Corona Vaccination: कोरोना वैक्‍सीन पर केंद्र का जवाब, राज्‍यों के पास अभी भी 1.6 करोड़ डोज मौजूद 

केंद्र ने कहा राज्‍यों के पास अभी भी 1.6 करोड़ डोज मौजूद

केंद्र ने कहा राज्‍यों के पास अभी भी 1.6 करोड़ डोज मौजूद

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) ने शनिवार को कहा कि राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के पास अब भी कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) की 1.6 करोड़ से अधिक खुराक मौजूद हैं तथा अगले तीन दिन में 2.67 लाख खुराक और मुहैया कराई जाएंगी.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) को लेकर राज्‍यों और केंद्र सरकार के बीच टकराव की स्थिति बनती जा रही है. राज्‍य जहां कोरोना वैक्‍सीन न होने की दुहाई दे रहे हैं, वहीं केंद्र सरकार (central government) का कहना है कि राज्‍यों के पास वैक्‍सीन (Vaccine) की कोई कमी नहीं है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) ने शनिवार को कहा कि राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के पास अब भी कोविड-19 टीके की 1.6 करोड़ से अधिक खुराक मौजूद हैं तथा अगले तीन दिन में 2.67 लाख खुराक और मुहैया कराई जाएंगी.

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि अब तक राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को टीके की 21 करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध कराई जा चुकी हैं. बयान में कहा गया, 21 मई 2021 तक औसत के आधार पर की गई गणना के अनुसार आज सुबह आठ बजे तक 19,73,61,311 खुराक दी जा चुकी हैं जिनमें बर्बाद हुई खुराक भी शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें :- मई: महामारी का सबसे घातक महीना, मिले 71 लाख से ज्यादा मरीज, डरावने हैं मौत के आंकड़े

मंत्रालय ने कहा, 1.60 करोड़ से अधिक खुराकें (1,60,13,409) अब भी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास उपलब्ध हैं. बयान में कहा गया कि 2,67,110 खुराकें आपूर्ति करने की प्रक्रिया में हैं और तीन दिन के भीतर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मुहैया करा दी जाएगी.
इसे भी पढ़ें :- वैक्सीन की दोनों डोज के बीच अंतर नुकसानदायक नहीं बल्कि फायदेमंद: शोध

भारत के टीकाकरण कार्यक्रम में आई गिरावट

भारत में जारी टीकाकरण कार्यक्रम के साप्ताहिक आंकड़ों में गिरावट दर्ज की गई है. 15 से 21 मई के बीच 93 लाख डोज दिए गए हैं. मार्च की शुरुआत के बाद यह पहली बार है जब साप्ताहिक टीकाकरण 1 करोड़ के नीचे रहा. खास बात ये है कि देश के कई हिस्सों में वैक्सीन सप्लाई (Vaccine Supply) में कमी की खबरें आ रही हैं. वहीं, 1 मई के बाद 18-44 आयुवर्ग के लोगों को वैक्सीन लगाने के फैसले के बाद टीके की मांग में तेजी भी आई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज