वित्त वर्ष 2020-21 में आया रिकॉर्ड विदेशी निवेश, देश में गुजरात रहा दूसरे साल भी FDI में अव्वल

2020-21 में देश में आया सबसे ज्यादा विदेशी निवेश.

2020-21 में देश में आया सबसे ज्यादा विदेशी निवेश.

कोरोना महामारी के दौरान देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है लेकिन विदेशी इंवेस्टमेंट के मामले में ये वित्तीय वर्ष काफी अच्छा रहा. देश में 81.72 बिलियन अमेरिकी डॉलर का इंवेस्टमेंट आया, जिसका 37 फीसदी अकेले गुजरात को हासिल हुआ है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना महामारी के दौरान देश में जहां अर्थव्यवस्था को नुकसान हुआ है, वहीं विदेशी निवेश के मामले में गुजरात देश में अव्वल रहा है. कोरोना काल में लगातार दूसरे साल गुजरात में देश के कुल निवेश का 78 फीसदी हिस्सा रहा है. कोरोना काल में कोविड के संक्रमण, लॉकडाउन और आंशिक लॉकडाउन के कारण गुजरात में देश के कुल निवेश का कुल 78 फीसदी हिस्सा आया. जब देश की अर्थव्यवस्था पर कोविड क्राइसिस का गहरा असर पड़ा है, ऐसे वक्त में भी गुजरात विदेशी निवेश आकर्षित करने में सफल रहा है. वर्ष 2020-21 में देश के कुल प्रत्यक्ष विदेशी निवेश FDI से 37% FDI प्राप्त करके गुजरात लगातार चौथे वर्ष देश में औद्योगिक प्रत्यक्ष निवेश की सूची में सबसे ऊपर है. इसी के साथ कोरोना काल में गुजरात लगातार दूसरे साल विदेशी निवेश आकर्षित करने में देश में पहले स्थान पर रहा है.

इस वित्त वर्ष के दौरान गुजरात में अधिकांश विदेशी निवेश कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर क्षेत्र में 94 प्रतिशत आया है. इस क्षेत्र में देश के कुल निवेश का 78% अकेले गुजरात का है. इसके साथ वित्त वर्ष 2020-21 में 6.20 लाख करोड़ रुपये का विदेशी निवेश हुआ.

गुजरात के बाद महाराष्ट्र और कर्नाटक

गुजरात के बाद महाराष्ट्र 27% के साथ दूसरे और कर्नाटक 13% के साथ तीसरे स्थान पर है. निवेश करने वाले देशों में सिंगापुर का 29%, अमेरिका का 23% और मॉरिशस का 9% हिस्सा है. राज्य सरकार की उद्योग हितैषी पारदर्शी नीति और विभिन्न प्रोत्साहनों के बाद भारत विदेशी उद्यमियों के लिए निवेश का सर्वोत्तम विकल्प बन गया है. देश में अमेरिका का निवेश 227 फीसदी और यूके का 44 फीसदी बढ़ा है. पिछले साल की तुलना में कम्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर, रबर के सामान, खुदरा व्यापार, फार्मा, बिजली के उपकरणों में निवेश 100% बढ़ा है. सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर सेक्टर 44% निवेश के साथ शीर्ष पर रहा है.
ये भी पढ़ें- Covaxin को मंजूरी के मामले में WHO ने भारत बायोटेक से मांगी कुछ और जानकारियां 

2020-21 में बढ़ा 10 फीसदी विदेशी निवेश

भारत को 2019-20 में 74.39 बिलियन यूएस डॉलर का 10% ज्यादा FDI निवेश प्राप्त हुआ, जो 2020-21 के दौरान 81.72 बिलियन अमेरिकी डॉलर का अब तक का सबसे अधिक FDI इंवेस्टमेंट है. भारत सरकार के वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने देश में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश और उनमें विभिन्न राज्यों के योगदान की एक सूची जारी की है. सूची में कहा गया है कि प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) में प्रभावी नीतिगत सुधार, निवेश की सुविधा के साथ-साथ आसान व्यावसायिक नीतियों द्वारा किए गए प्रभावी उपायों के परिणामस्वरूप देश में विदेशी निवेश में वृद्धि हुई है. सूची में कहा गया है कि इस तरह के विभिन्न उपायों के कारण, भारत विदेशी निवेशकों की पहली पसंद बन रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज