अपना शहर चुनें

States

Corona Vaccine: स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- विदेश से सस्ती होगी वैक्सीन, सबका खर्च नहीं उठाएगी सरकार- सूत्र

सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

Coronavirus Vaccine को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक में कहा कि भारतीय वैज्ञानिकों को कोविड-19 का टीका विकसित करने में सफलता का पूरा भरोसा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 4, 2020, 2:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर को कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine In India) का इंतजार है. सीरम, भारत बायोटेक और जायडस कैडिला समेत 3 अन्य को मिलाकर देश में कुल 6 कोरोना वैक्सीन का ट्रायल जारी है. उम्मीद जताई जा रही है कि अगले साल मार्च तक कोई एक वैक्सीन आ जाएगी. हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी वैक्सीन के तीन प्रमुख दावेदारों से मिलकर टीके की समीक्षा की थी. अब खबर है कि सरकार प्राथमिकता वाले समूहों के ही वैक्सीन का खर्च उठाएगी.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि विदेशों के मुकाबले भारत में वैक्सीन सस्ती होगी. कहा गया कि सरकार प्राथमिकता वाले समूहों के ही वैक्सीनेशन का खर्च उठाएगी. इसके साथ ही जिसकी स्थिति ज्यादा गंभीर होगी या फिर जिसका डाटा कोविड मरीज के तौर पर दर्ज होगा, उनके लिए वैक्सीन फ्री होगी. सूत्रों ने कहा कि मंत्रालय ने 8 टीकों का जिक्र किया जिसमें से कई तीसरे फेज तक नहीं पहुंची हैं.

Vaccine पर प्रधानमंत्री ने भरोसा दिलाया 
वहीं एक सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता के दौरान प्रधानमंत्री ने भरोसा दिलाया  कि देश के वैज्ञानिक टीका विकसित करने में सफल होंगे. प्रधानमंत्री ने कहा- 'भारतीय वैज्ञानिकों को कोविड-19 का टीका विकसित करने में सफलता का पूरा भरोसा है.' उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों का मानना है कि कोविड-19 के टीके का इंतजार लंबा नहीं चलेगा, यह कुछ सप्ताह में तैयार हो सकता है.
पीएम ने कहा कि विशेषज्ञों की मंजूरी के बाद भारत कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम शुरू करेगा. कोरोना के टीके के दाम पर पीएम ने कहा कि जहां तक कोविड-19 रोधी टीके की कीमत की बात है तो लोक स्वास्थ्य को शीर्ष प्राथमिकता दी जाएगी, राज्यों को पूरी तरह से शामिल किया जाएगा.



कोरोना वायरस पर सर्वदलीय बैठक में मोदी ने कहा कि कई बार अफवाहें फैल जाती हैं जो जनहित और राष्ट्रहित के खिलाफ होती हैं. हमारी जिम्मेदारी जागरूकता फैलाने की है. उन्होंने कोविड-19 पर सर्वदलीय बैठक में विभिन्न दलों के प्रतिनिधियों से लिखित में भी अपने सुझाव भेजने को कहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज