Corona Vaccine: AIIMS प्रमुख रणदीप गुलेरिया बोले- अगले साल जनवरी तक आ सकती है कोरोना वैक्सीन, लेकिन...

Covid Vaccine in India: दिल्ली एम्स के प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने बताया कि अगले साल की शुरुआत में आएगी कोरोना वैक्सीन. (फाइल फोटो)
Covid Vaccine in India: दिल्ली एम्स के प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने बताया कि अगले साल की शुरुआत में आएगी कोरोना वैक्सीन. (फाइल फोटो)

Corona Vaccine in India: भारत (India) में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से आगे बढ़ रही है. अमेरिका (America) और ब्राजील (Brazil) के बाद भारत कोरोना से होने वाली मौतों में दुनिया में तीसरे नंबर पर आ गया है. भारत में 2 अक्‍टूबर को मौतों का आंकड़ा एक लाख पार कर गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 3, 2020, 7:57 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से आगे बढ़ रही है. आज देश में कोरेाना (Corona) से होने वाली मौत का आंकड़ा 1 लाख को पार कर गया है. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली एम्स (Delhi AIIMS) के प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) ने राहत देने वाली बात कही है. डॉ. गुलेरिया के मुताबिक कोरोना वैक्सीन का इंतजार अब जल्द ही खत्म होने वाला है. उन्होंने बताया कि नए साल की शुरुआत में कोरोना की वैक्सीन आ जाएगी. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि इतनी बड़ी आबादी तक कोरोना वैक्सीन पहुंचाना किसी ​चुनौती से कम नहीं होगा. उन्होंने कहा कि जरूरी नहीं कि वैक्सीन की पहली खुराक सभी के लिए पूरी हो सके.

एक मीडिया चैनल के कार्यक्रम में डॉ. गुलेरिया ने कहा कि कोरोना वैक्सीन भारत में कब तक आएगी इसका बिल्कुल सही अनुमान लगाना अभी मुश्किल है लेकिन हम ये कह सकते हैं कि वैक्सीन अगले साल की शुरुआत में उपलब्ध हो सकती है. उन्होंने कहा कि किसी भी वैक्सीन को बनाने में कई चरणों से उसे गुजरना होता है. उसी तरह जब इसे किसी भी इंसान को दिया जाता है तो भी उसे कई चरणों से होकर गुजरना होता है. इन सभी चरणों को वैज्ञानिक अपनी देखरेख में पूरा करते हैं.



डॉ. गुलेरिया ने कहा कि वैक्सीन निर्माण में कई तरह के फैक्टर्स काम करते हैं लेकिन दुनियाभर के वैज्ञानिक जिस तकनीक से वैक्सीन का निर्माण करने में जुटे हुए है उससे उन्हें जल्द ही सफलता ​मिलती दिख रही है. कोरोना वैक्सीन के अभी तक के चरणों को देखने के बाद लग रहा है कि वैक्सीन जल्द ही बाजार में आ जाएगी.



इसे भी पढ़ें :  देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1 लाख पार, US और ब्राजील के बाद तीसरे नंबर पर भारत

पहले किन लोगों को दी जाएगी प्राथमिकता
डॉक्टर गुलेरिया के मुताबिक जिन लोगों को पहले से कई तरह की बीमारियां है उन्हें कोरोना का खतरा सबसे ज्यादा होता है. ऐसे में हमारी प्राथमिकता है कि बुजुर्गों और ऐसे बीमार लोगों को कोरोना की वैक्सीन सबसे पहले दी जाएगी, जिससे ऐसे लोगों को कोरोना के संक्रमण से बचाया जा सके. कुछ लोगों के शरीर में कोरोना का इंफेक्शन तेजी से फैलता है. ऐसे लोगों को भी वैक्सीन देने में प्राथमिकता दी जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज