लाइव टीवी

Covid-19: वाराणसी के लोगों से PM मोदी ने की बात, कहा-21 दिनों तक 9 गरीब परिवारों की करें मदद

News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 7:05 PM IST
Covid-19: वाराणसी के लोगों से PM मोदी ने की बात, कहा-21 दिनों तक 9 गरीब परिवारों की करें मदद
क्वारेंटीन सेंटर्स में पीएम मोदी की अपील

पीएम मोदी ने मंगलवार 24 मार्च को देश को संबोधित किया था. इसमें उन्होंने पूरे देश को संबोधित करते हुए लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की थी. वाराणसी के लोगों के साथ यह बातचीत (Interaction) राष्ट्रीय प्रसारक दूरदर्शन और नमो ऐप (NaMo App) पर लाइव प्रसारित हुई,

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 7:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 25 मार्च यानी बुधवार को शाम 5 बजे से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) के जरिए वाराणसी (Varanasi) के लोगों के साथ कोरोना वायरस (Coronavirus) के मुद्दे पर संवाद किया. पीएम मोदी ने ट्वीट (Tweet) कर इस बात की जानकारी दी थी. इस मौके पर उन्होंने लोगों से इस बातचीत (Interaction) में शामिल होने की अपील की थी.

पीएम मोदी ने मंगलवार 24 मार्च को देश को संबोधित किया था. इसमें उन्होंने पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की थी. वाराणसी के लोगों के साथ कोरोना वायरस (Coronavirus) पर की जाने वाली यह बातचीत (Interaction) राष्ट्रीय प्रसारक दूरदर्शन और नमो ऐप (NaMo App) पर लाइव प्रसारित हुई.

PM मोदी ने किया साफ, 'अब तक नहीं बनी कोरोना की वैक्सीन, डॉक्टर की सलाह से लें दवा'
इस बातचीत के दौरान काशी की गृहणी अंकिता खत्री का वाक्य, "जो रचता है, वो बचता है" पीएम मोदी को बहुत पसंद आया. पीएम मोदी ने 'बच्चों की देखभाल कैसे करें' के सवाल के जवाब में कहा कि आपदा को अवसर में बदलना ही मानव जीवन की विशेषता है. उन्होंने कहा कि बच्चे भी इस आपदा से बेहतर तरीके से निपटे रहे हैं. उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर उन्होंने ऐसे वीडियो भी देखे हैं. उन्होंने जल्द ही इन वीडियोज को कंपाइल कर सोशल मीडिया (Social Media) पर शेयर करने की बात भी कही.



कोरोना की दवाइयों को लेकर फैली गलतफहमी पर PM मोदी ने बताया, "कोरोना के संक्रमण का इलाज अपने स्तर पर नहीं करें. ध्यान रखें कि अभी तक कोरोना के खिलाफ कोई भी दवा, कोई भी वैक्सीन (Vaccine) पूरी दुनिया में नहीं बनी है. हमारे और दूसरे देशों में वैज्ञानिक इस पर काम कर रहे हैं लेकिन मैं आपसे कहूंगा कि आपको कोई भी दवा सुझाए तो भी डॉक्टर से बात करके ही कोई दवा लें."



पीएम मोदी ने 21 दिनों तक लोगों से 9 गरीब परिवारों की मदद करने को कहा
देश में मजदूरों के कई जगह फंस जाने और गरीबों (Poors) की रोजी-रोटी को लेकर लिए किए गए एक सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना का जवाब करुणा से दिया जाना चाहिए. हम जरूरतमंदों के प्रति करुणा दिखाने का एक कदम उठा सकते हैं. उन्होंने इस समय में डॉक्टरों और नर्सों को 'ईश्वर का रूप' बताया. उन्होंने कहा, "आज से नवरात्र शुरू हुए हैं. देश में जिनके पास शक्ति हो, अगले 21 दिन तक प्रतिदिन 9 गरीब परिवारों की मदद करने का प्रण लें." उन्होंने कहा कि अगर हम इतना कर लें तो इससे बड़ी मां की सेवा क्या हो सकती है! उन्होंने लोगों से पशुओं का भी ध्यान रखने को कहा.

डॉक्टरों (Doctors) और अन्य मेडिकल स्टाफ के साथ होने वाले दुर्व्यवहार को लेकर पूछे गए प्रश्न के जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि मेरी सभी नागरिकों से अपील है कि अगर मेडिकल कर्मियों के साथ बुरे बर्ताव की जानकारी मिलती है तो आप ऐसा करने वालों को चेतावनी दीजिए और समझाइए कि ऐसा नहीं होना चाहिए.

वॉट्सऐप से ली जा सकती है कोरोना वायरस के बारे में जानकारी
वाराणसी से पूछे एक प्रश्न का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कई लोगों को कोरोना को लेकर गलतफहमी है. उन्होंने कहा कि कई बार अहम बातें जो प्रामाणिक होती हैं, उस पर कुछ लोगों का ध्यान ही नहीं जाता है. उन्होंने ऐसे लोगों से आग्रह किया कि जितनी जल्दी हो सके गलतफहमी छोड़ सच्चाई को स्वीकारें. उन्होंने बताया कि यह बीमारी किसी से भेदभाव नहीं करती. उन्होंने कहा कि यह वायरस किसी बहुत व्यायाम करने वाले व्यक्ति को भी संक्रमित कर सकता है. सिगरेट और गुटखे के विज्ञापनों का जिक्र कर पीएम मोदी ने कहा कि ऐसे लोग होते हैं जिन पर चेतावनियों का असर नहीं पड़ता. इसके साथ ही पीएम ने सोशल डिस्टेंसिंग का महत्व बताते हुए, इसका पालन करने को कहा. उन्होंने यह भी बताया कि पूरी दुनिया में 1 लाख से ज्यादा लोग सही हो चुके हैं. उन्होंने बताया कि सरकार ने वॉट्सऐप (Whatsapp) के साथ मिलकर एक हेल्पडेस्क भी बनाई है. जिसके जरिए आप 9013151515 पर वॉट्सऐप कर इस सेवा से जुड़ सकते हैं और जानकारियां पा सकते हैं.

पीएम मोदी ने बताया काशी का महात्म्य, काबुल गुरुद्वारे के धमाके पर जताया दुख
काशी के महात्म्य का जिक्र कर प्रधानमंत्री ने कहा कि संकट की इस घड़ी में काशी सबका मार्गदर्शन कर सकती है. पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि काशी देश को सहयोग, शांति, सहनशीलता, साधना, सेवा और समाधान सिखा सकती है. उन्होंने कहा कि काशी का मतलब ही शिव यानी 'कल्याण' है. प्रधानमंत्री ने कहा कि वाराणसी (Varanasi) का सांसद होने के नाते उन्हें वाराणसी के लोगों के बीच होना चाहिए था लेकिन वह दिल्ली में रहकर इसे रोकने के लिए जरूरी प्रबंध करने में जुटे हुए हैं.

प्रधानमंत्री ने काबुल (Kabul) में गुरुद्वारे पर हुए हमले के प्रति दुख जताया और इसमें मारे गए सभी लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की. प्रधानमंत्री ने नौरोज और चैत्र नवरात्र (Chaitra Navratra) के पहले दिन बातचीत के लिए समय निकालने के लिए लोगों का धन्यवाद किया.

वाराणसी में अब तक सामने आया है कोरोना वायरस का सिर्फ 1 मामला
बता दें वाराणसी में अब तक सिर्फ एक व्यक्ति को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है. हालांकि वहां पर 23 मार्च से ही पूरी तरह से कर्फ्यू लागू है. वाराणसी (Varanasi) की अन्य जिलों से लगने वाली सीमाओं को भी 25 मार्च को बंद कर दिया गया था. जिसके बाद पीएम मोदी ने भी पूरे देश में 21 दिनों के संपूर्ण लॉकडाउन (Complete lockdown) की घोषणा कर दी.

मंगलवार रात पीएम मोदी (PM Modi) की ओर से की गई संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा के बाद देश के कई हिस्सों की तरह वाराणसी में भी लोग दुकानों के इर्द-गिर्द सामानों को खरीद के लिए जुट पड़े. हालांकि प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर लोगों से ऐसा न करने की गुजारिश भी की.

यह भी पढ़ें: COVID-19: यूपी की जेलों ने बनाया रिकॉर्ड, 10 दिन में बनाए सवा लाख Mask

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 5:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading