Home /News /nation /

दिल्ली-मुंबई में तीसरी लहर का पीक अगले सप्ताह, IIT की रिपोर्ट- देश में जनवरी आखिरी तक रोजाना 8 लाख केस

दिल्ली-मुंबई में तीसरी लहर का पीक अगले सप्ताह, IIT की रिपोर्ट- देश में जनवरी आखिरी तक रोजाना 8 लाख केस

देश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े

देश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े

Corona third wave peak to hit Delhi, Mumbai Next Week: भारत में ओमिक्रॉन वेरिएंट के चलते कोरोना की तीसरी लहर की शुरुआत हो चुकी है और फरवरी में इस लहर का पीक देखने को मिल सकता है. मौजूदा ट्रेंड्स और डाटा के आधार पर आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर और गणितज्ञ मनिंद अग्रवाल ने News18 से बात करते हुए कहा कि, जनवरी के आखिरी तक देश में रोजाना कोरोना संक्रमण के 8 लाख मामले देखने को मिल सकते हैं. उन्होंने कहा कि अगले 3 से 4 दिन में तस्वीर साफ हो जाएगी. केंद्र सरकार के सूत्र मॉडल (जिसमें वायरस के बढ़ते केसों का गणितीय आकलन किया जाता है) का नेतृत्व करने वाले मनिंद अग्रवाल ने कहा कि, दिल्ली और मुंबई में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है और जनवरी के मध्य में इसका पीक देखने को मिल सकता है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: देश में ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) के कारण कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. दिल्ली (Delhi) और मुंबई (Mumbai) समेत देश के बड़े महानगरों में कोविड-19 (Covid-19) के केस तेजी से बढ़े हैं. कई हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि भारत में ओमिक्रॉन वेरिएंट के चलते कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave of Corona) की शुरुआत हो चुकी है और फरवरी में इस लहर का पीक देखने को मिल सकता है. मौजूदा ट्रेंड्स और डाटा के आधार पर आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर और गणितज्ञ मनिंद अग्रवाल ने News18 से बात करते हुए कहा कि, जनवरी के आखिरी तक देश में रोजाना कोरोना संक्रमण के 8 लाख मामले देखने को मिल सकते हैं. उन्होंने कहा कि अगले 3 से 4 दिन में तस्वीर साफ हो जाएगी.

    केंद्र सरकार के सूत्र मॉडल (जिसमें वायरस के बढ़ते केसों का गणितीय आकलन किया जाता है) का नेतृत्व करने वाले मनिंद अग्रवाल ने कहा कि, दिल्ली और मुंबई में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है और जनवरी के मध्य में इसका पीक देखने को मिल सकता है. सूत्र मॉडल के अनुसार, दिल्ली में रोजाना 50 से 60 हजार केस देखने को मिलेंगे जबकि मुंबई में 30 हजार मामले सामने आएंगे.

    कोरोना की तीसरी लहर के खत्म होने से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि, कोई भी महामारी पहले तेजी से फैलती है फिर उसी रफ्तार से गिरावट देखने को मिलती है. इसलिए इस बार आप पीक के बाद केसों में तेजी से गिरावट देखने को मिलेगी. साउथ अफ्रीका में यह देखने को मिल चुका है. वहीं कोरोना की चौथी लहर से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि, यह मेरा सब्जेक्ट एरिया नहीं है. हालांकि चौथी लहर जब भी आएगी वह नये वेरिएंट के कारण आएगी और इस सवाल का जवाब बायोलॉजिस्ट ज्यादा बेहतर तरीके से दे सकते हैं.

    यह भी पढ़ें: दिल्ली में रविवार को भी कोरोना के 22 हजार से ज्यादा नए मामले, 17 लोगों की मौत

    चुनाव आयोग ने देश में 15 जनवरी तक कोरोना महामारी को देखते हुए चुनावी रैलियों पर बैन लगा दिया है. इस मुद्दे को लेकर CNN-News18 ने सवाल किया कि अगर कोविड-19 के केसों में बढ़ोतरी होती है तो क्या इसे चुनावी रैलियों से जोड़कर देखा जा सकता है. इस पर मनिंद अग्रवाल ने कहा कि, इस सूत्र मॉडल में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान 16 राज्यों में आने वाले केसों का अध्ययन किया गया था.
    इनमें से 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए थे. आंकड़ों के लिहाज से इन राज्यों में कोविड-19 केसों की संख्या कम थी.

    उन्होंने कहा कि, जिस तरह से लहर फैल रही है, उसमें चुनाव से कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा. हालांकि चुनावी रैली उन सभी कारणों में से एक है जो संक्रमण को तेजी से फैलाने का कारण बनती है. अगर आप चुनावी रैली को हटा देते हैं, तो इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा. जरूरत इस बात की है कि किसी एक कारण पर ध्यान केंद्रित न किया जाए बल्कि सभी पहलुओं पर फोकस किया जाए.

    Tags: Corona, Covid-19 Case, Omicron, Third Wave

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर