Corona Vaccine- देश में कोरोना वैक्‍सीन की किल्‍लत होगी खत्‍म, जानें कब तक?

प्रोडक्‍शन के बाद प्रक्रियाओं में लगता है समय

प्रोडक्‍शन के बाद प्रक्रियाओं में लगता है समय

Indian Drug Manufacturers Association के अनुसार देश में स्‍पूतनिक की आपातकालीन मंजूरी और पांच अन्‍य कंपनियों द्वारा वैक्‍सीन का उत्‍पादन शुरू होने के बाद भी किल्‍लत जुलाई खत्‍म होने की संभावना है.  

  • Share this:

नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) की किल्‍लत (Shortage) खत्‍म होने में अभी करीब एक माह का समय लग जाएगा. उम्‍मीद की जा रही है कि जुलाई के पहले सप्‍ताह से वैक्‍सीन की मारामारी कम हो जाएगी. इंडियन ड्रग मैन्‍युफैक्‍चरर्स एसोसिएशन (Indian Drug Manufacturers Association) के अनुसार केन्‍द्र सरकार ने वैक्‍सीन का उत्‍पादन (Production) बढ़ाने के लिए पांच कंपनियों से कहा है. ये कंपनियां अगर तत्‍काल वैक्‍सीन का उत्‍पादन शुरू कर देती हैं, तो इन्‍हें लोगों तक पहुंचने में कम से कम एक माह का समय लगना तय है.

मौजूदा समय देश (country) में कोरोना वैक्‍सीन का प्रति‍माह प्रोडक्‍शन करीब 8.5 करोड़ है. लेकिन मांग इससे कहीं अधिक है. इस लिए केन्‍द्र सरकार ने पांच और कंपनियों से वैक्‍सीन का प्रोडक्‍शन करने को कहा है.  इसके तहत भारत बायोटेक Bharat Biotech ने देश की पांच प्रमुख वैक्‍सीन बनाने वाली कंपनियों Indian Biotech, Gujrat Biotechnology research Centre, Haffkine GOM, BIB COL DBT व Hetser Bio science के साथ टेक्‍नोलॉजी और रॉयल्‍टी शेयरिंग के तहत करार किया है.

इंडियन ड्रग मैन्‍युफैक्‍चरर्स एसोसिएशन (Indian Drug Manufacturers Association) के कार्यकारी निदेशक अशोक मदान बताते हैं कि प्रोडक्‍शन शुरू होने से लेकर बाजार में आने तक बहुत सारी प्रक्रियाएं होती हैं, जिन्‍हें पूरा करने के बाद ही प्रोडक्‍ट इस्‍तेमाल किया जा सकता है. इस प्रक्रिया में एक माह का समय लग जाएगा. इसी वजह से प्रोडक्‍शन तत्‍काल शुरू होने के बाद भी बाजार में आने में समय लगेगा.

उन्‍होंने बताया कि स्पूतनिक को भारत में इस्तेमाल की आपातकालीन मंजूरी मिल चुकी है. इसका प्रोडक्‍शन यहां पर शुरू हो जाएगा. लेकिन पहला बैच अप्रूवल के लिए रूस भेजा जाएगा, वहां से अप्रूव होने के बाद यहां बाजार में उपलब्‍ध होगी. इसलिए इसे भी बाजार में आने में थोड़ा समय लगेगा. हालांकि उन्‍होंने कहा कि अगर विदेश से आने वाली वैक्‍सीन का पर्याप्‍त स्‍टॉक देश में जल्‍द उपलबध हो जाए तो जरूरी थोड़ा पहले राहत मिल सकती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज