एक्सपर्ट बोले- मई के मध्य से आखिर तक कोरोना के मामलों में आने लगेगी गिरावट

मशहूर टीका विशेषज्ञ गगनदी कांग की भविष्यवाणी, मई मध्य से आखिर तक कोरोना के मामले घटने लगेंगे

मशहूर टीका विशेषज्ञ गगनदी कांग की भविष्यवाणी, मई मध्य से आखिर तक कोरोना के मामले घटने लगेंगे

Coronavirus updates: विशेषज्ञों ने कहा कि फिलहाल यह उन क्षेत्रों में जा रहा है जहां वह पिछले साल नहीं पहुंचा यानी मध्य वर्ग को अपना शिकार बना रहा है , ग्रामीण क्षेत्र में अपना पैर पसार है लेकिन वायरस के जारी रहने के आसार कम हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. मशहूर टीका विशेषज्ञ गगनदीप कांग ने कहा है कि कोरोना वायरस मामलों (Coronavirus Case) में मौजूदा वृद्धि मई के मध्य से आखिर तक नीचे आ सकती है. कांग ने कहा कि कोरोना वायरस मामलों में एक या दो और उछाल आ सकती है लेकिन शायद यह वर्तमान दौर जैसा बुरा नहीं होगा.

उन्होंने कहा कि फिलहाल यह उन क्षेत्रों में जा रहा है जहां वह पिछले साल नहीं पहुंचा यानी मध्य वर्ग को अपना शिकार बना रहा है , ग्रामीण क्षेत्र में अपना पैर पसार है लेकिन वायरस के जारी रहने के आसार कम हैं. टीके के बारे में डर दूर करते हुए उन्होंने कहा कि वे प्रभावी हैं और टीकाकरण अभियान में तेजी लाने की जरूरत है.

कांग ने कोरोना वायरस की जांच में गिरावट पर चिंता प्रकट की और कहा कि (कोविड-19) के मामलों का अनुपात जांच से प्राप्त आंकड़ों से कहीं ज्यादा हैं. उन्होंने भारतीय महिला प्रेस कोर द्वारा आयोजित वेबीनार में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘ विभिन्न मॉडलों के अनुसार (मामलों के नीचे आने का) सबसे सही अनुमान माह के मध्य और आखिर के बीच कहीं हैं. हालांकि कुछ मॉडलों के अनुसार यह जून के प्रारंभ में होगा, लेकिन हम जो देख रहे हैं , उसके अनुसार यह मई के मध्य से आखिर तक( का अनुमान) है. ’’

वायरस की लहरों पर कही ये बात
वायरस की लहरों के बारे में अनुमान के संबंध में कांग ने कहा कि कोई भी व्यक्ति यह अनुमान लगाने के लिए (वायरस की) किस्म की विशेषता और महामारी की विभिन्न बातों का इस्तेमाल कर सकता कि किसी खास स्थान पर क्या होने जा रहा है बशर्ते कि आंकड़ा गणितीय प्रतिमान फलक के स्तर पर उपलब्ध हो.

ये भी पढ़ेंः- हवा में उड़ते ही एयर एंबुलेंस का पहिया गिरा, यूं बची 5 लोगों की जान...देखें VIDEO




क्या भविष्य में भी असर दिखाएगा कोरोना वायरस

जब उनसे इस वायरस के भविष्य के बारे में पूछा गया तो उन्हेांने कहा, ‘‘ यह वाकई बुरे फ्लू वायरस की भांति मौसम सापेक्ष हो जाएगा. यह अधिक मौसम सापेक्ष जैसा कुछ हो जाएगा , यह शांत हो जाएगा और यह कि लोग बार बार की प्रतिरोधकता एवं टीकाकरण के कारण एक निश्चित स्तर तक प्रतिरोधक क्षमता हासिल कर लेंगे. ’’

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज