लाइव टीवी

कोरोना वायरस: संसद की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

भाषा
Updated: March 23, 2020, 7:56 PM IST
कोरोना वायरस: संसद की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित
कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते दोनों सदनों को तय समय से पहले अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है.

संसद (Parliament) का बजट सत्र (Budget Session) 31 जनवरी को दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ शुरू हुआ था. सभापति ने राष्ट्रगीत की धुन बजाये जाने के बाद बैठक को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) से उत्पन्न हालात को देखते हुये राज्यसभा (Rajyasabha) के बजट सत्र (Budget Session) को सोमवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया. पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक बजट सत्र तीन अप्रैल तक चलना था.

सभापति एम वेंकैया नायडू (M Veinkaiah Naidu) ने बैठक को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने से पहले भारत सहित विश्व भर में कोरोना संकट के कारण उत्पन्न हुए हालात की चर्चा की. उन्होंने इस आपात स्थिति से निबटने में चिकित्साकर्मियों सहित देश की आपात सेवाओं में लगे विभिन्न कर्मियों के योगदान की सराहना की.

इतने प्रतिशत हुआ सदन का कामकाज
नायडू ने कहा कि बजट सत्र के दौरान कुल 31 बैठकें होनी थीं किंतु सत्र पहले समाप्त होने के कारण इस दौरान 23 बैठक ही हो पायी. उन्होंने बताया कि बजट सत्र के पहले चरण में सदन में 97 प्रतिशत और दूसरे चरण में 64 प्रतिशत कामकाज हो पाया.



सोमवार को उच्च सदन की बैठक को अनिश्चित काल के लिए स्थगित किये जाने से पहले काफी कामकाज हुआ. इस दौरान जम्मू कश्मीर और लद्दाख से जुड़ी अनुदान की अनुपूरक मांगों तथा वित्त विधेयक 2020 को ध्वनिमत से लोकसभा को लौटाया गया. उच्च सदन ने सोमवार को सेवानिवृत्त रहे अपने 55 सदस्यों को विदाई भी दी.

31 जनवरी को शुरू हुआ था सत्र
संसद का बजट 31 जनवरी को दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ शुरू हुआ था. सभापति ने राष्ट्रगीत की धुन बजाये जाने के बाद बैठक को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया.

लोकसभा की कार्यवाही भी स्थगित
उधर कोरोना वायरस के संकट से पैदा हुई स्थिति के बीच लोकसभा की कार्यवाही सोमवार को वित्त विधेयक पारित करने के बाद अनिश्चिकाल के लिए स्थगित कर दी गई. सदन में वित्त विधेयक-2020 को बिना चर्चा के पारित किया गया. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि देश में पैदा हुई अप्रत्याशित स्थिति के मद्देनजर सदन में सभी दलों के नेताओं ने बिना चर्चा के वित्त विधेयक पारित कराने पर सहमित दी.

विधेयक पारित होने के बाद बिरला ने कार्यवाही अनिश्चतकाल स्थगित करने की घोषणा की. संसद का 31 जनवरी से शुरू हुआ वर्तमान सत्र तीन अप्रैल तक चलना था किंतु कोरोना वायरस संकट के कारण इसे सोमवार को ही स्थगित कर दिया गया.

2 मार्च से शुरू हुआ था दूसरा चरण
बता दें बजट सत्र का पहला चरण 31 जनवरी से 11 फरवरी तक चला था. इसका दूसरा चरण 2 मार्च से शुरू हुआ था. दूसरे चरण की शुरुआत काफी हंगामेदार रही थी जहां विपक्ष ने दिल्ली हिंसा पर चर्चा का मुद्दा उठाया था. सदन में हंगामा इस कदर बढ़ गया था कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को कांग्रेस के सात सांसदों को शेष सत्र के लिए निलंबित करना पड़ा. हालांकि बाद में ये निलंबन वापस ले लिया गया था.

ये भी पढ़ें-
Covid-19: दिल्‍ली में है Lockdown, लेकिन एयरपोर्ट से इस तरह जा सकते हैं घर

कोरोना को लेकर दुनियाभर में सतर्कता से ज्यादा फैल गया है अंधविश्वास

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 7:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर