लाइव टीवी

कोरोनावायरस: मुंबई और पुणे में सामने आए छह मरीज, डॉक्टरों ने अलग जगह रखा

भाषा
Updated: January 28, 2020, 3:13 PM IST
कोरोनावायरस: मुंबई और पुणे में सामने आए छह मरीज, डॉक्टरों ने अलग जगह रखा
स्वास्थ्य विभाग की ओर से कहा गया है कि महाराष्ट्र सरकार ऐसे यात्रियों की सूची बनाएगी जो हाल में चीन से 01 जनवरी के बाद मुंबई लौटे हैं.

मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 18 जनवरी से 26 जनवरी के बीच चीन से आने वाले 3,756 यात्रियों की कोरोना वायरस संक्रमण की जांच की गई. हालांकि अब तक मुंबई में ऐसे किसी भी मामले की पुष्टि नहीं हुई है.

  • Share this:
मुंबई. हाल में चीन (China) से लौटे एक व्यक्ति को कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका के तहत पुणे के अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. इस मामले के साथ ही महाराष्ट्र (Maharashtra) में अब तक इस तरह की आशंका के चलते अस्पताल में भर्ती करवाए गए लोगों की संख्या छह हो गई है.

महाराष्ट्र राज्य रोग निगरानी अधिकारी डॉ. प्रदीप आवटे ने बताया कि व्यक्ति को सोमवार रात नायडु अस्पताल के अलग वार्ड में भर्ती करवाया गया. उसके लक्षण कोरोना वायरस (Coronaviruses) संक्रमण जैसे ही थे. उन्होंने बताया, 'कोरोना वायरस संक्रमण की आशंका के बाद महाराष्ट्र में अस्पतालों में निगरानी में रखे गए इस तरह के मामलों की संख्या छह हो गई है.'

डॉ. आवटे ने बताया कि इन छह लोगों में से चार को मुंबई (Mumbai) में और दो को पुणे में निगरानी में रखा गया है. उन्होंने बताया कि अब तक इनमें से किसी के भी रक्त के नमूने में यह वायरस नहीं मिला है. अब तक महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण का कोई पुष्ट मामला नहीं निकला है.

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने सोमवार को कहा कि महाराष्ट्र सरकार ऐसे यात्रियों की सूची बनाएगी जो हाल में चीन से खासकर वुहान क्षेत्र से 01 जनवरी के बाद से मुंबई लौटे हैं. इसके बाद उनकी सेहत की जानकारी ली जाएगी. मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 18 जनवरी से 26 जनवरी के बीच चीन से आने वाले 3,756 यात्रियों की कोरोना वायरस संक्रमण की जांच की गई. हालांकि अब तक मुंबई में ऐसे किसी भी मामले की पुष्टि नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें- रोज फल बेचकर 150 रुपये कमाने वाले शख्स ने खोला स्कूल, अब मिलेगा पद्म श्री

             ब्रिटेन : एड्स से प्रभावित थी यह बिल्‍ली, इलाज के बावजूद नहीं बच सकी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 2:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर