कोरोना के मामले घटे लेकिन दक्षिण के राज्‍यों ने बढ़ाई चिंता, ऑक्‍सीजन की मांग भी बढ़ी

कोरोना का संक्रमण अब केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और असम में तेजी से फैल रहा है.

कोरोना का संक्रमण अब केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और असम में तेजी से फैल रहा है.

बता दें कि कोरोना (Corona) का संक्रमण अब केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और असम में तेजी से फैल रहा है. यही कारण है कि इन राज्‍यों में कोरोना के बढ़ते मामलों के साथ ऑक्‍सीजन (Oxygen) की मांग भी बढ़ने लगी है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. देश में कोरोना (Corona) की दूसरी लहर (Corona Second Wave) से संक्रमित मरीजों की संख्‍या में भले ही कमी देखने को मिल रही हो लेकिन कुछ राज्‍यों की स्थिति अभी भी परेशान करने वाली है. दक्षिण के राज्‍यों (South States) में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामले अब देश की चिंता बढ़ाने लगे हैं. इन राज्‍यों में कोरोना के बढ़ते मामलों के साथ ऑक्‍सीजन की मांग भी बढ़ने लगी है. बता दें कि कोरोना का संक्रमण अब केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और असम में तेजी से फैल रहा है.

ऑल इंडिया इंडस्ट्रियल गैस मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (AIIGMA) के अध्यक्ष साकेत टीकू ने बताया कि दक्षिण के राज्‍यों में जिस तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं उसी रफ्तार से इन राज्‍यों में ऑक्‍सीजन की मांग भी बढ़ती जा रही है. इन राज्यों में ऑक्सीजन की मांग पिछले साल मार्च में 850 मीट्रिक टन से बढ़कर सितंबर 2020 में लगभग 3,000 मीट्रिक टन हो गई. जबकि अब प्रति दिन लगभग 9,000 मीट्रिक टन की बिक्री हो रही है. अच्‍छी बात ये है कि कई राज्‍यों में कोरोना से हालात सुधर चुके हैं, जिसके कारण इन राज्‍यों में ऑक्‍सीजन की कमी देखने को नहीं मिल रही है.


इसे भी पढ़ें :- कोरोना की दूसरी लहर से मिली थोड़ी राहत पर ब्‍लैक फंगस ने बढ़ाई राज्‍यों की टेंशन
अधिकारियों के मुताबिक राज्य के लिए पर्याप्त चिकित्सा ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए केरल में बफर स्टॉक पिछले दो दिनों में बढ़ा दिया गया है. ऑल इंडिया इंडस्ट्रियल गैस मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन के मुताबिक तमिलनाडु में मेडिकल ऑक्‍सीजन का आवंटन अप्रैल में 220 मीट्रिक टन से बढ़ा दिया गया है.

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य को प्रतिदिन 650-700 मीट्रिक टन की आपूर्ति की जा रही है. इसी तरह केरल में इस समय 400 मीट्रिक टन ऑक्‍सीजन की आपूर्ति की जा रही है. इसी तरह ओडिशा और असम में 150-160 मीट्रिक टन और 90-100 मीट्रिक टन की ऑक्‍सीजन की आपूर्ति की जा रही है.

इसे भी पढ़ें :- नई मुसीबत: ब्लैक से काफी ज्यादा घातक है व्हाइट फंगस, जानें कौन से अंग होते हैं प्रभावित



बता दें कि केरल में गुरुवार को 30491, तमिलनाडु में 35579, आंध्र प्रदेश में 22,610, ओडिशा में 11,498 और असम में 6573 नए मामले सामने आए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज