अपना शहर चुनें

States

COVID-19 In India: देश के इन 8 हिस्सों में कोरोना का कहर ज्यादा, दिल्ली में बिगड़ते जा रहे हैं हालात

ICMR ने कहा है कि वैक्सीन आने के बाद भी सावधानियां रखनी होंगी. (सांकेतिक तस्वीर)
ICMR ने कहा है कि वैक्सीन आने के बाद भी सावधानियां रखनी होंगी. (सांकेतिक तस्वीर)

Corona Virus Update: मंत्रालय ने कहा कि 22 राज्यों और केन्द्र शासित क्षेत्रों में संक्रमण से मौत की दर, राष्ट्रीय औसत दर 1.46 प्रतिशत से कम रही. देश में संक्रमण के 4,53,956 एक्टिव मामले हैं, जो संक्रमण के अब तक के कुल मामलों का 4.83 प्रतिशत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2020, 6:39 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में फिर से कोरोना वायरस (Corona Virus) मामलों में बढ़त होने लगी है. खास बात है कि प्रदूषण से जूझ रही राजधानी दिल्ली पर कोरोना वायरस का प्रभाव काफी ज्यादा है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) से मिली जानकारी के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से हुई कुल 496 मौतों में से 71 प्रतिशित मौत के मामले आठ राज्यों और केन्द्र शासित क्षेत्रों से हैं.

मंत्रालय ने रविवार को बताया कि संक्रमण से दिल्ली में 89, महाराष्ट्र में 88 और पश्चिम बंगाल में 52 लोगों की मौत हुई. मंत्रालय ने कहा कि 22 राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों में संक्रमण से मौत की दर, राष्ट्रीय औसत दर 1.46 प्रतिशत से कम रही. देश में संक्रमण के 4,53,956 एक्टिव मामले हैं, जो संक्रमण के अब तक के कुल मामलों का 4.83 प्रतिशत हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह आठ बजे के आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 41,810 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 93,92,919 हो गई है तथा 496 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,36,696 हो गई है. मंत्रालय के अनुसार प्रतिदिन सामने आ रहे कुल मामलों के 70.43 प्रतिशत मामले आठ राज्यों और केन्द्र शासित क्षेत्रों केरल, महाराष्ट्र, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, राजस्थान,उत्तर प्रदेश, हरियाणा और छत्तीसगढ़ से हैं. केरल में 6,250 ,महाराष्ट्र में 5,965 और दिल्ली में संक्रमण के 4,998 नए मामले सामने आए हैं.



वैक्सीन के बाद भी रखनी होगी सावधानियां: ICMR
शनिवार को लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के वेबिनार में शामिल हुए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के प्रमुख प्रोफेसर बलराम भार्गव (Prof. Balram Bhargava) ने साफ किया है कि कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) आने के बाद भी हमें मास्क का इस्तेमाल जारी रखना होगा. उन्होंने कहा 'मास्क एक तरह की फैब्रिक वैक्सीन है. हम कोविड-19 को रोकने में मास्क के योगदान को नजरअंदाज नहीं कर सकते है.'

उन्होंने कहा 'हम वैक्सीन पर काम कर रहे हैं, भारत में 5 वैक्सीन उम्मीदवारों का ट्रायल चल रहा है, जिसमें से 2 वैक्सीन भारत में ही तैयार की जा रही हैं.' उन्होंने बताया 'कोविड-19 को खत्म करने के लिए वैक्सीन काफी नहीं होंगी. हमें सुरक्षा और स्वास्थ्य से जुड़ी सावधानियों का पालन करना होगा.' (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज