लाइव टीवी

कोरोना वायरसः भारतीय विमान को मंजूरी नहीं देने पर भारत ने चीन को दिखाए सख्त तेवर

News18Hindi
Updated: February 24, 2020, 9:00 AM IST
कोरोना वायरसः भारतीय विमान को मंजूरी नहीं देने पर भारत ने चीन को दिखाए सख्त तेवर
चीन से फैला है कोरोना वायरस.

बताया जा रहा है कि चीन (China) की ओर से जापान, यूक्रेन और फ्रांस की उड़ानों को 16 से 20 फरवरी के बीच इजाजत दे दी गई थी लेकिन भारत (India) के अनुरोध को अभी तक स्वीकार नहीं किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 9:00 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीन (China) में जानलेवा कोरोना वायरस (Corona virus) की चपेट में आने से अब तक 2442 लोगों की मौत हो चुकी है. चीन के वुहान शहर (wuhan city) में अभी भी 100 से अधिक भारतीय (Indian) फंसे हुए हैं. भारत लगातार अपने नागरिकों को भारत लाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन चीन की लापरवाही के कारण इसमें काफी देरी हो रही है. भारत ने चीन की ओर से बरती जा रही लापरवाही पर सख्त ऐतराज जताया है. सूत्रों के मुताबिक, चीन के वुहान शहर में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए भारतीय वायुसेना का विमान भेजने के प्रस्ताव को मंजूरी देने में चीन जानबूझकर देरी कर रहा है.

भारत ने अपना विशेष विमान भेजने के लिए 13 फरवरी को चीन से अनुरोध किया था. बताया जा रहा है कि चीन की ओर से जापान, यूक्रेन और फ्रांस की उड़ानों को 16 से 20 फरवरी के बीच इजाजत दे दी गई थी, लेकिन भारत के अनुरोध को अभी तक स्वीकार नहीं किया है. अधिकारियों ने बताया कि वुहान में फंसे भारतीय वहां से वापसी पर अनिश्चतता के कारण चिंता और मानसिक तनाव का शिकार हो रहे हैं.

दूसरी तरफ चीन ने भारत की ओर से लगाए गए आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि हमने भारतीय नागरिकों के वापस जाने में पूरी मदद मुहैया कराई है. हुबेई में महामारी की स्थिति बहुत जटिल हो चुकी है और बचाव और रोकथाम क्रिटिकल स्टेज में है. दोनों ही देशों के विभाग इस संबंध में लगातार बातचीत कर रहे हैं. ऐसा कुछ भी नहीं है कि चीन जानबूझ कर भारतीय विमान को चीन आने की मंजूरी नहीं दे रहा है.'

इसे भी पढ़ें :- कोरोना वायरस पर चीन के राष्ट्रपति का बड़ा बयान, सबसे बड़ी हेल्थ इमरजेंसी बताया



कोरोना वायरस से अब तक 2442 लोगों की हुई मौत
कोरोना वायरस चीन के लिए बड़ा खतरा बन चुका है. चीन से फैले कोरोना वायरस ने दुनियाभर में अबतक 78,000 से अधिक लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस बीमारी का नाम 'कोविड-19' रखा है. अकेले चीन में इस बीमारी के कारण 2442 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. अब इस पर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का बड़ा बयान आया है. AFP के मुताबिक जिनपिंग ने इसे कम्यूनिस्ट चीन के इतिहास में 'सबसे बड़ी हेल्थ इमरजेंसी' बताया है.

इसे भी पढ़ें :- चीन ने 9 माह की प्रेग्नेंट नर्स को बताया हीरो, अब दुनियाभर में जमकर हो रही आलोचना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 8:52 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर