कोरोना वायरस: देश में संक्रमित मामलों की गति हुई धीमी; 24 घंटे में आए 824 नए केस, 28 की मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय, गृह मंत्रालय और ICMR की नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस
स्वास्थ्य मंत्रालय, गृह मंत्रालय और ICMR की नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस

CoronaVirus: गृह मंत्रालय (home Ministry) ने कहा कि लोगों को जरूरी सामान मुहैया कराए जा रहे हैं. साथ ही रिलीफ कैंपों और जरूरतमंदों पर ज्‍यादा ध्‍यान दिया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2020, 6:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल (Ministry of Health Joint Secretary Lav Agrawal) ने गुरुवार शाम को नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि एक दिन में 183 लोग ठीक हुए. वहीं 24 घंटे में कोरोना वायरस (CoronaVirus) के 824 नए मामले आए हैं जबकि 28 लोगों की मौत हुई है. देश में फिलहाल 12,759 लोग संक्रमित हैं.. देश में अब तक कोरोना से 414 लोगों की मौत हुई है. कोरोना पर अपडेट देने के लिए स्वास्थ्य, गृह मंत्रालय और ICMR की रोजाना एक प्रेस कॉन्फ्रेंस होती है.

अभी तक 1489 लोग ठीक हो चुके : स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय
लव अग्रवाल ने बताया कि सभी राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों में हेल्थ सर्विस को लेकर गाइडलाइंस जारी कर दी गई हैं. जिससे लोगों को कोई दिक्‍कत ना हो. देश में अब तक कोरोना वायरस से 1489 लोग ठीक हो चुके हैं. 325 जिले ऐसे हैं जहां कोई भी केस नहीं है.

लव अग्रवाल ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री और राज्य मंत्री (स्वास्थ्य) ने बुधवार को एक वीडियो सम्मेलन आयोजित किया, जिसमें स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के क्षेत्रीय  अधिकारी शामिल थे. इस सम्मेलन में जिला स्तर पर कोविड-19 के प्रकोप के लिए बनाई जा रही योजना पर चर्चा की गई.
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि उद्योगों को चिकित्सा सामग्री की आपूर्ति के लिए 'मेक इन इंडिया' पर ध्यान केंद्रित करने को कहा गया है.





हमारे पास पर्याप्‍त किट मौजूद: ICMR
ICMR के वैज्ञानिक रमन गंगाखेडकर ने बताया कि हर क्षेत्र में एंटीबॉडी टेस्ट के इस्तेमाल का फायदा नहीं. हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों में ही इसके इस्तेमाल से फायदा होगा. देश में अब तक कोरोना वायरस के 2 लाख 90 हजार से ज्यादा टेस्ट हो चुके हैं. इसमें से 30,043 टेस्ट बुधवार को किए गए. इसमें से 26,331 टेस्ट ICMR लैब और 3,712 टेस्ट प्राइवेट लैब में हुए. हमारे पास 8 हफ्ते तक टेस्ट के लिए पर्याप्‍त किट मौजूद है.

उन्होंंने कहा कि रैपिड एंटी-बॉडी टेस्ट का उपयोग जल्‍दी डायग्नोसिस के लिए नहीं किया जाता, बल्कि इसका उपयोग निगरानी के उद्देश्‍य के लिए किया जाता है.

सार्वजनिक स्‍थानों पर मास्‍क पहनने संबंधी नियम का सख्‍ती से पालन हो: MHA
गृह मंत्रालय के अधिकारी ने सरकार की गाइडलाइन का हवाला देते हुए कहा कि सार्वजनिक स्थानों और कार्यस्थलों पर मास्क पहनना और सामाजिक मेलजोल से दूर रहना अनिवार्य करने जैसे कुछ नियमों को सख्ती से लागू किया जाना चाहिए. पांच या इससे अधिक लोग एक स्थान पर एकत्र नहीं होने चाहिए, सार्वजनिक स्थानों और कार्यस्थलों पर थूका नहीं जाए.

मंत्रालय ने कहा कि बुजुर्गों, अस्वस्थ और छोटे बच्चों वाले लोगों को घर से काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए. कोविड-19 लॉकडाउन को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए शराब, गुटखा, तंबाकू की बिक्री पर सख्त पाबंदी लगाई जानी चाहिए. कार्यस्थलों पर शरीर के तापमान की जांच और सैनेटाइजर का इस्तेमाल अनिवार्य होना चाहिए.

लॉकडाउन का पालन न होने पर कार्रवाई हो रही : MHA
गृह मंत्रालय ने कहा कि राज्‍य सरकारें लॉकडाउन को लेकर सख्‍त हो गई हैं. जहां इसका पालन नहीं हो रहा है वहां आवश्‍यक कार्रवाई की जा रही है. राज्‍यों को इसके लिए चिट्ठी लिखी गई है. ट्रेन, सड़क और हवाई यातायात बंद रहेगा. सभी तरह के धार्मिक आयोजनों पर रोक जारी रहेगी. लोगों को जरूरी सामान मुहैया कराए जा रहे हैं. साथ ही रिलीफ कैंपों और जरूरतमंदों पर ज्‍यादा ध्‍यान दिया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:-

 गृह मंत्रालय की एडवाइजरी- Zoom ऐप सुरक्षित नहीं, सावधानी से करें इस्तेमाल

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन को लेकर सेना ने जारी किए अहम निर्देश, 3 मई तक होगा सख्‍त पालन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज