिया है. केरल (Kerala) में कोराना ब्‍लास्‍ट होने के बाद अब कर्नाटक (Karnataka) में भी कोरोना के बढ़ते आंकड़ों ने सरकार की नींद हराम कर दी है. यहां पर एक कॉलेज के 40 छात्र और एक अपार्टमेंट के 103 लोग कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) मिले हैं. खबर है कि बेंगलुरु के मंजूश्री कॉलेज ऑफ नर्सिंग के 210 छात्रों में से 40 छात्र कोरेाना संक्रमित पाए गए हैं. कोरोना पॉजिटिव छात्रों में से 18 को विक्‍टोरिया अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है जबकि अन्‍य को हॉस्‍टल में ही क्‍वारंटाइन किया गया है. इनमें से ज्‍यादा छात्र केरल के रहने वाले हैं.

वहीं बेंगलुरु के ही एसएनएल राज लेकव्‍यू अपार्टमेंट के 103 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. यहां पर खतरा इसलिए भी ज्‍यादा दिखता है क्‍योंकि इन 103 लोगों में से 96 लोगों की उम्र 60 साल से ज्‍यादा बताई जा रही है. खबर है कि हाल ही में अपार्टमेंट के अंदर एक पार्टी हुई थी. पार्टी के बाद से अपार्टमेंट में कई लोग बीमार बताए जा रहे थे. लोगों की बीमारी को देखते हुए सभी लोगों की जांच का फैसला लिया गया. जांच के दौरान 103 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. बेंगलुरु महानगरपालिका (बीबीएमपी) कमिश्नर ने कहा है कि कोरोना के बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए सख्‍त कदम उठाए जा रहे हैं.

कोरोना के नए मामले सामने आने के बाद कर्नाटक ने केरल से आने वाले लोगों को लेकर सख्ती बढ़ा दी है. राज्‍य प्रशासन के मुताबिक केरल से कर्नाटक आने वाले लोगों को 72 घंटे पहले की नेगेटिव आरटी पीसीआर रिपोर्ट दिखानी होगी. कोविड नोडल अधिकारी की अनुमति के बिना हॉस्टल और कॉलेज में रह रहे लोगों से उनके रिश्तेदारों को मिलने नहीं दिया जाएगा.
इसे भी पढ़ें :- कोरोना का डर, कर्नाटक ने केरल और विदेश से लौटने वाले यात्रियों के लिए जारी किए नए नियम



22 फरवरी से खोले जाने हैं स्‍कूल
कोरोना के नए मामले सामने आने के बीच कक्षा 6 से कक्षा 8 तक के स्‍कूल 22 फरवरी से खोले जाने हैं. कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए अभिभावकों ने चिंता जताई है. अभिभावकों का कहना है कि अगर एक भी छात्र को कोरोना हुआ तो पूरी क्‍लास के छात्र इसकी चपेट में आ सकते हैं. अभिभावकों का कहना है कि हमें लगता है कि सरकार को इस पर विचार करना चाहिए और कुछ और दिनों तक इंतजार करना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज