Home /News /nation /

खुशखबरी! इस तारीख से शुरू हो सकता है 12 से 14 साल के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन

खुशखबरी! इस तारीख से शुरू हो सकता है 12 से 14 साल के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन

3 जनवरी से 15 से 18 साल के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन अभियान (vaccination program) की शुरुआत हुई थी. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

3 जनवरी से 15 से 18 साल के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन अभियान (vaccination program) की शुरुआत हुई थी. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

Corona vaccine for 12 to 14 age group: इस साल 3 जनवरी से 15 से 18 साल के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन अभियान (vaccination program) की शुरुआत हुई थी. अब मार्च से 12 से 15 साल के बच्चों के लिए भी वैक्सीनेशन अभियान शुरू हो जाएगा. यह जानकारी कोविड-19 पर बने नेशनल टेक्निकल एडवायजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन (National Technical Advisory Group on Immunisation) के चेयरमैन डॉ एन के अरोड़ा (Dr N K Arora) ने दी है. अरोड़ा ने कहा है कि फरवरी के अंत या मार्च की शुरुआत से ही 12 से 15 साल के बच्चों को वैक्सीन दी जाने लगेगी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. भारत में वैक्सीनेशन अभियान (vaccination program) की शुरुआत को एक साल हो चुका है. अब तक दुनिया में सबसे ज्यादा 1 अरब 56 करोड़ कोरोना वैक्सीन की खुराक लगाई जा चुकी है. इस साल 3 जनवरी से 15 से 18 साल के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन अभियान (vaccination program) की शुरुआत हुई थी. अब मार्च से 12 से 15 साल के बच्चों के लिए भी वैक्सीनेशन अभियान शुरू हो जाएगा. यह जानकारी कोविड-19 पर बने नेशनल टेक्निकल एडवायजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन (National Technical Advisory Group on Immunisation) के चेयरमैन डॉ एन के अरोड़ा (Dr N K Arora) ने दी है. अरोड़ा ने कहा है कि फरवरी के अंत या मार्च की शुरुआत से ही 12 से 15 साल के बच्चों को वैक्सीन दी जाने लगेगी.

3.31 करोड़ बच्चों को लग चुकी है वैक्सीन 
बच्चों के लिए 3 जनवरी को शुरू हुए वैक्सीनेशन अभियान काफी जोरो पर है. 15 से 18 साल के 3.31 करोड़ बच्चों ने अब तक वैक्सीन की पहली खुराक ले ली है. आंकड़ों के मुताबिक सिर्फ 13 दिनों के अंदर इस आयु वर्ग में अब तक 45 प्रतिशत बच्चों का कवरेज हो चुका है.  डॉ अरोड़ा ने कहा, 15 से 17 आयु वर्ग के बीच देश में 7.4 करोड़ बच्चे हैं. हमारा उद्येश्य है कि इन सभी बच्चों को जनवरी के आखिर तक वैक्सीन की पहली डोज उपलब्ध करा दी जाए. इसके बाद हम दूसरी खुराक देने के लिए फरवरी से अभियान चलाएंगे. फरवरी के आखिर तक दूसरी खुराक के लक्ष्य को भी पूरा कर लिया जाएगा. इसलिए हम चाहते हैं कि 12 से 14 साल के बीच बच्चों को फरवरी के आखिर या मार्च के पहले सप्ताह से वैक्सीन देनी शुरू हो जाए.

सरकार के लिए प्राथमिकता में हैं किशोर
डॉ एन के अरोड़ा ने कहा, 12 से 17 साल के बच्चे काफी हद तक बड़ों की तरह ही होते हैं. इसलिए इन्हें कोरोना के प्रति सुरक्षा प्रदान करना बेहद जरूरी है. इस उम्र के बच्चे काफी गतिशील होते हैं और उन्हें इधर-उधर ज्यादा करना पड़ता है. उन्हें स्कूल, कॉलेज, दोस्तों से मिलने जाना होता है, इसलिए उन्हें संक्रमण का खतरा भी ज्यादा है. ओमिक्रॉन आने के बाद यह जोखिम और बढ़ गया है. इसलिए सरकार अब इन बच्चों को प्राथमिकता में ले रही है और इन्हें जल्द से जल्द वैक्सीन कवरेज के तहत लाना चाहती है. इंडियन एकेडमी ऑफ पैडएट्रिक्स के पूर्व अध्यक्ष डॉ प्रमोद जोग ने बताया कि सरकार को किसी बीमारी से पीड़ित 5 से 14 साल के बच्चों को भी वैक्सीन के दायरे में लाना चाहिए.

Tags: Corona vaccine, Corona virus cases, COVID 19

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर