लाइव टीवी

कोरोना वायरस: पंजाब में जिस शख्स की मौत हुई उससे 23 लोग संक्रमित, 15 गांव सील

News18Hindi
Updated: March 27, 2020, 2:07 PM IST
कोरोना वायरस: पंजाब में जिस शख्स की मौत हुई उससे 23 लोग संक्रमित, 15 गांव सील
कोरोना वायरस से मरने वाले मरीज 70 साल के बलदेव सिंह से संक्रमित होकर ने 6 दिन में ही 21 लोगों को कोरोना पीड़ित कर दिया.

पंजाब (Punjab) के नवांशहर (Nawashahr) के पठलावा में जर्मनी (Germany) से वाया इटली (Italy) लौटे बलदेव सिंह की 18 मार्च को मौत हो गयी थी लेकिन जो भी इनके संपर्क में आया उनमें से कई कोरोना पॉजिटिव (Coronavirus Positive) हो गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2020, 2:07 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. देश भर में कोरोना वायरस (Corornavirus) के केस लगातार बढ़ रहे हैं. खबर लिखे जाने तक वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 724 हो गई है. ये कोरोना कितना खतरनाक है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक शख्स ने 6 दिन में 23 लोगों को इससे संक्रमित कर दिया. 18 मार्च को पंजाब (Punjab) के नवांशहर (Nawanshahr) में कोरोना वायरस से मरने वाले शख्स 70 साल के बलदेव सिंह ने 6 दिन में ही 23 लोगों को कोरोना संक्रमण से पीड़ित कर दिया. वैसे बलदेव के संपर्क में 100 से ज्यादा लोग आए थे, लेकिन अभी तक सिर्फ 23 लोगों का ही टेस्ट पॉजिटिव आया है. इसके बाद 15 गांवों को भी सील कर दिया गया है.

दरअसल, नवांशहर के पठलावा में जर्मनी (Germany) से वाया इटली (Itlay) लौटे बलदेव सिंह की 18 मार्च को मौत हो गयी थी लेकिन जो भी इनके संपर्क में आया उनमें से कई कोरोना पॉजिटिव हो गए. मंगलवार को मिले 3 नए मामलों में से 2 बलदेव सिंह का पोता और दोहता हैं. अभी तक जिले में मिले सभी मामले मृतक बलदेव सिंह से ही संबंधित हैं.

बलदेव सिंह से ऐसे बनी कोरोना की चेन
21 मार्च- 3 बेटे, 2 बेटियां, 1 पोती, 1 साथी



22 मार्च- 2 बहुएं, 2 पोती, 2 साथी, 1 सरपंच
23 मार्च -1 पोता
24 मार्च- 1 दोहता, 2 पोते, 1 साढ़ू, 1 सलहज, 1 साढ़ू का बेटा

इतने लोग अब तक पॉजिटिव
21 मार्च को बलदेव सिंह के 3 बेटे, 2 बेटियों 1 पोती और 1 साथी को कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला. जबकि 22 मार्च को 2 बहुओं, 2 पोतियों, 2 साथियों और सरपंच को कोरोना पीड़ित होने का पता चला. 23 मार्च को पोते के कोरोना पीड़ित होने का पता चला और 24 मार्च को 1 दोहते, 2 पोते, 1 साढ़ू, साढ़ू के बेटे और सलहज के कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला है.

यहां इस बात पर भी गौर करना होगा कि कैसे इस वायरस की चेन बनती गई और लोग संक्रमित होते गए. 3 दिन में पीड़ितों की संख्या 8 गुना, 5 दिन में 16 गुना और 6 दिन में 22 गुना हो गयी. यही इस बीमारी का सबसे बड़ा खतरा है. जो एकदम से कई गुना बढ़ता चला जाता है.

कई समारोह में भी शामिल हुए थे बलदेव सिंह
इस मामले के सामने आने के बाद लोगो में काफी दहशत का माहौल है क्योकि 70 साल के बलदेव सिंह ने अपनी मौत से कुछ दिन पहले ही आनंदपुर साहिब में होला मोहल्ला में भी शिरकत की थी. रूपनगर के सीनियर सुपरिंटेंडट ऑफ पुलिस स्वप्न शर्मा के अनुसार बलदेव सिंह दो हफ्ते के जर्मनी दौरे से वाया इटली होते हुए पंजाब आए थे. वो आनंदपुर साहिब में 8 से 10 मार्च तक रुके फिर बस से घर गए और छह दिन बाद उनकी मौत हो गई.

बलदेव सिंह अपने गांव पठलावा के गुरुद्वारे में पाठी थे. विदेश से आने के बाद भी उन्होंने वहां पाठ किया. लोगों में प्रसाद भी बांटा. होला मोहल्ला में कोरोना वायरस के खतरे के बावजूद इस बार भी करीब 20 लाख लोग पहुंचे. जिस तरह से बलदेव सिंह से जुड़े 21 लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण हुआ उसको देखते हुए पंजाब में ये संक्रमण बहुत ज्यादा फैलने की आशंका है. मौजूदा हालातों को देखते हुए राज्य में कर्फ्यू लगा दिया गया है. लेकिन इस पूरी चेन को ढूंढा जाना अभी भी बाकी है. इस तरह के कई मामले अभी सामने आ सकते हैं ऐसे में सरकार और प्रशासन लोगों से घर में रह कर कोरोना की चेन को तोड़ने में मदद करने की अपील कर रहे हैं.

 

ये भी पढ़ें :-

दुकानों के सामने बनाए गए सोशल डिस्टेंसिंग सर्किल, फॉलो नहीं तो सामान नहीं

COVID-19: कर्मचारियों, उनके परिजनों की कोरोना जांच का खर्च उठाए ये कंपनी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 5:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर