Corona Lockdown: बाहर जाते समय मास्क नहीं पहन रहा था बेटा, पिता ने कर दी हत्या

Corona Lockdown: बाहर जाते समय मास्क नहीं पहन रहा था बेटा, पिता ने कर दी हत्या
उन्होंने बताया कि परिजनों ने खेत से लौटते समय उसका शव पड़ा देखा. (प्रतीकात्मक फोटो)

कोलकाता (Kolkata) में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान 78 साल के बुजुर्ग ने बाहर जाते समय मास्क नहीं पहनने पर अपने 45 साल के विकलांग बेटे की हत्या कर दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2020, 10:29 AM IST
  • Share this:
कोलकाता. कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए कई राज्यों में पब्लिक प्लेस पर जाते समय मास्क (Mask) पहनना अनिवार्य कर दिया गया है, लेकिन इसके बावजूद भी कई लोग ऐसे हैं, जो इन नियमों का पालन नहीं कर रहे. कोलकता (Kolkata) में शनिवार को एक ऐसा ही बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां 78 साल के एक बुजुर्ग ने बाहर जाते समय मास्क नहीं पहनने पर अपने 45 साल के विकलांग बेटे की हत्या कर दी. व्यक्ति ने हत्या के बाद पुलिस स्टेशन जाकर सरेंडर भी कर दिया. आरोपी को गिरफ्तार कर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है.

ये था पूरा मामला
कोलकाता पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि शाम 7 बजे के आसपास आरोपी बंशीधर मलिक श्यामपुकुर पुलिस स्टेशन में आया और उसने कहा कि उसने शाम 5:30 बजे अपने बेटे सिरशेंदु मलिक की हत्या कर दी है. आरोपी ने विकलांग बेटे की हत्या एक कपड़े से गला घोंटकर की. उसके बाद स्थानीय पुलिस स्टेशन के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने कोलकाता पुलिस को भी सूचित कर घटना की जानकारी दी.

ये भी पढ़ें: मुंबई के पास वसई में 8 दिन का नवजात कोरोना संक्रमित,मां में नहीं है संक्रमण
बचपन से था बेटा विकलांग


जांच अधिकारियों के अनुसार, आरोपी एक निजी फर्म का रिटायर्ड कर्मचारी है, उसका बेटा बेरोजगार था. वह बचपन से ही शारीरिक रूप से विकलांग था. बाप-बेटे में आए दिन झगड़ा होता रहता था. जब बेटा बाहर जाता तो उसके पिता उसे हमेशा मास्क पहनने को कहते थे, लेकिन वह उनकी बात नहीं मानता था. शनिवार को भी इसी बात को लेकर झगड़ा हो गया और गुस्सा में आकर पिता ने बेटे की हत्या कर दी.

12 मार्च को मास्क पहनना किया था अनिवार्य
उत्तरी और मध्य कोलकाता के कुछ क्षेत्रों को पश्चिम बंगाल सरकार ने रेड जोन घोषित कर दिया है, क्योंकि कई लोगों की इन क्षेत्रों में कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. 12 मार्च को राज्य सरकार ने सभी नागरिकों के लिए विशेष रूप से सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया था.

ये भी पढ़ें: कोरोना: न पानी और न ही खान, PPE सूट पहनने के बाद लगातार काम करते हैं डॉक्टर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज