अपना शहर चुनें

States

COVID-19 New Strain: कोरोना के नए स्ट्रेन का कहर! भारत में 71 हुई मरीजों की संख्या, बुधवार को मिले 13 नए संक्रमित

इस नए म्यूटेटेड वायरस का नाम B117 है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
इस नए म्यूटेटेड वायरस का नाम B117 है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Corona Virus Update: भारत में अब तक कोरोना वारयस के 1 करोड़ 3 लाख 75 हजार 478 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं, 1 लाख 50 हजार 151 मौतें हो चुकी हैं. फिलहाल देश में 2 लाख 24 हजार 557 एक्टिव मामले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 6, 2021, 2:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन (Corona Virus New Strain) भारत में पैर पसारता हुआ नजर आ रहा है. भारत में नए स्ट्रेन के मरीजों की संख्या 71 हो गई है. बुधवार को भारत में ब्रिटेन में मिले स्ट्रेन के 13 नए केस सामने आए हैं. हालांकि, मंगलवार की तुलना में बुधवार को कम ही मरीज मिले. 20 नए मामलों के साथ मंगलवार को नए वैरिएंट के मरीजों की संख्या 58 थी. माना जा रहा है कि ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस का रूप पहले की तुलना में 70 फीसदी ज्यादा संक्रामक है.

कोविड-19 (Covid-19) मरीजों में मिले नए स्ट्रेन की जांच 10 INSACOG लैब्स में की जा रही है. इससे पहले ब्रिटेन में मिला वायरस का यह नया स्ट्रेन डेनमार्क, नीदरलैंड्स, ऑस्ट्रेलिया, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन, स्विट्जरलैंड, जर्मनी, कनाडा, जापान, लेबनान और सिंगापुर में सामने आ चुका है. वहीं, वायरस की गंभीरता को देखते हुए भारत समेत कई देशों ने ब्रिटेन की उड़ानों पर अस्थायी पाबंदियां लगा दी थीं. वहीं, यूके से आने वाले सभी हवाई यात्रियों का आरटी-पीसीआर के जरिए जांच को जरूरी कर दिया था.

यह भी पढ़ें: कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा जानलेवा या वैक्सीन होगी प्रभावित? 5 सवालों से समझिए ये कितना खतरनाक



कोविड 19 इंडिया वेबसाइट के अनुसार, भारत में अब तक कोरोना वारयस के 1 करोड़ 3 लाख 75 हजार 478 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं, 1 लाख 50 हजार 151 मौतें हो चुकी हैं. फिलहाल देश में 2 लाख 24 हजार 557 एक्टिव मामले हैं. अच्छी खबर है कि देश में 99 लाख 96 हजार 501 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं.

इस नए म्यूटेटेड वायरस का नाम B117 है. यह वायरस पर मौजूद प्रोटीन स्पाइक्स के बदले हुए रूप से संबंधित है, जो इंसान के सेल्स से खुद को जोड़ लेता है. यह म्यूटेशन वायरस को बड़ी दर से सेल को संक्रमित करने के लिए तैयार करता है. इसके असर के बारे में अभी बताया जाना सही नहीं है. जबकि, ब्रिटेन की तरफ से मिली जानकारी बताती है कि यह वायरस 70 फीसदी अधिक तेजी से फैलता है. डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि आम सावधानियों की मदद से लोग खुद को नए स्ट्रेन से बचा सकते हैं. संगठन के मुताबिक, मास्क पहनने, हाथ धोने और सोशल डिस्टेंसिंग की मदद से वायरस से बचा जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज