• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • बेकाबू हो रहा कोरोना, कर्नाटक के कॉलेज में केरल के 65 छात्र मिले संक्रमित

बेकाबू हो रहा कोरोना, कर्नाटक के कॉलेज में केरल के 65 छात्र मिले संक्रमित

केरल में कोविड-19 संक्रमण के बुधवार को 32,803 नए मामले सामने आए (File pic)

केरल में कोविड-19 संक्रमण के बुधवार को 32,803 नए मामले सामने आए (File pic)

Coronavirus in Kerala: कोविड-19 संक्रमण के बुधवार को 32,803 नए मामले सामने आए जबकि संक्रमण से 173 और लोगों की मौत हुई. नए मामलों के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 40,90,036 हो गई जबकि मृतकों की संख्या 20,961 पर पहुंच गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    बेंगलुरु. केरल में कोरोना वायरस के मामलों (Kerala Coronavirus Cases) में लगातार तेजी देखी जा रही है. पड़ोसी राज्यों में भी इसका असर देखने को मिल रहा है. कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर ने कहा कि कोलार के एक कॉलेज में केरल के 65 से ज्यादा छात्र कोविड-19 (Covid-19) से संक्रमित पाए गए हैं. सुधाकर ने बताया कि इस संबंध में एक्शन लिया जा रहा है. सुधाकर ने कर्नाटक में टीकाकरण की जानकारी देते हुए कहा कि कल, हमने एक दिन में 12 लाख से ज्यादा खुराकें दी थीं. हमने प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि केरल से लगने वाली सीमा के 20 किलोमीटर के इलाकों के गांवों में 100 फीसदी टीकाकरण किया जाए.

    इससे पहले केरल में कोविड-19 संक्रमण के बुधवार को 32,803 नए मामले सामने आए जबकि संक्रमण से 173 और लोगों की मौत हुई. नए मामलों के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 40,90,036 हो गई जबकि मृतकों की संख्या 20,961 पर पहुंच गई. राज्य सरकार की एक विज्ञप्ति के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 1,74,854 नमूनों के परीक्षण के बाद परीक्षण सकारात्मकता दर (टीपीआर) 18.76 प्रतिशत पायी गई. इसके साथ ही अब तक 3,17,27,535 नमूनों की जांच की जा चुकी है.

    ये भी पढ़ें- अब तमिलनाडु सरकार ने भी खोला मोर्चा, स्टालिन बोले- हम PM को लिखेंगे चिट्ठी

    इसमें बताया गया कि मंगलवार से अब तक 21,610 लोग संक्रमण से उबर चुके हैं और कुल स्वस्थ होने वालों की संख्या 38,38,614 हो गई है जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या 2,29,912 हो गई है.

    केरल में लॉकडाउन लगाने की जरूरत
    बता दें केरल में कोविड-19 जांच सकारात्मकता दर (टीपीआर) अधिक है और कुछ जिलों में तो यह 20 प्रतिशत से भी ज्यादा है जो वायरस के प्रसार का प्रमाण है. इस स्थिति के मद्देनजर बुधवार को सरकारी सूत्रों ने मामलों में कमी लाने के लिए सख्त रोकथाम उपायों और रणनीतिक लॉकडाउन की आवश्यकता को रेखांकित किया.

    एक सरकारी सूत्र ने कहा कि वायरस के प्रसार की तीव्रता को कम करने के लिए लॉकडाउन और रणनीतिक रोकथाम उपायों को लागू करने में हिचक है, जबकि तटीय राज्य में आने वाले नए मामलों की संख्या देश की कुल संख्या की तीन-चौथाई से अधिक है.

    ये भी पढ़ें- कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी, दिल्ली सरकार खरीदेगी क्रायोजेनिक टैंकर

    सूत्रों ने कहा कि 85 प्रतिशत से अधिक कोरोना वायरस मरीजों के घरों में पृथकवास में होने के कारण, सख्त रोकथाम उपायों को लागू करने की आवश्यकता है. कई क्षेत्रों में, गृह पृथकवास दिशानिर्देशों का ठीक से पालन नहीं किया जा रहा है जिससे संक्रमण फैल रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज