कोरोना वायरस: पश्चिम बंगाल में वरिष्ठ सरकारी डॉक्टर समेत 2 लोगों की मौत

कोरोना वायरस: पश्चिम बंगाल में वरिष्ठ सरकारी डॉक्टर समेत 2 लोगों की मौत
पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के 41 लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं.

डॉ. बिप्लब कांति दासगुप्ता को शुरुआत में बेलियाघाटा संक्रामक रोग अस्पताल (Beliaghata Infectious Diseases hospital) में भर्ती कराया गया था और उन्हें बाद 18 अप्रैल को ‘साल्ट लेक’ निजी अस्पताल में भेजा गया, जहां उनकी कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) से मौत हो गयी.

  • Share this:
कोलकाता. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर तैनात एक वरिष्ठ सरकारी चिकित्सक (Senior Government Hospital) और 34 वर्षीय एक व्यक्ति की कोविड-19 (Covid-19) से संक्रमित होने के बाद रविवार को यहां एक अस्पताल (Hospital) में मौत हो गई. अस्पताल सूत्रों ने यह जानकारी दी.

स्वास्थ्य सेवाओं (उपकरण और भंडार) के सहायक निदेशक के तौर पर सेवारत 60 वर्षीय चिकित्सक डॉ. बिप्लब कांति दासगुप्ता को शुरुआत में बेलियाघाटा संक्रामक रोग अस्पताल (Beliaghata Infectious Diseases hospital) में भर्ती कराया गया था और उन्हें बाद 18 अप्रैल को ‘साल्ट लेक’ निजी अस्पताल में भेजा गया, जहां उनकी कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) से मौत हो गयी.

अस्पताल में भर्ती किए जाने के बाद से ही वेंटिलेटर पर थे डॉक्टर
सूत्रों ने बताया, ‘‘कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने पर उन्हें पहले बेलियाघाटा संक्रामक रोग अस्पताल ले जाया गया था और इसके बाद उन्हें साल्ट लेक निजी अस्पताल (Salt Lake Private Hospital) ले जाया गया. चिकित्सक श्वसन संबंधी समस्या और अन्य बीमारियों से पीड़ित थे. वह अस्पताल में भर्ती किए जाने के बाद से वेंटिलेटर पर थे. उनकी शनिवार देर रात करीब सवा एक बजे को मौत हो गई.’’
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चिकित्सक (Doctor) की मौत पर ‘‘दुख’’ व्यक्त किया और उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की. उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ जंग में उनका योगदान अन्य लोगों को प्रोत्साहित करेगा.



ममता बनर्जी ने ट्वीट कर जताया शोक
बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘‘पश्चिम बंगाल में स्वास्थ्य सेवा (Health Services) के सहायक निदेशक डॉ. बिप्लब कांति दासगुप्ता आज तड़के हमारे बीच नहीं रहे. हम उनकी असमय मौत से अत्यंत दु:खी हैं.’’

उन्होंने कहा, ‘‘लोगों को बीमारी से बचाने के दौरान दिया गया उनका बलिदान हमेशा हमारे दिलों में रहेगा और कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ लड़ रहे हमारे योद्धाओं को और दृढ़ता से काम करने के लिए प्रेरित करेगा. मैं डॉ. दासगुप्ता के शोकसंतप्त परिवार एवं सहकर्मियों के प्रति संवेदना प्रकट करती हूं.’’

इसी अस्पताल में भर्ती एक अन्य संक्रमित की भी हुई मौत
शहर के ‘गार्डन रीच’ इलाके में रहने वाले एक अन्य संक्रमित व्यक्ति की इसी अस्पताल (Hospital) में रविवार सुबह करीब सात बजे मौत हो गई.

अस्पताल सूत्रों ने बताया, ‘‘34 वर्षीय व्यक्ति को 23 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उसे भी सांस लेने में समस्या थी और उसे वेंटिलेटर (Ventilator) पर रखा गया था. उसकी रविवार सुबह मौत हो गई.’’

इन दो लोगों की मौत के मामले में अधिक जानकारी के लिए वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों (Senior Government Officers) से संपर्क करने की कई कोशिशों के बावजूद उनका कोई जवाब नहीं मिल सका. हालांकि, एक अधिकारी ने अपना नाम गुप्त रखने की शर्त पर बताया कि मौत की वजह की अभी जांच की जा रही है.

बंगाल में कोरोना से अब तक 20 मौतें
पश्चिम बंगाल (West Bengal) स्वास्थ्य विभाग द्वारा शाम में जारी बुलेटिन के मुताबिक राज्य में कोविड-19 से अब तक 20 लोगों की मौत हो चुकी है.

यह भी बताया गया है कि राज्य में पिछले 20 घंटे में संक्रमण के 38 नये मामले आये हैं और 463 मरीजों का अस्पताल (Hospital) में इलाज चल रहा है. राज्य में अब तक कुल 579 लोग संक्रमित हुए हैं.

वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Health Ministry) के मुताबिक यह संख्या 612 है.

यह भी पढ़ें: विदेशों में फंसे भारतीयों की वापसी का एक्शन प्लान, खाड़ी देशों से होगी शुरुआत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज