लाइव टीवी

कोरोना वायरस की जांच के लिए शुरू हुए 111 लैब, कल होगी मॉक ड्रिल

News18Hindi
Updated: March 21, 2020, 7:54 PM IST
कोरोना वायरस की जांच के लिए शुरू हुए 111 लैब, कल होगी मॉक ड्रिल
कोरोना वायरस की जांच के लिए शुरू हुई 111 नई लैब (प्रतीकात्मक तस्वीर)

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने कहा कि हमने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 1,000 अस्पतालों से बात की और रविवार को एक मॉक ड्रिल करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 21, 2020, 7:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस (Corona Virus) से संक्रमित मरीजों की संख्या 296 पहुंच गई है. इस बीच कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल (Lav Agarwal) ने कहा कि मोदी सरकार कोविड-19 को लेकर मिशन मोड में काम कर रही है. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की जांच के लिए देश में 111 लैब शुरू हो चुके हैं.

संयुक्त सचिव ने कहा कि हमने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 1,000  अस्पतालों से बात की और रविवार को एक मॉक ड्रिल करेंगे, जिसमें हेल्थ स्टाफ को हर तरह के केस को डील करने का तरीका बताया जाएगा. उन्होंने कहा कि देश के अलग-अलग हिस्सों में 111 लैब शुरू हो चुकी हैं. प्राइवेट लैब को लेकर भी हम निर्णायक स्थिति में पहुंच गए हैं, जल्द ही निर्देश जारी किए जाएंगे.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने साथ यह भी बताया कि केंद्र सरकार ने मास्क-सैनिटाइजर के दाम तय कर दिए हैं. संयुक्त सचिव ने कहा कि 2 प्लाई मास्क की कीमत 8 रु. प्रति मास्क और 3 प्लाई मास्क की कीमत 10 रु. प्रति मास्क से ज्यादा नहीं होगी. लव अग्रवाल ने कहा कि हमें किसी भी फेक न्यूज से घबराना नहीं चाहिए. सही जानकारी से हर किसी को अवगत कराना जरूरी है.

262 लोग रोम के लिए रवाना होंगे



अग्रवाल ने कहा कि मास्क के बारे में बहुत सी गलत सूचना है, हर किसी को इन्हें पहनने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि सामाजिक मेलजोल से दूरी बहुत जरूरी है. उन्होंने कहा कि 262 लोग, ज्यादातर छात्र, शनिवार को रोम से भारत के लिए रवाना होंगे. भारत सरकार अब तक 1700 से अधिक भारतीयों को विदेशों से लेकर आई है. उन्होंने कहा, ‘‘आज तक हमने संक्रमित लोगों के संपर्क में आये 7,000 से अधिक लोगों का पता लगाया है. अगर हमें सामुदायिक संक्रमण के मामले मिलते हैं तो हम लोगों को जानकारी देंगे.’

दिखावे के लिए न कराएं टेस्ट

स्वास्थ्य मंत्रालय  (Health Ministry)  ने कहा कि लोगों को दिखावे के लिए या खुद को आश्वस्त करने के लिए कोरोना वायरस की जांच नहीं करानी चाहिए, यह तय दिशा-निर्देशों के अनुसार किया जाना चाहिए. कोविड-19 जांच के लिए शुल्क, नमूना संग्रह पर निजी प्रयोगशालाओं के लिए दिशानिर्देश जारी किए जाएंगे.

कोरोना वायरस के 296 मामले आए सामने

बता दें कि कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 296 हो गई है. इसमें से मौजूदा मरीजों की संख्या 283 है जबकि कुछ लोग ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं. वहीं 4 लोगों की मौत कोरोना वायरस की वजह से हो चुकी है. पीएम मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर गलत जानताकी न शेयर करने की अपील की है. पीएम ने ट्वीट करते हुए कहा कि लोग कोविड-19 को लेकर सही सूचना साझा करें और पैनिक फैलाने से बचें.

ये भी पढ़ें-

COVID-19 पर स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान, दिखावे के लिए न कराएं कोरोना टेस्ट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 21, 2020, 7:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर