टीकाकरण का नियम बदला, अब कोविन पर रजिस्‍ट्रेशन जरूरी नहीं, सीधे सेंटर पर जाकर ले सकेंगे वैक्‍सीन

भारत में कोरोना वैक्‍सीनेशन अभियान की शुरुआत 16 जनवरी को हुई थी.

covid vaccination online registration: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (Health Ministry) ने लोगों को सुविधा देते हुए कोविन ऐप (CoWIN App) या वेबसाइट पर रजिस्‍ट्रेशन की अनिवार्यता को समाप्‍त कर दिया है. सरकार के नए नियम के मुताबिक कोई भी शख्स अपने नजदीकी वैक्सीनेशन सेंटर (Vaccination Center) जाकर वैक्सीन (Vaccine) ले सकता है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर भले ही कमजोर पड़ गई हो लेकिन खतरा अभी भी कम नहीं हुआ है. कोरोना संक्रमण (Corona Infection) की इस जंग में वैक्‍सीन (Vaccine) को सबसे बड़ा सुरक्षा कवच माना जा रहा है. यही कारण है कि सरकार देश के हर एक नागरिक को कोरोना वैक्‍सीन लगवाने के लिए अभियान (Corona Vaccination Campaign) चला रही है. कोरोना वैक्‍सीन की पहुंच हर किसी तक हो ये सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने टीका लेने के नियमों को और आसान बना दिया है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (Health Ministry) ने लोगों को सुविधा देते हुए कोविन ऐप (CoWIN App) या वेबसाइट पर रजिस्‍ट्रेशन की अनिवार्यता को समाप्‍त कर दिया है. सरकार के नए नियम के मुताबिक कोई भी शख्स अपने नजदीकी वैक्सीनेशन सेंटर जाकर ऑन साइट रजिस्ट्रेशन करवा सकता है और वैक्सीन ले सकता है.

    पीआईबी की ओर से जारी बयान में सरकार की ओर से जानकारी दी गई है क‍ि कोरोना वैक्‍सीन देश के हर कोने तक पहुंचाने के लिए हेल्थ वर्कर्स और आशा कार्यकर्ता ग्रामीण इलाके और शहरी स्लम्स इलाकों में जाएंगी और लोगों को ऑन-साइट रजिस्ट्रेशन के लिए जागरूक करेंगी. बता दें कि बहुत से लोग अभी भी ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन नहीं करा पा रहे हैं. यही कारण है कि ग्रामीण इलाकों में कोरोना वैक्‍सीनेशन अभियान की रफ्तार काफी कम है.

    इसे भी पढ़ें :- COVID-19: कोरोना की तीसरी लहर को कैसे कंट्रोल कर सकती है सरकार? विशेषज्ञ ने बताए 7 उपाय

    स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से जानकारी देते हुए कहा गया है क‍ि 13 जून तक कोविन के जरिए किए गए 28.36 करोड़ रजिस्‍ट्रेशन में से 16.45 करोड़ (58 प्रतिशत) लाभार्थियों ने ऑन-साइट रजिस्‍ट्रेशन कराया है. बता दें कि भारत में कोरोना वैक्‍सीनेशन अभियान की शुरुआत 16 जनवरी को हुई थी. 16 जनवरी से अब तक देश में 26 करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना की खुराक दी जा चुकी है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से जानकारी देते हुए कहा गया है कि मंगलवार को 18-44 साल के आयु वर्ग के 13,13,438 लोगों को टीके की पहली खुराक दी गई जबकि 54,375 लोगों को दूसरी खुराक लगाई गई.

    इसे भी पढ़ें :- भारत में कोरोना टीकाकरण अभियान के 150 दिन पूरे, जानिए कहां खड़ा है देश और क्या है आगे की राह

    21 जून से हर राज्‍य में मुफ्त लगाई जाएगी कोरोना वैक्‍सीन
    सरकार ने 21 जून से फिर से टीकाकरण अभ्यास की बागडोर संभालने का फैसला किया है. केंद्र ने आश्वासन दिया है कि इस महीने 12 करोड़ वैक्सीन खुराक उपलब्ध होंगे. कोविशील्ड निर्माता सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने भी कहा है कि वह अपनी विनिर्माण क्षमता बढ़ा रहा है. इस महीने लगभग 10 करोड़ खुराक का उत्पादन और आपूर्ति करने में सक्षम होगा. भारत बायोटेक और रूस के स्पुतनिक-v वैक्सीन की दो करोड़ खुराक उपलब्ध कराई जाएंगी, जिनका आयात किया जा रहा है. ऐसे में महीने के अंत तक देश 12 करोड़ लोगों को और अधिक टीकाकरण करने में सक्षम होगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.