फिर यूरोप के अस्पतालों में भीड़, भारत में बन रहा रिकॉर्ड, पूरी दुनिया में बढ़ा कोरोना का साया

हंगरी यूरोप में कोरोना की तीसरी लहर का केंद्र बन गया है. (सांकेतिक तस्वीर-ap)

हंगरी यूरोप में कोरोना की तीसरी लहर का केंद्र बन गया है. (सांकेतिक तस्वीर-ap)

हंगरी (Hungary) में कोरोना मामलों की बढ़ी संख्या के कारण अस्पतालों (Hospitals) पर बेहद ज्यादा दबाव है. हंगरी यूरोप में कोरोना की तीसरी लहर का केंद्र (Hotspot of third wave) बनकर उभरा है. वहीं भारत में भी कोरोना मरीजों की संख्या बेहद तेजी के साथ बढ़ रही है. महाराष्ट्र देश का सर्वाधिक प्रभावित राज्य है. बुधवार को अकेले महाराष्ट्र में 31 हजार से ज्यादा नए केस सामने आए हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2021, 11:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Corona Virus) एक बार फिर दुनियाभर के देशों में तेजी के साथ पैर पसार (Spreading Fast) रहा है. इसी क्रम में मध्य यूरोपीय (Central Europe) देशों में तेजी के साथ मामले बढ़ रहे हैं. हंगरी (Hungary) में कोरोना मामलों की बढ़ी संख्या के कारण अस्पतालों पर बेहद ज्यादा दबाव की स्थिति है. हंगरी यूरोप में कोरोना की तीसरी लहर का केंद्र बनकर उभरा है. वहीं भारत में भी कोरोना मरीजों की संख्या बेहद तेजी के साथ बढ़ रही है. महाराष्ट्र देश का सर्वाधिक प्रभावित राज्य है. बुधवार को अकेले महाराष्ट्र में 31 हजार से ज्यादा नए केस सामने आए हैं.

यूरोप में बीते वर्ष कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में इटली और यूके रहे थे. इटली में कोरोना के हालत ने दुनियाभर की निगाहें खींची थीं. वो कोरोना का शुरुआती समय था. अब हंगरी की स्थिति चिंताजनक बन चुकी है.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

एक्सपर्ट्स का कहना है कि मध्य यूरोप में बढ़े मामलों के पीछे कोरोना का नया यूके स्ट्रेन जिम्मेदार है. नए वायरस को स्टडी कर रहे वैज्ञानिकों ने पाया था कि कोरोना वायरस शुरुआत से अब तक 23 बार म्यूटेशन की प्रक्रिया से गुजर चुका है. बीच के काफी सारे म्यूटेशन में वायरस खतरनाक नहीं हुआ, वहीं ये नया प्रकार संक्रमण की दृष्टि से काफी घातक माना जा रहा है. नए कोरोना वायरस में कांटेदार संरचना 8 बार म्यूटेशन से गुजरकर 8 गुनी ज्यादा कांटेदार हो चुकी है. नए वायरस में जो कांटेदार संरचना ज्यादा होती है, उसके जरिए वो शरीर में और आसानी से घुस जाता है. कोरोना की यह कांटेदार संरचना ही उसे हमारे लिए ज्यादा घातक बना चुकी है.
कैसे हैं भारत के हालत

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश के 10 सर्वाधिक प्रभावित जिलों में 9 महाराष्ट्र के हैं और 1 जिला कर्नाटक है. महाराष्ट्र में इस समय कुल मामले 25 लाख 64 हजार 881 हैं, जबकि 22 लाख 62 हजार 593 लोग इलाज पाकर स्वस्थ हुए हैं. वायरस संक्रमण के चलते 53,684 लोग मौत के शिकार हुए हैं. राज्य में एक्टिव मामलों की संख्या 2 लाख 47 हजार 299 है.

इस बीच कई राज्यों में सरकारों ने अलग-अलग प्रतिबंधों की घोषणा कर दी है. पंजाब के कई जिलों नाइट कर्फ्यू लगाया गया है तो मध्य प्रदेश में भी प्रतिबंध लगाए गए हैं. महाराष्ट्र के कई जिलों में लॉकडाउन और कर्फ्यू जैसे कदम उठाए गए हैं. कोरोना नियम तोड़ने वालों से पुलिस जुर्माना वसूल कर रही है. इसके साथ ही केंद्र सरकार ने एक अप्रैल से कोरोना वैक्सीनेशन के नियमों में ढील देते हुए 45 से अधिक उम्र के सभी लोगों को शामिल कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज