तीनों सेनाओं में कोरोना वैक्सीनेशन पर जोर, LAC-LOC पर तैनात सैनिकों का टीकाकरण

सेना की तीनों विंग में वैक्सीनेशन का काम बेहद तेजी से चल रहा है. (सांकेतिक तस्वीर)

सेना की तीनों विंग में वैक्सीनेशन का काम बेहद तेजी से चल रहा है. (सांकेतिक तस्वीर)

देश की तीनों सेनाओं (All three wings of Forces) में कोरोना वैक्सीनेशन (Covid-19 Vaccination) का काम बेहद तेजी के साथ किया जा रहा है. LOC और LAC पर तैनात सैनिकों के वैक्सीनेशन का काम लगभग पूरा कर लिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 12:03 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना (Covid-19) के खतरे से तो पूरा देश लड़ रहा है लेकिन सेना दो मोर्चे पर एक साथ डटी हुई है. कोरोना से लड़ाई में भारत सरकार का साथ तो दिया ही जा रहा है साथ ही दुश्मन के नापाक मंसूबे को ध्वस्त कर अपनी सीमाओं की रक्षा भी सेना कर रही है. इसके लिए सबसे बड़ी जरूरत है खुद को कोरोना के खतरे से बचाए रखना. इसी के मद्देनजर सेना के तीनो अंगों और कोस्ट गार्ड को सबसे पहले वैक्सीन देने का काम शुरू हुआ.

सबसे पहले बात करते है थल सेना की. 13 लाख सैनिकों वाली दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आर्मी में वैक्सीन देने का काम युद्धस्तर पर जारी है. थल सेना के एक अधिकारी ने न्यूज़ 18 को बताया कि कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगभग 95 फीसदी सैनिकों को दी जा चुकी है जबकि दूसरी डोज का काम 50 से 55 फीसदी पूरा हो चुका है. चीन के साथ जारी तनाव के मद्देनजर सबसे पहले फार्वर्ड लोकेशन और पोस्ट पर तैनात सैनिकों को वैक्सीन की दोनों डोज देने का शुरू किया गया था.

कैसे हुआ LAC-LOC पर वैक्सीनेशन

सेना के सूत्रों के मुताबिक हर हफ्ते सेना के डॉक्टर की टीम हाई ऑल्टिट्यूड की चौकियों में तैनात सैनिकों की स्वास्थ्य जांच के लिए जाती थीतो उस वक्त वैक्सीन की डोज भी दी गई. कुल मिलाकर LAC पर तैनात सभी सैनिकों को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज दे दी गई है. यही नहीं जो भी तैनाती उन इलाको में की जा रही है, ये सुनिश्चित किया जा रहा है कि वैक्सीन की दोनों डोज दी गई हो. LAC पर तैनात सेनिकों की तर्ज पर ही LOC पर फार्वर्ड लोक्शन पर तैनात सैनिकों को भी कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज दी जा चुकी है.
एयरफोर्स कैसे कर रही है वैक्सीनेशन

उधर भारतीय वायुसेना ने अपने सभी कार्यरत वायुसैनिकों को वैक्सीन की पहली डोज देने का काम 100 फीसदी पूरा कर लिया है और दूसरी डोज दी जा रही है. और ये काम भी 90 फासदी के करीब पूरा किया जा चुका है. वहीं भारतीय नौसेना ने भी वैक्सीन ड्राइव को तेज करते हुए सभी नौसेनिक को पहली डोज दे दी है और दूसरी डोज दिए जाने का काम 70 फीसदी पूरा हो चुका है.

नौसेना में भी तेजी से काम जारी



भारतीय सेना और भारतीय वायुसेना के मुकाबले नौसेना में सैनिकों की संख्या कम है इसलिए यहां वैक्सीन देने की प्रक्रिया बाकियों से तेज है. कोस्ट गार्ड ने भी अपने सभी सैनिकों को कोरोना की पहली डोज दे दी है जबकि दूसरी डोज लगभग पूरी होने को है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज