लाइव टीवी

कोरोना वायरस: सरकार का आग्रह, तत्काल नेटवर्क पर फालतू का दबाव कम करें वीडियो कंपनियां

भाषा
Updated: March 22, 2020, 7:47 PM IST
कोरोना वायरस: सरकार का आग्रह, तत्काल नेटवर्क पर फालतू का दबाव कम करें वीडियो कंपनियां
सरकार ने ऑनलाइन स्ट्रीमिंग कंपनियों से तत्काल नेटवर्क पर फालतू भार कम करने को कहा है

सीओएआई (COAI) का कहना है कि इस समय लोगों पर निकलने बढने की पाबंदियों और कॉरन्टाइन (Quarantine) जैसे उपायों के चलते वीडियो सामग्री (Video Content) कंपनियों से वीडियो सामग्रियों की मांग बढ़ गयी है और इसका नेटवर्क पर दबाव है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सेल्यूलर मोबाइल सेवा नेटवर्क कंपनियों के संगठन सीओएआई (COAI) ने सरकार से कोरोना महामारी से निपटने के प्रयासों के मद्देनजर नेटफ्लिक्स (Netflix), अमेजन प्राइम वीडियो (Amazon Prime Video) और ऐसी अन्य वीडियो सामग्री बेचने वाली कंपनियों से नेटवर्क (Network) पर दबाव कम करने का निर्देश तत्काल जारी करने का आग्रह किया है.

सीओएआई (COAI) का कहना है कि इस समय लोगों पर निकलने बढने की पाबंदियों और क्वारंटाइन (Quarantine) जैसे उपायों के चलते वीडियो सामग्री कंपनियों (Video content companies) से वीडियो सामग्रियों की मांग बढ़ गयी है और इसका नेटवर्क पर दबाव है. संगठन का कहना है कि इस समय ‘बहुत जरूरी’ कामों के लिए नेटवर्क (Network) की जरूरत है.

'पाबंदियों के चलते ऑनलाइन वीडियो स्ट्रीमिंग की मांग अचानक से बढ़ने के आसार'
सीओएआई (COAI) ने दूरसंचार सचिव (Telecom Secretary) अंशु प्रकाश को पत्र लिख कर कहा है कि देश के विभिन्न भागों में लोगों के आने-जाने पर लागू पाबंदियों और पृथक रखे जाने जैसे उपायों के चलते ऑनलाइन वीडियो स्ट्रीमिंग (Online Video Streaming) की मांग अचानक बढ़ने के आसार हैं.



संगठन ने ऑनलाइन वीडियो सामग्री प्रवाहित करने वाली कंपनियों से भी इस विषय में संपर्क किया है. उसने कहा है कि वीडियो प्रवाह बढ़ने से दूरंसचार सेवा नेटवर्क पर दबाव बढ़ गया है. ऐसे में उन्हें थोड़े समय के लिए एसडी (Standerd Definition) रुप की जगह एचडी (High Definition) रुप के वीडियो प्रवाह जैसे कदम उठाने चाहिए.

'पॉप-अप की जगह दिखे कोरोना वायरस के प्रति जागरुकता की सामग्री'
सीओएआई (COAI) ने वीडियो प्रवाह कंपनियों से नेटवर्क पर ज्यादा जगह लेने वाली विज्ञापन सामग्री और पॉप-अप (Pop-up- क्षणिक रुप से उभने वाली सामग्रियों) की जगह वायरस के प्रति जागरूकता सामग्री दिखानी चाहिए.

सीओएआई (COAI) ने कहा है कि इस नाजुक समय में यह जरूरी है कि वीडियो स्ट्रीमिंग कंपनियां (Video Streaming Companies) दूरसंचार नेटवर्क सेवा देने वाली कंपनियों के साथ पूरा सहयोग करें ताकि नेटवर्क पर बदाव न बढ़े क्यों कि इस समय नेटवर्क की जरूरत बहुत अहम कामों के लिए ज्यादा है.

यह भी पढ़ें: COVID-19: कोरोना रोकने को मोदी सरकार ने उठाया बड़ा कदम, 75 जिलों में लॉकडाउन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 22, 2020, 7:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर